बीजिंग 2022: ओलंपिक विंटर खेलों में प्रमुख एथलीट और टीमों पर डालें एक नजर (भाग II)

हमारे इस आर्टिकल के दूसरे भाग में हम बीजिंग 2022 में बोबस्ले, स्केलेटन, क्रॉस-कंट्री, स्की जंपिंग, बायथलॉन, कर्लिंग और नॉर्डिक कंबाइन्ड प्रतियोगिताओं में गोल्ड के कुछ दावेदारों को देखेंगे।

लेखक प्रभात दुबे
फोटो क्रेडिट 2018 Getty Images

4 फरवरी 2022 को, दुनिया के सर्वश्रेष्ठ एथलीट विंटर ओलंपिक खेलों के लिए बीजिंग में इकठ्ठा होंगे। 109 स्पर्धाओं में करीब 3,000 एथलीटों के प्रतिस्पर्धा के साथ, नज़र रखने के लिए बहुत सारे स्कीयर, स्केटर्स और स्लाइडर्स होंगे। इन दावेदार के सामने खुद को परिचित कराने की जद्दोजहद होगी, जो खेलों में स्वर्ण पदक के लिए चुनौती देंगे, बीजिंग 2022 (Beijing 2022) में सभी 15 खेलों के लिए शीर्ष संभावित एथलीटों और टीमों पर हमारे दो-भाग के इस आर्टिकल को देखें।

आप बीजिंग 2022 का पहला भाग यहां देख सकते हैं

फ्रांसेस्को फ्रेडरिक - बोबस्लेय

Francesco Friedrich (R) and Thorsten Margis of Germany celebrate winning gold in the 4-man Boblseigh at the PyeongChang 2018 Winter Olympic Games
  • राष्ट्रीयता: जर्मनी | जन्म तिथि: 2 मई 1990
  • ओलंपिक डिसिप्लिन/विशेषताएं: टू-मैन, फोर-मैन

करियर मेडल रिकॉर्ड

ओलंपिक: प्योंगचांग 2018 में डबल-स्वर्ण पदक विजेता (दो-व्यक्ति, चार-व्यक्ति)

विश्व चैंपियनशिप: 13 बार के विश्व चैंपियन, कुल 15 पदक

यूरोपीय चैंपियनशिप: छह बार के यूरोपीय चैंपियन, कुल 12 पदक

पिछले तीन शीतकालीन ओलंपिक खेलों में फोर-मैन बोबस्ले में तीन अलग-अलग विजेता देखे गए हैं, लेकिन विश्व चैंपियनशिप में जर्मन टीम (ड्राइवर फ्रांसेस्को फ्रेडरिक (Francesco Friedrich) के नेतृत्व में) के हालिया प्रदर्शन से पता चलता है कि वह बीजिंग जाने से पहले एक मजबूत टीम है, चार सदस्यीयों वाली टीम मौजूदा ओलंपिक चैंपियन है, और 2021 विश्व चैंपियनशिप में उपविजेता लातविया की तुलना में 3: 35.02 - 0.79 सेकेंड के तेजी के साथ आसानी से गोल्ड जीत चुकी है।

फ्रेडरिक ने टू-मैन इवेंट (ब्रैकमैन थोरस्टन मार्गिस के साथ) में दूसरा स्वर्ण पदक भी जीता, वो भी उस दौरान जब जर्मन और कनाडाई स्लेज ने ठीक उसी समय एक सेकेंड के सौंवे हिस्से के साथ उसे खत्म किया, जर्मनी ने इसके साथ प्योंगचांग 2018 में हर बोलेस्लेय इवेंट के साथ गोल्ड जीता। बीजिंग विंटर ओलंपिक में यह उस समय सबसे परेशान करनेवाला पल होगा जब पोडियम पर बाकी राष्ट्रों की अनुपस्थिति होगी। फ्रेडरिक के दो स्लेज चलाने की संभावनाओं के बीच 2022 में उनके पदक जीतने संभावना इस बार ज्यादा दिख रही है। फ्रांसेस्को फ्रेडरिक ने एनबीसी से बात करते हुए बताया कि

"मेरी मानसिकता सभी में से सर्वश्रेष्ठ को चुनने की होती है, मैं उन सभी को ध्यान से देखता हूं, मैं देखता हूं कि वह कैसे स्लाइड करते हैं। मैं उनसे पूछता हूं कि वह तेज होने के लिए क्या करते हैं। मैं कुल मिलाकर सभी में से बेस्ट को चुनता हूं, मै यह सब अपने तरीके से करता हूं और उनमें से कुछ चीजों को अपनाता हूं।’’

