नीरज चोपड़ा ने पावो नुरमी खेलों में वापसी करते हुए बनाया नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड

नीरज चोपड़ा ने पिछले साल टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने के बाद अपनी पहली भाला फेंक प्रतियोगिता में 89.30 मीटर के नए व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ के साथ रजत पदक जीता।

लेखक रितेश जायसवाल
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

टोक्यो ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा ने मंगलवार को फिनलैंड के तुर्कू में आयोजित हुए पावो नुरमी गेम्स 2022 में पुरुषों के भाला फेंक में रजत पदक जीतने के साथ अपने ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड को तोड़ दिया। उन्होंने टोक्यो ओलंपिक के बाद वापसी करते हुए प्रभावशाली प्रदर्शन किया।

इस प्रतियोगिता में नीरज चोपड़ा ने 89.30 मीटर का सर्वश्रेष्ठ थ्रो दर्ज किया, जो उनका नया व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ और राष्ट्रीय रिकॉर्ड है। वह फिनलैंड के ओलिवर हेलंडर से पीछे रहे, जिन्होंने 89.83 मीटर के व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ स्वर्ण पदक जीता।

मौजूदा विश्व चैंपियन और 2022 सीजन के शीर्ष भाला फेंक एथलीट ग्रेनेडा के एंडरसन पीटर्स ने 86.60 मीटर के थ्रो के साथ कांस्य पदक जीता।

पिछले साल अगस्त में टोक्यो 2020 में ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीतने के बाद से फिनलैंड में नीरज चोपड़ा की यह पहली प्रतियोगिता थी।

24 वर्षीय भारतीय ने 86.92 मीटर के शुरुआती थ्रो के साथ अपने प्रभावशाली प्रदर्शन के इरादों को पुख्ता कर दिया। इसके बाद उन्होंने अपने दूसरे प्रयास में 89.30 मीटर थ्रो का रिकॉर्ड बनाया। इसी के साथ उन्होंने पिछले साल मार्च में इंडियन ग्रां प्री 3 में बनाए गए 88.07 मीटर के अपने पिछले व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ और राष्ट्रीय रिकॉर्ड को बेहतर किया।

हालांकि, भारतीय दिग्गज भाला फेंक खिलाड़ी अपने अंतिम प्रयास में 85.85 मीटर का थ्रो दर्ज करने से पहले अपने अगले तीन थ्रो में एक भी वैध प्रयास करने में विफल रहे। इसके बावजूद उनका दूसरा थ्रो रजत पदक के लिए काफी रहा।

लंदन 2012 के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता त्रिनिदाद और टोबैगो के केशोर्न वालकॉट 84.02 मीटर थ्रो के साथ 10 एथलीटों की प्रतियोगिता में चौथे स्थान पर रहे। जबकि टोक्यो 2020 के रजत पदक विजेता चेक गणराज्य के जैकब वाडलेज 83.91 मीटर के साथ छठे स्थान पर रहे।

टूर्कू के बाद, नीरज चोपड़ा डायमंड लीग के स्टॉकहोम दौरे के लिए स्वीडन जाने से पहले कुओर्टेन खेलों में प्रतिस्पर्धा करने के लिए फिनलैंड में रहेंगे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स