प्रिया मोहन ने नेशनल इंटर-यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप में 200 मीटर रेस जीती; दुती चंद हुईं बाहर

दुती चंद ने सेमीफाइनल में हिस्सा लिया और प्रिया मोहन के बाद दूसरे स्थान पर रहीं, लेकिन एक चोट की वजह से फाइनल में नहीं दौड़ सकीं।

लेखक Ali Asgar Nalwala
फोटो क्रेडिट Getty Images

उभरती हुई भारतीय स्प्रिंटर प्रिया मोहन ने गुरुवार को भुवनेश्वर के KIIT-KISS स्टेडियम में 200 मीटर रेस जीतकर नेशनल इंटर-यूनिवर्सिटी एथलेटिक्स चैंपियनशिप में अपना दूसरा स्वर्ण पदक जीता।

कर्नाटक की इस धावक ने इससे पहले 400 मीटर इवेंट में जीत दर्ज की थी।

वहीं, दुती चंद चोट लगने की वजह से फाइनल से बाहर हो गईं। प्रिया मोहन ने अपने व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ से 0.04 सेकंड अधिक समय लेते हुए 24.00 सेकंड के साथ प्रतियोगिता जीती। मधुमिता देब (24.26 सेकंड) ने रजत पदक जीता, जबकि प्रीति (24.51 सेकंड) ने कांस्य पदक जीता।

इससे पहले सेमीफाइनल में, प्रिया मोहन ने बुधवार को 100 मीटर रेस में स्वर्ण पदक जीतने वाली दुती चंद को 24.46 सेकंड के समय के साथ 0.06 सेकंड से हराया था।

18 साल की प्रिया मोहन पिछले साल वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप में कांस्य पदक से चूक गई थीं।

इस बीच, लंबी दूरी की धाविका कोमल जगदाले ने पिछले सप्ताह 3000 मीटर स्टीपल-चेज़ में स्वर्ण जीतने के बाद वूमेंस 5000 मीटर खिताब जीता। वह 16:04.75 सेकंड के समय के साथ दूसरे स्थान पर रहीं। वह भारती से लगभग दो सेकंड आगे रहीं।

वूमेंस 400 मीटर हर्डल रेस में आरती आर ने 58.35 सेकंड के समय के साथ स्वर्ण पदक जीता।

दो बार की ओलंपियन दुती चंद को 1114 अंकों के साथ सर्वश्रेष्ठ एथलीट चुना गया।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स