मिशेला मोइओली ने बताया कि कैसे वीडियो गेम के साथ ट्रेनिंग ने उन्हें बीजिंग के लिए तैयार होने में

इटली की स्नोबोर्ड क्रॉस स्टार ने अपने तीसरे ओलंपिक के लिए तैयार होने के लिए वीडियो गेम का इस्तेमाल करके आंखों के माध्यम से विज़ुअलाइज़ेशन कर ट्रेनिंग की। प्योंगचांग में गोल्ड मेडल जीतने के बाद मोइओली उम्मीदों के साथ बीजिंग में हिस्सा लेने जा रही हैं। लेकिन वे दबाव से कैसे निपटती हैं? एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में मोइओली कहती हैं, "यह मुझे चिंतित और परेशान करता है, लेकिन समय गुजरने के साथ मैंने अपनी मानसिक शक्ति का विकास किया है।" अधिक जानने के लिए वीडियो देखें।

मिशेला मोइओली ने बताया कि कैसे वीडियो गेम के साथ ट्रेनिंग ने उन्हें बीजिंग के लिए तैयार होने में

इटली की स्नोबोर्ड क्रॉस स्टार ने अपने तीसरे ओलंपिक के लिए तैयार होने के लिए वीडियो गेम का इस्तेमाल करके आंखों के माध्यम से विज़ुअलाइज़ेशन कर ट्रेनिंग की। प्योंगचांग में गोल्ड मेडल जीतने के बाद मोइओली उम्मीदों के साथ बीजिंग में हिस्सा लेने जा रही हैं। लेकिन वे दबाव से कैसे निपटती हैं? एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में मोइओली कहती हैं, "यह मुझे चिंतित और परेशान करता है, लेकिन समय गुजरने के साथ मैंने अपनी मानसिक शक्ति का विकास किया है।" अधिक जानने के लिए वीडियो देखें।