कॉमनवेल्थ गेम्स 2022, बैडमिंटन: पीवी सिंधु एंड टीम को रजत पदक से करना पड़ा संतोष

भारत की मिश्रित टीम को फाइनल मुकाबले में मलेशिया के खिलाफ 3-1 से हार मिली, हालांकि इस दौरान सिर्फ पीवी सिंधु ने अपने मुकाबले में जीत दर्ज की।

लेखक शिखा राजपूत
फोटो क्रेडिट EDDIE KEOGH

ब्रिटेन के बर्मिंघम में हो रहे कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में मंगलवार, 2 अगस्त को भारतीय बैडमिंटन टीम ने मिश्रित टीम इवेंट में रजत पदक जीता। भारत को गोल्ड मेडल मुकाबले में 3-1 से हार का सामना करना पड़ा। जिसके कारण उन्हें सिर्फ रजत पदक से संतोष करना पड़ा। 

सभी मुकाबले बर्मिंघम के नेशनल एग्जीबिशन सेंटर में आयोजित किए गए। बता दें कि मिश्रित टीम ने इससे पहले 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीता था। 

मलेशिया के खिलाफ दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु ने अपने मुकाबले में जीत हासिल की। जबकि किदांबी श्रीकांत, सात्विक साईराज रंकीरेड्डी-चिराग शेट्टी और त्रिशा जॉली-गायत्री गोपीचंद को अपने-अपने मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा।

पीवी सिंधु ने मलेशियाई शटलर को सीधे गेम में हराया

इवेंट में दूसरा मुकाबला महिला एकल में वर्ल्ड रैंक में सातवें नंबर पर काबिज पीवी सिंधु ने मलेशिया की गोह जिन वी के खिलाफ खेला। जहां सिंधु ने मलेशियाई शटलर को सीधे गेम में 22-20, 21-17 से मात दी।

पीवी सिंधु ने पहले गेम की शानदार शुरुआत की और छह अंकों की बढ़त हासिल की। वहीं, मलेशिया की गोह को खेल में काफी संघर्ष करना पड़ा। सिंधु ने 16-10 की बढ़त बनाने के बाद गोह की गेम में वापसी की सभी कोशिशों को नाकाम कर दिया और इस गेम को 22-20 से अपने नाम कर लिया।

दूसरे गेम में दोनों खिलाड़ियों ने एक-दूसरे को कांटे की टक्कर दी, लेकिन सिंधु ने अपने अटैकिंग खेल के जरिए 11-7 की बढ़त हासिल कर ली। इसके बाद वह पूरे खेल के दौरान गोह पर हावी रहीं और 21-17 से दूसरे गेम में जीत हासिल की।

किदांबी श्रीकांत को मिली हार

भारतीय शटलर किदांबी श्रीकांत ने इस प्रतियोगिता का तीसरा मुकाबला खेला। इस मुकाबले में श्रीकांत ने मलेशियाई बैडमिंटन खिलाड़ी एनजी त्जे योंग का सामना किया और मुकाबले को जीतने के लिए किदांबी ने कड़ी मेहनत की। 

मलेशियाई शटलर ने उन्हें 21-19, 6-21, 21-16 से हरा दिया। हालांकि श्रीकांत ने दूसरे गेम में जीत दर्ज की और मुकाबले को निर्णायक गेम में पहुंचाने में कामयाब रहे। लेकिन उन्हें अंत में हार का सामना करना पड़ा।   

सात्विक-चिराग की जोड़ी को मिली हार 

मिश्रित बैडमिंटन टीम मुकाबले की शुरुआत रोमांचक पुरुष युगल मुकाबले से हुई। इस मुकाबले में सात्विक साईराज रंकीरेड्डी-चिराग शेट्टी की शानदार जोड़ी ने विरोधी टीम को कड़ी टक्कर दी। लेकिन सात्विक-चिराग की जोड़ी को टेंग फोंग आरून चिया-वूई यिक की मलेशियाई जोड़ी से 21-18, 21-15 से हार का सामना करना पड़ा।

त्रिशा-गायत्री की जोड़ी को मिली हार

चौथे मुकाबले में महिला युगल की जोड़ी त्रिशा जॉली-गायत्री गोपीचंद को वर्ल्ड रैंकिंग में 11वें स्थान पर काबिज कूंग ले पर्ली टैन-मुरलीथरन थिनाह की जोड़ी ने 21-18, 21-17 से हराया। 

हालांकि त्रिशा-गायत्री की जोड़ी ने बीच-बीच में वापसी करने का प्रयास किया, लेकिन उनकी प्रतिद्वंद्वी ने उन्हें कोई मौका नहीं दिया। इस तरह भारत का बैडमिंटन के मिश्रित इवेंट में स्वर्ण पदक जीतने का सपना अधूरा रह गया।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स