टोक्यो पैरालंपिक: भावीना पटेल ने वूमेंस सिंगल्स टीटी के राउंड ऑफ 16 में बनाई जगह

भावीना पटेल ने अपना दूसरा ग्रुप मैच जीतकर नॉकआउट राउंड के लिए क्वालीफाई किया, जबकि सोनल पटेल टोक्यो पैरालंपिक से बाहर हो गईं।

लेखक लक्ष्य शर्मा
फोटो क्रेडिट Paralympics Committee of India

भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी भावीना पटेल (Bhavina Patel) ने गुरुवार को टोक्यो 2020 पैरालंपिक में वूमेंस सिंगल्स के राउंड ऑफ 16 के लिए क्वालिफाई कर लिया।

प्रत्येक कैटेगरी में टेबल टेनिस खिलाड़ियों को राउंड-रॉबिन प्रारूप में एक-दूसरे से खेलने वाले तीन के ग्रुप में बांटा गया है। प्रत्येक ग्रुप से टॉप दो खिलाड़ी एलिमिनेशन राउंड के लिए क्वालीफाई करेंगे।

सुबह के सेशन में भावीना पटेल (Bhavina Patel) ने वूमेंस सिंगल्स क्लास 4 के ग्रुप ए में ग्रेट ब्रिटेन की मेगन शेकलटन (Megan Shackleton) को 3-1 (11-7, 9-11, 17-15, 13-11) से हराया। भावीना बेन पटेल बुधवार को दुनिया की नंबर एक चीन की झोउ यिंग (Zhou Ying) से हार गई थीं।

झोउ यिंग ने ग्रुप ए में टॉप पर रहने के लिए अपने दोनों मैच जीते। मेगन शैकलटन पर भावीना की जीत ने उन्हें ग्रुप में दूसरे स्थान पर पहुंचा दिया, जिससे उन्होंने नॉकआउट में अपनी जगह पक्की की।

क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए भावीना पटेल का सामना शुक्रवार को ब्राजील की जॉयस डी ओलिवेरा (Joyce de Oliveira) से होगा।

वहीं दूसरी तरफ सोनल पटेल (Sonal Patel) वूमेंस सिंगल्स क्लास 3 के ग्रुप डी में दक्षिण कोरिया की ली मि ग्यु (Lee Mi Gyu) से 1-3 (12-10, 5-11, 3-11, 9-11) से हारने के बाद टोक्यो 2020 पैरालंपिक से बाहर हो गईं।

सोनल पटेल इससे पहले रियो पैरालंपिक की रजत पदक विजेता चीन की ली क्वान (Li Quan) से हार गई थीं और लगातार दूसरी हार के कारण वह ग्रुप डी में सबसे नीचे रहीं।

व्हीलचेयर श्रेणी में क्लास 3 से 5 में एथलीट व्हीलचेयर में प्रतिस्पर्धा करते हैं,क्लास 3 की श्रेणी के एथलीटों के पास कोई ट्रंक कंट्रोल नहीं होता है, फिर भी उनकी बाहें कम से कम नुकसान से प्रभावित होती हैं। जबकि क्लास 4 में एथलीटों के पास बैठने का पूरा संतुलन और पूरी तरह उनका बाहों के साथ हाथों पर नियंत्रण होता है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स