कॉमनवेल्थ गेम्स 2022, कुश्ती: पूजा गहलोत ने वूमेंस 50 किग्रा फ्रीस्टाइल में जीता कांस्य पदक

पूजा गहलोत ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 में महिलाओं के 50 किग्रा फ्रीस्टाइल रेसलिंग में क्रिस्टेल लेमोफैक लेचिदजियो को हराकर ब्रॉन्ज मेडल जीता।

लेखक सतीश त्रिपाठी
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

ब्रिटेन के बर्मिंघम में जारी कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के 9वें दिन शनिवार को भी भारतीय पहलवानों ने मैट पर अपना दबदबा कायम रखा। इसकी शुरुआत पूजा गहलोत ने कांस्य पदक के साथ की। पूजा ने क्रिस्टेल लेमोफैक लेचिदजियो को कांस्य पदक मुकाबले में हराया।

कांस्य पदक मुकाबले में भारतीय पहलवान की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उन्होंने प्रतिद्वंदी पहलवान के खिलाफ दो अंक गंवा दिए। हालांकि, इसके बाद पूजा ने शानदार वापसी की और 10 अंक हासिल कर बाउट में मजबूत पकड़ बना ली। 

मुकाबले के दूसरे राउंड में पूजा ने अपनी बढ़त को दो अंक से बढ़ाया और कांस्य पदक पर अपनी पकड़ को मजबूत किया। इसके बाद स्कॉटलैंड की पहलवान को वापसी का कोई मौका नहीं मिला और भारतीय पहलवान ने कांस्य पदक पर अपना कब्जा जमा लिया। शनिवार को कुश्ती में यह भारत का पहला पदक था।

इससे पहले कोवेंट्री एरिना रेसलिंग के मैट बी पर खेले गए मुकाबले में भारत की पूजा गहलोत ने महिला फ्रीस्टाइल नॉर्डिक 50 किग्रा भार वर्ग के ग्रुप ए में स्कॉटलैंड की क्रिस्टेल लेमोफैक लेचिदजियो को 12-2 से हराकर अगले राउंड में जगह बनाई थी। 

दिन के अपने अगले बाउट में पूजा ने कैमरून की पहलवान रेबेका डोलो मुआंबो को VFO यानी विक्ट्री बाई फोरफिट से हराया। दरअसल, रेबेका मैट पर मुकाबला करने के लिए आईं ही नहीं और इसी आधार पर भारतीय पहलवान को विजेता घोषित कर दिया गया।

वहीं, महिला फ्रीस्टाइल 50 किग्रा के सेमीफाइनल में भारतीय पहलवान पूजा गहलोत को कनाडा के मैडिसन पार्क के खिलाफ 6-9 से हार का सामना करना पड़ा। 

इसके साथ ही वह स्वर्ण पदक की रेस से बाहर हो गईं थी। हालांकि, उन्होंने अपने अंतिम मुकाबले में जीत दर्ज करते हुए भारत को कांस्य पदक दिलाया। इसी के साथ भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में 31 मेडल जीत लिए हैं। 

कांस्य पदक मुकाबले में पूजा गहलोत का सामना एक बार फिर से स्कॉटलैंड की क्रिस्टेल लेमोफैक लेचिदजियो से हुआ, जिसे वह दिन के अपने पहले बाउट में हरा चुकीं थीं।

इससे पहले शुक्रवार को कुश्ती स्पर्धा में बजरंग पुनिया (स्वर्ण), साक्षी मलिक (स्वर्ण), अंशु मलिक (रजत), दीपक पूनिया (स्वर्ण) ने मैट पर अपने शानदार दांव-पेच लगाते हुए भारत के लिए पदक हासिल किया था।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स