खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स: प्रिया मोहन ने दुती चंद को हराकर जीता 200 मीटर का गोल्ड

ओलंपियन और दो बार की एशियाई खेलों की रजत पदक विजेता दुती चंद 19 वर्षीय प्रिया मोहन से 0.12 सेकेंड से पीछे रह गईं।

लेखक रितेश जायसवाल
फोटो क्रेडिट KIUG 2021

युवा एथलीट प्रिया मोहन ने सोमवार सुबह बेंगलुरु में खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021 में वूमेंस 200 मीटर स्प्रिंट में ओलंपियन दुती चंद को पछाड़ दिया।

प्रिया मोहन केआईयूजी 2021 में मेजबान जैन यूनिवर्सिटी का प्रतिनिधित्व करते हुए 8वें दिन के खास इवेंट में 23.90 सेकेंड निकालकर स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहीं। जबकि कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी की दुती चंद ने 24.02 सेकेंड के समय के साथ रजत पदक जीता।

रांची यूनिवर्सिटी की फ्लोरेंस बारला ने 24.13 सेकेंड के साथ कांस्य पदक पर कब्जा किया।

दुती चंद ने रेस में गत चैंपियन के तौर पर हिस्सा लिया, क्योंकि उन्होंने KIUG 2020 में वूमेंस 200 मीटर रेस में 23.66 सेकेंड का समय निकालकर विजेता बनी थीं।

सोमवार को भी दुती चंद ने 200 मीटर में सीजन का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। फरवरी में भुवनेश्वर में हुए नेशनल इंटर-यूनिवर्सिटी वूमेंस एथलेटिक्स चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में उन्होंने सर्वश्रेष्ठ समय 24.52 सेकेंड का समय निकाला था।

दिलचस्प बात यह है कि प्रिया मोहन भी उस दौड़ का हिस्सा थीं और उन्होंने भारतीय दिग्गज को 0.06 सेकेंड से हरा दिया था। कर्नाटक की 19 वर्षीय धावक ने प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता, क्योंकि दुती चंद को चोट के कारण फाइनल से बाहर होना पड़ा था।

प्रिया ने पिछले महीने फेडरेशन कप में अपना 200 मीटर व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ समय 23.85 सेकेंड निकाला था। 200 मीटर में दुती का व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ समय 23.00 सेकेंड रहा है, जो उन्होंने एशियन गेम्स 2018 की हीट के दौरान रजत पदक हासिल करने के दौरान निकाला था।

वूमेंस 200 मीटर में भारतीय राष्ट्रीय रिकॉर्ड 22.82 सेकेंड है, जिसे 2002 में सरस्वती साहा ने बनाया था।

हालांकि प्रिया मोहन और दुती चंद दोनों ही एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों के लिए महिलाओं की 200 मीटर में एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के क्वालीफाइंग मानकों पर खरी नहीं उतरी हैं।

एशियन गेम्स 2022 का क्वालीफाइंग मार्क 23.17 सेकेंड है, जो सितंबर में चीन के हांगझोऊ में आयोजित होगा। जुलाई-अगस्त में बर्मिंघम CWG 2022 के लिए यह मानक 22.70 सेकेंड है, जो और भी मुश्किल है।

सोमवार की 200 मीटर की जीत केआईयूजी 2021 में प्रिया मोहन का दूसरा स्वर्ण था। इससे पहले रविवार को उन्होंने 400 मीटर का खिताब हासिल किया था। प्रिया के दोहरे स्वर्ण ने जैन विश्वविद्यालय को KIUG 2021 पदक तालिका में शीर्ष स्थान पर काबिज करवाया है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स