वर्ल्ड कराटे चैंपियनशिप: दुबई मीट में बिना मेडल के खत्म हुआ भारत का अभियान

प्रणय शर्मा, 67 किग्रा पुरुष व्यक्तिगत कुमाइट में एकमात्र भारतीय कराटे खिलाड़ी थे जो तीसरे दौर में पहुंचने में सफल रहे। सुधीर सहरावत (+84 किग्रा) रेपेचेज में हार गए।

लेखक रौशन कुमार
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

दुबई में विश्व कराटे चैंपियनशिप 2021 में भाग लेने वाले 17 भारतीय कराटे खिलाड़ी में से कोई भी हमदान एरिना में अपनी-अपनी श्रेणियों में मेडल राउंड में नहीं पहुंच सका।

भारतीय कराटे खिलाड़ियों ने पुरुषों और महिलाओं की व्यक्तिगत कुमाइट, व्यक्तिगत काटा और टीम कुमाइट स्पर्धाओं में भाग लिया, जबकि टीम काटा स्पर्धा में केवल पुरुषों ने भाग लिया। इस टूर्नामेंट को 16 से 21 नवंबर तक आयोजित किया गया था।

कुमाइट में दो प्रतिस्पर्धियों के बीच फ्रीस्टाइल मुकाबला शामिल है जबकि काटा में निर्धारित मूवमेंट की सीरीज का प्रदर्शन करना होता है।

महिला व्यक्तिगत कुमाइट में अमृतपाल कौर (50 किग्रा), ज्योति बिष्ट (55 किग्रा), दीपिका धीमान (61 किग्रा) और रीतिका (-68 किग्रा)  अपने-अपने शुरुआती दौर में हार गईं।

पुरुषों की व्यक्तिगत कुमाइट में पांच भारतीय कराटे खिलाड़ियों ने थोड़ा बेहतर प्रदर्शन किया। गौरव सिंध्या (60 किग्रा) और सुधीर सहरावत (+84 किग्रा) ने दूसरे दौर में जगह बनाई, जबकि प्रणय शर्मा (67 किग्रा) हारने से पहले तीसरे स्थान पर पहुंच गए।

सुधीर सहरावत को भी रेपेचेज के जरिए आगे बढ़ने का मौका मिला लेकिन वह कजाकिस्तान के टोक्यो ओलंपियन दनियार युलदाशेव से 8-0 से हार गए।

मनीष (75 किग्रा) और विशाल (-84 किग्रा), जिन्हें अपने-अपने शुरुआती दौर में बाई मिली थी वह भी दूसरे दौर में हार गए।

पुरुष टीम कुमाइट में भारत को अजरबैजान से दूसरे दौर में हार का सामना करना पड़ा। मोहम्मद अख्तर अली, रूपेश दास, मनीष, सुधीर सेहरावत, प्रणय शर्मा, गौरव सिंध्या और विशाल की भारतीय पुरुष टीम को पहले दौर में बाई मिली थी।

महिला कुमाइट टीम पहले दौर में बाई के साथ ऑस्ट्रिया के खिलाफ दूसरे दौर में भी पिछड़ गई। टीम में ज्योति बिष्ट, दीपिका धीमान, अमृतपाल कौर और सुप्रिया जाटव शामिल थीं।

काटा में, प्रियंका रामी और अर्का बनर्जी क्रमशः महिला और पुरुष व्यक्तिगत स्पर्धाओं के दूसरे दौर से बाहर हो गईं। नवीन भिंडिया, मनोज ढोइया और अनिकेत गुप्ता की पुरुष काटा टीम पहले दौर से आगे नहीं बढ़ सकी।

1970 में उद्घाटन संस्करण के बाद से भारत ने कराटे विश्व चैंपियनशिप में कभी कोई पदक नहीं जीता है।

कराटे मीट का 25वां संस्करण मूल रूप से 2020 में आयोजित किया जाना था, लेकिन COVID-19 महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया था। पिछली चैंपियनशिप 2018 में स्पेन के मैड्रिड में आयोजित की गई थी।

सात टोक्यो ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता और नौ गत विश्व चैंपियन सहित 100 से अधिक देशों के लगभग 1,000 कराटे खिलाड़ी ने पैरा प्रतियोगिताओं सहित विभिन्न श्रेणियों में दुबई टूर्नामेंट में भाग लिया।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स