टीना हरमन - स्केलेटन

Tina Hermann competing in the women's skeleton at PyeongChang 2018.
फोटो क्रेडिट Quinn Rooney/Getty Images
  • राष्ट्रीयता: जर्मनी | जन्म तिथि: 5 मार्च 1992
  • ओलंपिक डिसिप्लिन /विशेषताएं: महिला एकल

करियर मेडल रिकॉर्ड

ओलंपिक: एन / ए

विश्व चैंपियनशिप: सात बार की विश्व चैंपियन, कुल नौ पदक

यूरोपीय चैंपियनशिप: दो बार की रजत पदक विजेता, कांस्य पदक विजेता

टीना हर्मन (Tina Hermann) प्योंगचांग 2018 (5वें स्थान पर) में अपने ओलंपिक डेब्यू में पदक से बाहर हो सकती थी, लेकिन दो बार की डिफेंडिंग ओलंपिक चैंपियन एलिजाबेथ यार्नोल्ड (Elizabeth Yarnold) (GBR) (अब तक की सबसे सफल ओलंपिक स्केलेटन एथलीट) के रिटायर होने के साथ, टीना अच्छी कारणों की वजह से गोल्ड के सबसे फेवरेट थी।

हर्मन ने वूमेंस स्केलेटन में पिछली तीन विश्व चैंपियनशिप जीती हैं, और इस आयोजन में वो पहली बार चार बार की विश्व चैंपियन हैं (मिश्रित टीम स्पर्धा में उनके पास तीन स्वर्ण भी हैं)। हालांकि वह विश्व कप स्टैंडिंग में जेनाइन फ्लॉक (एयूटी) के बाद दूसरे स्थान पर रही है, विश्व चैंपियनशिप में यह 29 वर्षीय अविश्वसनीय दौड़ के साथ सबसे आगे है, आपको बता दें कि बीजिंग में महिलाओं के क्षेत्र में वह शीर्ष नामों में से एक है। 2021 विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण जीतने के बाद टीना ने आईबीएसएफ के एक अधिकारी को बताया कि

‘’पहली दौड़ इतनी खराब थी और मुझे विश्वास नहीं हो सका, कि मैं अब यहां फिर से एक विश्व चैंपियन हूं ... यह अविश्वसनीय है, मैं बहुत खुश हूँ। पिछले साल विश्व चैंपियनशिप के बाद, यह मेरे लिए बहुत मुश्किल था, लेकिन अब हम इसके लिए तत्पर हैं और उम्मीद है कि चीजें बेहतर होंगी।’’

जार्ल मैग्नस रिएबर - नॉर्डिक कंबाइंड

Jarl Magnus Riiber displays his 2019 FIS World Championships gold medal.
फोटो क्रेडिट 2019 Getty Images
  • राष्ट्रीयता: नॉर्वे | जन्म तिथि: 15 अक्टूबर 1997
  • ओलंपिक डिसिप्लिन /विशेषताएं: नॉर्मल हिल, लार्ज हिल, टीम इवेंट

करियर मेडल रिकॉर्ड

ओलंपिक: रजत पदक विजेता (टीम स्पर्धा - प्योंगचांग 2018)

विश्व चैंपियनशिप: चार बार के विश्व चैंपियन, कुल सात पदक

विश्व कप: 53 पोडियम, 36 रेस जीत, कुल तीन खिताब

रिबेर (Riiber) नॉर्वेजियन टीम का हिस्सा है, जिन्होंने प्योंगचांग में टीम स्पर्धा में रजत पदक जीता था, साथ ही 2019 और 2021 विश्व चैंपियनशिप में टीम को नॉर्मल हिल प्रतियोगिताओं में स्वर्ण पदक जिताया था। उसी चैंपियनशिप में, 23 वर्षीय ने व्यक्तिगत नॉर्मल हिल में स्वर्ण हासिल किया था, और 2020/21 विश्व कप सीज़न के समापन पर अपना लगातार तीसरा क्रिस्टल ग्लोब खिताब उठाया था। यह कहने की जरूरत नहीं है कि रिबेर अच्छी फॉर्म में है, चलिए देखते है कि क्या वह बीजिंग 2022 में इसका फायदा उठा सकते है, यह देखना दिलचस्प रहेगा। जारल मैग्रस ने साल 2020/21 में क्रिस्टल ग्लोब जीतने के बाद एसआईएफ नार्डिक से बात की थी, उन्होंने बताया था कि

"मैं विश्व कप के सामान्य खिताब के साथ सप्ताह के लक्ष्य और सीजन के अंतिम लक्ष्य तक पहुंचने के लिए बहुत खुश हूं। मुझे ये एक बार फिर मिल गया है।"

शार्लोट कल्ला - क्रