अतीत के बारे में: Klaus Jungbluth - वह व्यक्ति जिसने ओलंपिक शीतकालीन खेलों में इक्वाडोर का नाम किया रोशन

इक्वाडोर में कोई शीतकालीन खेल संघ नहीं था, न ही देश में बर्फ थी, लेकिन फिर भी मोटरवे और रास्ते पर रोलर स्की पर ट्रेनिंग करके, क्रॉस-कंट्री स्कीयर Klaus Jungbluth प्योंगचांग 2018 में ओलंपिक शीतकालीन खेलों में प्रतिस्पर्धा करने वाले पहले इक्वाडोर के एथलीट बने।

लेखक Andrés Aragón
फोटो क्रेडिट 2018 Getty Images

न केवल शीतकालीन खेलों में, Klaus Jungbluth ने एक अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में इक्वाडोर का प्रतिनिधित्व करने के बारे में भी कल्पना की थी।

लेकिन आप जानते हैं कि उनके अलावा किसी अन्य एथलीट ने कभी शीतकालीन खेलों में इक्वाडोर का प्रतिनिधित्व क्यों नहीं किया? ऐसा इसलिए नहीं है क्योंकि देश में कभी शीतकालीन खेल महासंघ नहीं था, बल्कि देश में बर्फ की कमी के कारण था।

इसके बावजूद, वह उन बाधाओं को दूर करने के लिए पर्याप्त रूप से प्रेरित थे। न केवल वह खुद, बल्कि उनकी पत्नी ने भी उन्हें हर सुबह उठने और रोलर स्कीयर के साथ मोटरवे पर ट्रेन करने के लिए प्रेरित किया।

Jungbluth के मामले में उनका पहला प्यार स्कीइंग नहीं बल्कि वेटलिफ्टिंग था। शुरू में, वह एक वेटलिफ्टर के रूप में ट्रेनिंग करते थे लेकिन बादमे एक घुटने की गंभीर चोट के कारण उन्हें अपना पेशा नहीं बदलना पड़ा और तभी उन्हें स्कीइंग में अपना प्यार और रुचि मिली।

मोटरवे पर रोलर स्कीइंग

Klaus Jungbluth यूरोप में पांच साल तक रहे। उन्होंने चेक गणराज्य में फिजियोथेरेपी का अध्ययन किया और नॉर्वे में फिजियोलॉजी और स्पोर्ट्स साइंस में मास्टर्स डिग्री भी हासिल की। हालांकि यह वहाँ था जब उन्हें अपने घुटने की चोट का पता चला था, लेकिन इसके बारे में चिंता करने के बजाय, उन्होंने खुद को प्रशिक्षित करने का एक नया तरीका खोजा।

उन्होंने ओलंपिक डॉट कॉम को बताया, "जब मैं यूरोप में पढ़ रहा था तब मैंने इस खेल के बारे में जाना, लेकिन मैंने इसका अभ्यास नहीं किया। हालांकि जब मैं इक्वाडोर लौटा तो मुझे यह विचार पसंद आया और तब मैं अपने साथ कुछ रोलर स्की भी लाया था। और तब मैंने इसकी ट्रेनिंग करनी शुरू की।

स्कीइंग ने उन्हें अपने जोड़ों को अधिक नुकसान पहुंचाए बिना प्रैक्टिस करने की अनुमति दी, लेकिन स्थितियां अनिश्चित थीं। इक्वाडोर में, बर्फ समुद्र तल से केवल 4,500 मीटर ऊपर पाई जा सकती है, इसलिए उनके प्रशिक्षण के विकल्प मोटरवे या ग्वायाकिल के सबसे चौड़े रास्ते थे। कई स्कीयर गर्मियों में रोलर स्की का उपयोग करते हैं, लेकिन उनके मामले में कोई विकल्प नहीं था।

"पहली बार जब मैंने बर्फ पर स्की की तो यह मेरे लिए थोड़ा भारी बदलाव था क्योंकि उस क्षण तक मैंने केवल रोलर स्की पर ही अभ्यास किया था। और बर्फ पर स्कीइंग के बारे में जानने के लिए कई चीजें हैं जिनका अभ्यास रोलर स्की पर नहीं किया जा सकता है।” उन्होंने ओलंपिक डॉट कॉम को बताया। एल यूनिवर्सो के साथ एक अन्य साक्षात्कार में, उन्होंने बताया कि कैसे चुनौतीपूर्ण प्रशिक्षण दिनचर्या में समय और धैर्य लगता है। "मुझे दो साल लग गए कुछ सहज महसूस करने और प्रतिस्पर्धा के बारे में सोचने में।" 

इसकी आदत डालने के लिए, Klaus साल में कम से कम एक बार अपनी पत्नी के देश इटली की यात्रा करते थे, जहां वह पूर्व ओलंपिक क्रॉस-कंट्री स्कीयर Laura Bettega के संपर्क में आए। 

और यहाँ कुदरत का करिश्मा देखें, वह उन तीन लोगों में से एक थीं जो प्योंगचांग 2018 के उद्घाटन समारोह में उनके बगल में चली।

