वर्ल्ड U20 कुश्ती चैंपियनशिप 2022: भारतीय पहलवान प्रिया ने जीता रजत पदक

टोक्यो ओलंपियन सोनम मलिक और मौजूदा जूनियर एशियाई चैंपियन अंतिम और प्रियंका शुक्रवार को स्वर्ण पदक के लिए मुकाबला करेंगे।

लेखक शिखा राजपूत
फोटो क्रेडिट 2016 Getty Images

कैडेट विश्व चैंपियन प्रिया ने गुरुवार को बुल्गारिया के सोफिया में हो रहे विश्व U20 कुश्ती चैंपियनशिप 2022 में महिलाओं के 76 किग्रा भार वर्ग में रजत पदक जीता।

भारतीय पहलवान ने फाइनल के पहले राउंड में जापान के अयानो मोरो के खिलाफ पहला अंक हासिल किया, लेकिन दूसरे राउंड में तीन अंक गंवाकर उन्हें 3-1 से हार का सामना करना पड़ा।

इससे पहले प्रिया ने कजाकिस्तान की अलीना येरटोस्टिक को चित करके मात दी और उसके बाद क्वार्टर-फाइनल में तुर्की की मेलिसा सरिटैक को 6-4 से हराया। सेमीफाइनल में U20 यूरोपीय चैंपियन हंगरी की वेरोनिका न्यिकोस को 6-5 से हराकर फाइनल में अपना स्थान पक्का किया।

इस साल की शुरुआत में 17 साल की प्रिया ने कैडेट वर्ल्ड चैंपियनशिप में लगातार दूसरा स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। वह कैडेट आयु वर्ग में मौजूदा एशियाई चैंपियन भी हैं और उन्होंने जुलाई में बहरीन में आयोजित U20 एशियाई चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था।

प्रिया के रजत पदक के अलावा प्रियांशी प्रजापत (महिला 50 किग्रा) ने भी गुरुवार को कांस्य पदक जीता था। इससे भारत के पदकों की संख्या नौ हो गई, जिसमें दो रजत और सात कांस्य पदक शामिल हैं। यह वैश्विक स्तर पर प्रियांशी प्रजापत का पहला पदक था।

प्रियांशी प्रजापत ने U23 एशियाई चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता कजाकिस्तान की लौरा गनिकीजी को राउंड ऑफ 16 में 8-0 से हराया और क्वार्टर में शानदार वापसी करते हुए यूक्रेन की ऐडा केरीमोवा पर 9-7 से जीत हासिल की।

सेमीफाइनल में प्रियांशी प्रजापत को स्वर्ण जीतने की उम्मीदों को जापान की अंतिम स्वर्ण पदक विजेता उमी इतो ने तोड़ दिया। उमी इतो ने तकनीकी श्रेष्ठता (10-0) से भारतीय पहलवान को हराया।

हालांकि, प्रियांशी प्रजापत ने कांस्य पदक हासिल करने के लिए मंगोलिया की मौजूदा U23 एशियाई चैंपियन मुंखगेरेल मुंखबत से अच्छा प्रदर्शन किया।

टोक्यो ओलंपियन और दो बार की कैडेट विश्व चैंपियन सोनम मलिक (महिला 62 किग्रा), मौजूदा जूनियर एशियाई चैंपियन अंतिम (महिला 53 किग्रा) और प्रियंका (महिला 65 किग्रा) शुक्रवार को स्वर्ण पदक के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगी।

इसके अलावा मंजू (महिला 55 किग्रा) और भाग्यश्री हनुमंत फंद (महिला 59 किग्रा) ने कांस्य पदक के प्ले-ऑफ में जगह बनाई। लेकिन गुरुवार को अपने-अपने मुकाबले में हार का सामना किया और पदक से चूक गईं।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स