कॉमनवेल्थ गेम्स 2022, वेटलिफ्टिंग: जेरेमी लालरिनुंगा ने 67 किग्रा भार वर्ग में जीता स्वर्ण पदक

मीराबाई चानू के बाद जेरेमी लालरिनुंगा ने वेटलिफ्टिंग में भारत को दूसरा स्वर्ण पदक दिलाया। भारत ने अब तक राष्ट्रमंडल खेल 2022 में दो स्वर्ण, दो रजत और एक कांस्य के साथ पांच पदक हासिल किए हैं। 

लेखक रौशन प्रकाश वर्मा
फोटो क्रेडिट EDDIE KEOGH

ब्रिटेन के बर्मिंघम में चल रहे राष्ट्रमंडल खेल 2022 में रविवार को भारत ने स्वर्णिम शुरुआत की। बर्मिंघम के नेशनल एग्जीबिशन सेंटर में भारतीय वेटलिफ्टर जेरेमी लालरिनुंगा ने पुरुषों के 67 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल किया। 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में यह भारत का पांचवा पदक और दूसरा स्वर्ण पदक है।

भारत के खाते में दूसरा स्वर्ण पदक भी वेटलिफ्टिंग स्पर्धा से आया है। इससे पहले कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के दूसरे दिन मीराबाई चानू ने महिला वेटलिफ्टिंग के 49 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल किया था।

जेरेमी लालरिनुंगा ने स्वर्ण पदक हासिल करने के लिए कुल 300 किग्रा ( स्नैच - 140, क्लीन एंड जर्क - 160 ) का भार उठाया। उन्होंने स्नैच और क्लीन एंड जर्क दोनों में ही गेम रिकॉर्ड बनाते हुए भारत को दूसरा स्वर्ण पदक दिलाया।

19 वर्षीय लालरिनुंगा को अपने पहले प्रयास में 130 किलोग्राम का भार उठाना था। लेकिन, उन्होंने स्पर्धा से ठीक पहले इसमें बदलाव करते हुए इसे 136 किग्रा कर दिया था। स्नैच के अपने पहले प्रयास में भारतीय भारोत्तोलक ने आसानी से 136 किग्रा का भार उठाकर गेम रिकॉर्ड बनाया।

दूसरे प्रयास में उन्होंने 140 किग्रा का भार उठाया। हालांकि, तीसरे प्रयास में जेरेमी 143 किग्रा का भार उठाने में असफल रहे। लेकिन, इसके बावजूद वह स्नैच में सबसे अधिक भार उठाने वाले वेटलिफ्टर रहे।

इस तरह स्नैच राउंड में जेरेमी का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 140 किग्रा रहा। इस राउंड के बाद वह दूसरे स्थान पर रहने वाले नाइजीरिया के इडिडिओंग जोसेफ से 10 किग्रा से आगे रहे।

क्लीन एंड जर्क राउंड के पहले प्रयास में भारतीय वेटलिफ्टर ने 154 किग्रा का भार उठाया, जबकि दूसरी बार उन्होंने 160 किग्रा का भार उठाकर कुल 300 किग्रा का भार उठाया। जेरेमी, तीसरे प्रयास में 165 किग्रा का भार उठाने में असफल रहे। हालांकि, यह उनके स्वर्ण पदक के लिए काफी था। तीसरे प्रयास में 165 किग्रा का भार उठाने के दौरान उन्होंने अपनी कोहनी को चोटिल भी कर लिया। 

समोआ के वैपावा नेवो आयोन ने कुल 293 किग्रा (स्नैच - 127, क्लीन एंड जर्क - 166 ) का भार उठाकर रजत पदक जीता। वहीं, नाइजीरिया के इडिडिओंग जोसेफ ने कुल 290 किग्रा (स्नैच - 130, क्लीन एंड जर्क - 160) का भार उठाकर कांस्य पदक हासिल किया

इससे पहले बर्मिंघम 2022 में, शनिवार को भारत के संकेत महादेव सरगर (पुरुषों के 55 किग्रा) ने रजत, गुरुराज पुजारी (पुरुषों के 61 किग्रा) ने कांस्य, मीराबाई चानू (महिला 49 किग्रा) ने स्वर्ण और बिंदियारानी देवी (महिला 55 किग्रा वर्ग) ने रजत पदक अपने नाम किया था। अभी तक राष्ट्रमंडल खेल 2022 में भारत ने 5 पदक अपने नाम किए हैं और ये पांचों ही पदक वेटलिफ्टिंग में आए हैं।

पोपी हजारिका वूमेंस 59 किग्रा भार वर्ग में सातवें स्थान पर रहीं

महिलाओं के 59 किग्रा वेटलिफ्टिंग फाइनल में, पोपी हजारिका कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में पदक जीतने से चूकने वाली पहली भारतीय वेटलिफ्टर बन गईं। वह 183 किग्रा (स्नैच - 81 किग्रा; क्लीन एंड जर्क - 102 किग्रा) के कुल भार के साथ सातवें स्थान पर रहीं। हजारिका का स्नैच और क्लीन एंड जर्क में केवल एक प्रयास ही वैध दर्ज किया गया।

नाइजीरिया की रफियातु लावाल ने 206 किग्रा (90 किग्रा + 116 किग्रा) कॉमनवेल्थ गेम्स रिकॉर्ड लिफ्ट के साथ स्वर्ण पदक जीता। इंग्लैंड की जेसिका ब्राउन ने 197 किग्रा (86 किग्रा + 111 किग्रा) के साथ रजत पदक जीता, जबकि कनाडा की ताली डार्सिग्नी ने 196 किग्रा (89 किग्रा + 107 किग्रा) के साथ कांस्य पदक जीता।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स