शीतकालीन खेलों में इक्वाडोर को गौरवान्वित करना

Klaus Jungbluth का पहला ओलंपिक अनुभव रियो 2016 में था, हालांकि यह एक खिलाड़ी के रूप में नहीं था। उस समय वह इक्वाडोर ओलंपिक समिति (सीओई) के लिए एक फिजियोथेरेपिस्ट के रूप में काम कर रहे थे और इस तरह वह ब्राजील में अपने देश के प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थे।

यह उस समय के दौरान था जब उन्होंने अपनी ओलंपिक यात्रा को किकस्टार्ट किया था। इससे पहले, Jungbluth इक्वाडोर का प्रतिनिधित्व करने में असमर्थ थे क्योंकि देश में कोई स्कीइंग या शीतकालीन खेल संघ नहीं था। हालांकि, उस वर्ष, साथी क्रॉस-कंट्री स्कीयर José Gabriel Chang के साथ, उन्होंने फेडरेशन बनाने के लिए अपने देश की ओलंपिक समिति को आश्वस्त किया।

इस बीच, उनकी पहली आधिकारिक प्रतियोगिता अक्टूबर 2016 में थी, और फरवरी 2017 में, ओलंपिक शीतकालीन खेलों प्योंगचांग 2018 से एक साल से भी कम समय में, उन्होंने अपनी पहली विश्व चैंपियनशिप में भाग लिया। हालाँकि उसके सामने एक बड़ी चुनौती थी: ओलंपिक शीतकालीन खेलों के लिए क्वालीफाई करने के लिए पर्याप्त अंक अर्जित करना, जबकि वह अभी भी स्कीइंग का खेल "सीख" रहे थे और अपने परिवार के साथ विदेश जाने के बारे में सोच रहे थे।

Jungbluth 2017 की गर्मियों से ऑस्ट्रेलिया में रह रहे हैं, जहां वह सनशाइन कोस्ट विश्वविद्यालय में एक्सरसाइज फिजियोलॉजी में पीएचडी की दिशा में काम कर रहे हैं। जब बर्फ की बात आती है, तो ऑस्ट्रेलिया और इक्वाडोर दोनो के हालात बहुत समान होते हैं, इसलिए वह रोलर स्की पर भरोसा करना जारी रखते हैं।

हालांकि, ऑस्ट्रेलिया, चिली और अर्जेंटीना में परिणाम हासिल करने के बाद, अक्टूबर 2017 में उन्होंने अपने ओलंपिक बर्थ की पुष्टि की।

Klaus Jungbluth, en la Ceremonia de Apertura de los Juegos Olímpicos de Invierno PyeongChang
फोटो क्रेडिट 2018 Getty Images

एक और तरह की सफलता

सबसे बड़ी प्रतियोगिताओं के लिए खुद को तैयार करने के लिए, Jungbluth बर्फ के अनुकूल होने के लिए अग्रिम रूप से प्रतियोगिता स्थलों की यात्रा करते हैं। प्योंगचांग 2018 से पहले, उन्होंने इटली की यात्रा की, जहां उन्होंने अपनी कोच Laura Bettega से मुलाकात की और इतिहास बनाने के लिए कोरिया गणराज्य की यात्रा करने से पहले वहां कुछ सप्ताह का प्रशिक्षण बिताया।

प्योंगचांग ओलंपिक स्टेडियम में, Klaus Jungbluth ओलंपिक शीतकालीन खेलों के उद्घाटन समारोह में इक्वाडोर का झंडा लहराने वाले पहले एथलीट बने। ओलंपिक डॉट कॉम से बात करते हुए उन्होंने बताया, "इसका वर्णन करना कठिन है। यह मेरे लिए और इक्वाडोर के सभी लोगों के लिए बहुत गर्व की बात थी।"

हालांकि Jungbluth क्रॉस-कंट्री 15 किमी फ्रीस्टाइल स्पर्धा में स्वर्ण पदक विजेता Dario Cologna से 20 मिनट पीछे 108वें स्थान पर रहे, लेकिन फिर भी यह उनके लिए एक खास तरह की जीत थी।

उन्होंने एबीसी को बताया, "मैंने एक उदाहरण स्थापित करने की कोशिश की, कि यदि आप एक लक्ष्य प्राप्त करना चाहते हैं, भले ही वह कठिन हो या बहुत दूर हो, आपको बस प्रयास करते रहना होगा। यह एक उदाहरण है जिसे मैं न केवल अपने परिवार और अपने बच्चों के लिए सेट करना चाहता हूं, लेकिन इक्वाडोर में एक खेल का पीछा करने वाले सभी लोगों के लिए भी।"

अब Jungbluth एक बार फिर बीजिंग 2022 में अपने दूसरे ओलंपिक खेलों में भाग लेने का लक्ष्य रख रहे हैं। और हालांकि वह 2021 विश्व चैंपियनशिप में इक्वाडोर के लिए कोटा हासिल करने में असमर्थ थे, वह अब उस टिकट को आगामी सीजन अर्जित करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स
यहां साइन अप करें यहां साइन अप करें