ओलंपिक पदक विजेता विजय कुमार की वापसी, नेशनल शूटिंग पर होंगी नज़रें

लंदन 2012 में भारतीय निशानेबाज ने पिस्टल इवेंट भारत के लिए पहला रजत और ओलंपिक पदक हासिल किया था।

लेखक सतीश त्रिपाठी
फोटो क्रेडिट 2012 Getty Images

लंदन 2012 ओलंपिक में 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में रजत पदक जीतने वाले पूर्व भारतीय निशानेबाज विजय कुमार पांच साल बाद वापसी करने के लिए तैयार हैं। बता दें कि 36 वर्षीय विजय कुमार नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप 2021 में खेल रहे हैं, जो 18 नवंबर को नई दिल्ली में डॉक्टर कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में शुरू हुई थी।

हालांकि, पूर्व सेना के जवान को इस बारे में मालूम है कि शूटिंग रेंज में उनको किस चीज का सामना करना पड़ सकता है। 

विजय कुमार ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए कहा, "यह मेरे लिए आसान नहीं होगा क्योंकि मैं उन निशानेबाजों के साथ प्रतिस्पर्धा करूंगा जो एक साल से अधिक समय से प्रशिक्षण ले रहे हैं, जबकि मैंने सात दिनों तक प्रशिक्षण लिया है।"

पांच बार के राष्ट्रमंडल स्वर्ण पदक विजेता, विजय कुमार ने साल 2017 में हिमाचल प्रदेश पुलिस में शामिल होने के लिए सेना छोड़ दी थी और वह बतौर पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) का पद संभाल रहे थे।

हालांकि, बहुत सारी जिम्मेदारियों की वजह से विजय कुमार शूटिंग रेंज से दूर रहे। पांच साल बाद, हिमाचल के रहने वाले इस निशानेबाज ने वापसी पर विचार किया। 

दरअसल, टोक्यो ओलंपिक में भारतीय निशानेबाजों का एक स्थान खाली था। उन्होंने इस बारे में कहा, "जब कोई भी टोक्यो खेलों के लिए कोटा नहीं जीत सका तो बुरा लगना स्वाभाविक था। मुझे लगता है कि यही कारण था कि मैंने वापस आने का फैसला किया।" 

विजय कुमार का अब पेरिस 2024 में भारत का प्रतिनिधित्व करने का लक्ष्य है। विजय ने आगे कहा, "मैं झूठ बोलूंगा अगर मैंने कहा कि मैं 2024 पेरिस खेलों को नहीं देख रहा हूं। हालांकि, मुझे पता है कि यह आसान नहीं होगा।"

विजय कुमार और गगन नारंग (10 मीटर एयर राइफल में कांस्य) लंदन 2012 में एक-एक पदक जीतने वाले भारतीय निशानेबाज थे। तब से भारत ने ओलंपिक में एक भी शूटिंग पदक नहीं जीता है। वहीं, नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल का फाइनल मुकाबला रविवार को होगा।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स