कॉमनवेल्थ गेम्स 2022: अंशु मलिक ने कुश्ती में भारत को दिलाया रजत पदक

महिलाओं की 57 किग्रा फ्रीस्टाइल में अंशु मलिक ने रजत पदक जीता। भारतीय पहलवान को फाइनल में नाइजीरिया की मौजूदा चैंपियन ओडुनायो अदेकुओरोये से का सामना करना पड़ा।

लेखक रितेश जायसवाल
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

ब्रिटेन के बर्मिंघम में जारी कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के आठवें दिन शुक्रवार को भारतीय पहलवानों ने शानदार प्रदर्शन किया। कोवेंट्री एरिना रेसलिंग के मैट बी पर हुए महिलाओं के 57 किग्रा भार वर्ग के फ्रीस्टाइल स्पर्धा में अंशु मलिक ने भारत को कुश्ती में पहला पदक दिलाया। उन्हें फाइनल मुकाबले में नाइजीरिया की ओडुनायो अदेकुओरोये के खिलाफ हारकर रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा।

20 वर्षीय अंशु मलिक तीन बार की विश्व चैंपियनशिप पदक विजेता और दो बार की राष्ट्रमंडल खेलों की चैंपियन नाइजीरिया की ओडुनायो अदेकुओरोए के खिलाफ स्वर्ण पदक मैच में 7-4 से हार गईं।

अंशु मलिक को काफी संघर्ष करना पड़ा। वह बाउट की शुरुआत में बहुत डिफेंसिव रहीं और आखिरी मिनट में अपनी रणनीति को पूरी तरह से बदलते हुए शानदार वापसी की। इससे ओडुनायो फोलासाडे अदेकुओरोये को वापसी करते हुए दांव-पेच लगाने का कोई मौका नहीं मिला।

हालांकि, यह एक कांटे की टक्कर का मुकाबला रहा। अंशु को 7-4 से हारकर सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। वह इस हार के बाद काफी निराश नजर आईं। नाईजीरियाई पहलवान के लिए कॉमनवेल्थ गेम्स में यह लगातार तीसरा स्वर्ण पदक रहा।

दिन में इससे पहले हुए सेमीफाइनल मुकाबले में अंशु मलिक ने श्रीलंका की नेथमी पोरुथोटागे को 10-0 से करारी शिकस्त दी थी।

वहीं क्वार्टर-फाइनल मुकाबले में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की इरिन सिमियोंडिस को महज 1 मिनट तक चले बाउट में टेक्निकल सुपीरयॉरिटी से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। इस मुकाबले में अंशु ने 10 अंक हासिल किए थे जबकि इरिन खाता भी नहीं खोल पाईं।

अंशु को 57 किग्रा भार वर्ग के पहले राउंड में बाई मिला था।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स