ओलंपिक चैंपियन के दबाव को खुद पर हावी नहीं होने देते नीरज चोपड़ा

नीरज चोपड़ा इस महीने के अंत में यूएसए में अपनी पहली विश्व चैंपियनशिप में पदक की तलाश में नजर आएंगे।

लेखक सतीश त्रिपाठी
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

टोक्यो ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा ने पिछले महीने एक्शन में लौटने के बाद एक और नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड अपने नाम किया है।

नीरज चोपड़ा ने गुरुवार को स्टॉकहोम डायमंड लीग 2022 में 89.94 मीटर का जैवलिन थ्रो करते हुए अपना व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड हासिल किया। दरअसल, 16 दिन पहले फिनलैंड में पावो नुरमी खेलों में उन्होंने राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया था।

हालांकि, नीरज चोपड़ा के पहले प्रयास में बनाया गया राष्ट्रीय रिकॉर्ड, उन्हें स्टॉकहोम में शीर्ष स्थान दिलाने के लिए पर्याप्त नहीं था। ग्रेनेडा के विश्व चैंपियन एंडरसन पीटर्स ने अपने तीसरे प्रयास में 90.31 मीटर के थ्रो के साथ एक नया मीट रिकॉर्ड बनाते हुए पहला स्थान हासिल किया।

इवेंट के बाद नीरज चोपड़ा ने कहा, "जब पीटर्स ने 90 मीटर का आंकड़ा पार किया, तो मुझे लगा कि मुझे इसका पीछा करना होगा। लेकिन प्रत्येक थ्रो के बाद ऊर्जा खत्म होने लगती है। मैं इस बात से खुश था कि मैंने अपने सभी प्रयासों में अच्छे थ्रो रिकॉर्ड किए।”

2018 के बाद डायमंड लीग में नीरज चोपड़ा की यह पहली उपस्थिति थी और अब उनका अगला पड़ाव 15 से 24 जुलाई तक अमेरिका के ओरेगन में होने वाली विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप होगा।

2003 में पेरिस में अंजू बॉबी जॉर्ज ने महिलाओं की लंबी कूद में कांस्य पदक हासिल किया था, जो विश्व चैंपियनशिप में भारत का एकमात्र पदक है।

नीरज चोपड़ा ने आगे कहा, "मुझे पता है कि विश्व चैंपियनशिप में भारत के पास केवल एक पदक है, फिर भी मुझे कोई दबाव महसूस नहीं हो रहा है।"

उन्होंने कहा, "मैं बिल्कुल फ्री माइंड के साथ प्रतिस्पर्धा कर रहा हूं। अच्छी तरह से ट्रेनिंग ले रहा हूं और प्रतियोगिताओं में अपना 100 प्रतिशत दे रहा हूं, बस। बहुत कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि जब मैं ओरेगन में विश्व चैंपियनशिप के लिए जाता हूं तो मुझे कैसा लगता है।"

टोक्यो ओलंपिक में नीरज चोपड़ा के स्वर्ण पदक ने बहुत से युवा भारतीय एथलीटों को खेलों में भाग लेने के लिए प्रेरित किया है। बता दें कि नीरज चोपड़ा पिछले साल गूगल पर भारत में सबसे ज्यादा सर्च किए जाने वाले स्पोर्ट्स पर्सनैलिटी भी थे।

नीरज ने अपनी लोकप्रियता और ओलंपिक चैंपियन होने के सवाल पर बात करते हुए कहा कि वह कोई दबाव महसूस नहीं करते हैं और वास्तव में इस बात से खुश हैं कि भारत में एथलेटिक्स कैसे आगे बढ़ रहा है।

टोक्यो 2020 में स्वर्ण पदक जीतने वाले भारतीय एथलीट ने कहा, “बहुत सारे भारतीय एथलेटिक्स ऑनलाइन स्ट्रीमिंग और स्टॉकहोम में इवेंट देखने आए हैं। स्टॉकहोम में भारतीय राजदूत भी मुझसे मिलने आए थे, इसलिए मुझे बहुत खुशी हुई।"

दबाव के बारे में बात करते हुए नीरज ने कहा, “मैंने सोचा कि क्या टोक्यो 2020 के बाद मुझ पर ओलंपिक चैंपियन होने का दबाव होगा लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। मैं वहां मैदान पर जाता हूं और खुले दिमाग से खेलता हूं।"

विश्व चैंपियनशिप में भाग लेने के बाद, नीरज चोपड़ा 28 जुलाई से 8 अगस्त तक ब्रिटेन के बर्मिंघम में होने वाले राष्ट्रमंडल खेल 2022 में अपने खिताब को डिफेंड करते हुए नजर आएंगे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स