कॉमनवेल्थ गेम्स 2022, बैडमिंटन: किदांबी श्रीकांत और गायत्री-त्रिशा की जोड़ी ने जीता कांस्य पदक

भारत ने इसके साथ ही बैडमिंटन में तीन पदक हासिल कर लिया है जिसमें एक पदक मिश्रित स्पर्धा में आया है। मिश्रित स्पर्धा में भारत को रजत पदक से संतोष करना पड़ा था।

लेखक रौशन प्रकाश वर्मा
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

ब्रिटेन के बर्मिंघम में जारी राष्ट्रमंडल खेल 2022 में रविवार को बैडमिंटन की पुरुष एकल स्पर्धा के कांस्य पदक मुकाबले में भारतीय शटलर किदांबी श्रीकांत ने सिंगापुर के खिलाड़ी जिया हेंग तेह को हराया। इस जीत के साथ ही श्रीकांत ने बर्मिंघम 2022 में कांस्य पदक के साथ अपने अभियान को समाप्त किया। 

नेशनल एग्जीबिशन सेंटर के बैडमिंटन कोर्ट में खेलते हुए, किदांबी श्रीकांत ने सीधे गेम में 21-15, 21-18 से सिंगापुर के शटलर को करारी शिकस्त देते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया। यह किदांबी का राष्ट्रमंडल खेलों में दूसरा एकल पदक है। उन्हें 2018 में गोल्ड कोस्ट में फाइनल में मलेशिया के ली चोंग वेई से हारने के बाद रजत से संतोष करना पड़ा था।

वहीं, 19 वर्षीय त्रिशा जॉली और गायत्री गोपीचंद ने महिला युगल में संयुक्त रूप से भारत के लिए एक और कांस्य पदक जीता। भारत के दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी पुलेला गोपीचंद की बेटी गायत्री गोपीचंद और त्रिशा जॉली की जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया की हुआन-यू वेंडी चेन और ग्रोन्या सोमरविले की जोड़ी को 21-15, 21-18 से हराकर कांस्य पदक हासिल किया। 

भारत ने इसके साथ ही बर्मिंघम 2022 में बैडमिंटन में तीन पदक जीत लिए हैं। इसमें मिश्रित टीम स्पर्धा में एक रजत पदक भी शामिल है।

पूर्व विश्व चैंपियन पीवी सिंधु, लक्ष्य सेन और पुरुष युगल जोड़ी सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी सोमवार को अपने स्वर्ण पदक मैच खेलेंगे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स