भारत बनाम पाकिस्तान: हॉकी में दोनों टीमों के रिकॉर्ड पर डालें एक नज़र

भारत और पाकिस्तान ने अभी तक कुल मिलाकर 11 ओलंपिक मेडल और 11 एशियन गेम्स के खिताब जीते हैं।

लेखक रौशन कुमार
फोटो क्रेडिट 2012 Getty Images

खेल जगत में भारत और पाकिस्तान से बड़ी राइवलरी कोई नहीं है। इन दोनों चिर प्रतिद्वंदियों का मैच हमेशा ही दर्शकों को उत्साहित करता है।

दोनों टीमों की सफलता और विफलता एक जैसी है, यही कारण है कि दोनों टीमों के मुकाबले और भी रोमांचक नज़र आते हैं।

भारत और पाकिस्तान की टीमों ने कई दशक तक हॉकी जगत में राज किया है, लेकिन बाद में उनके लगातार खराब प्रदर्शन के चलते उन्हें अर्श से फर्श पर आना पड़ा।

दोनों टीमों ने ओलंपिक मेडल से लेकर वर्ल्ड कप जीतने तक के सफलता का स्वाद चखा है, इसके साथ ही एशियन सुपरपावर्स को काफी सालों तक हार का भी सामना करना पड़ा है।

हालांकि, दोनों टीमों के अपने-अपने प्रदर्शन के बावजूद जब भी दोनों टीमें आमने-सामने होती हैं तो हॉकी जगत और प्रशंसकों की नज़रे उन पर ही बनी रहती हैं।

आइए नजर डालते हैं 1956 में शुरू हुए इस मुकाबले के हेड-टू-हेड रिकार्ड पर।

भारत बनाम पाकिस्तान: ओलंपिक स्वर्ण पदक के लिए संघर्ष

भारत और पाकिस्तान टीम स्वतंत्र राष्ट्रों के रूप में पहली बार मेलबर्न में 1956 के ओलंपिक फाइनल में आमने- सामने हुई थी। यह पहली बार था, जब दोनों दिग्गज टीमों के बीच खिताबी भिडंत हुई थी।

इससे पहले, भारत लगातार पांच बार ओलंपिक गोल्ड मेडल जीत चुका था, जबकि पाकिस्तान लगातार दो संस्करणों में शीर्ष चार में पहुंचा था लेकिन एक भी मेडल नहीं जीत पाया था।

भारत के रणधीर सिंह जेंटल के एक गोल ने भारत को 1-0 से जीताकर भारत के मेडल टैली में एक और गोल्ड जोड़ दिया था

हालांकि, समर ओलंपिक में भारत और पाकिस्तान की टीमें एक बार और आमने सामने थीं। जहां दोनों टीमों का रोम में 1960 के गेम्स के फाइनल में फिर से आमना सामना हुआ।

इस बार पाकिस्तान की टीम भारत पर भारी पड़ी। पाकिस्तान की ओर से मैच का एकमात्र गोल नसीर अहमद बुंदा ने किया।

तब से भारत और पाकिस्तान की टीमें ओलंपिक में सात बार आमने-सामने आ चुकी हैं। बताते चलें कि पाकिस्तान की टीम ने चार बार जीत दर्ज की है, जबकि भारत ने दो बार जीत हासिल की है और एक मैच का कोई नतीजा नहीं निकला।

भारत ने ओलंपिक में आठ बार गोल्ड मेडल अपने नाम किया है, वहीं पाकिस्तान ने ओलंपिक में तीन बार गोल्ड मेडल हासिल किया है।

हालांकि, दोनों टीमों की प्रतिद्वंद्विता ओलंपिक तक ही नहीं है। दोनों देशों को अक्सर हर टूर्नामेंट में खिताब के लिए आमने सामने देखा जाता है खासकर एशियन गेम्स में।

आइए देखते हैं एशिन गेम्स में कैसा रहा है दोनों टीमों का रिकॉर्ड

भारत और पाकिस्तान की टीमें अब तक एशियन गेम्स के फाइनल में आठ बार आमने-सामने आ चुकी हैं। साल 1958 और 1982 के बीच लगातार सात बार दोनों टीमों ने फाइनल खेला था।

साल 1958, 1962, 1970, 1974, 1978, 1982 और 1990 में फाइनल में भारत को हराकर पाकिस्तान कॉन्टिनेंटल इवेंट में अपना दबदबा बनाए रखा था। हालांकि साल 1966 में भारतीय टीम अपने बेहतरीन फॉर्म में नज़र आई।

पाकिस्तान के पास हॉकी में आठ एशियन गेम्स गोल्ड मेडल हैं, जबकि भारत के पास तीन गोल्ड मेडल हैं।

1978 और 2006 के बीच, भारत और पाकिस्तान टीम ने घरेलू मैदान और बाहरी मैदान पर कई द्विपक्षीय टेस्ट सीरीज़ खेली। जहां पाकिस्तानी टीम ने आठ में से छह सीरीज अपने नाम की, और भारत ने 1986 में जीत हासिल की और वहीं एक सीरीज ड्रॉ रही।

हॉकी में भारत बनाम पाकिस्तान के हेड-टू-हेड आंकड़े

भारत बनाम पाकिस्तान हेड-टू-हेड रिकार्ड पर नज़र डालें तो दोनों टीमों ने अब तक 177 मुकाबले खेले हैं, जिसमें पाकिस्तान की टीम ने 82 मुकाबले जीते हैं जबकि भारत ने 64 मुकाबलों में जीत हासिल की है। बाकी के 31 मुकाबले ड्रा रहे हैं।

भारत बनाम पाकिस्तान हॉकी के हेड-टू-हेड रिकॉर्ड
टूर्नामेंट मैच भारत जीता पाकिस्तान जीता ड्रॉ
टेस्ट सीरीज 52 16 25 11
ओलंपिक गेम्स 7 2 4 1
वर्ल्ड कप 5 3 2 0
चैंपियंस ट्रॉफी 19 7 12 0
एशियन गेम्स 15 4 8 3
एशिया कप 8 3 5 0
एशियन चैंपियंस ट्रॉफी 10 6 2 2
कॉमनवेल्थ गेम्स 3 1 1 1
FIH हॉकी वर्ल्ड लीग 3 2 0 1
एफ्रो-एशियन गेम्स 2 2 0 0
अन्य 53 18 23 12
कुल 177 64 82 31

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स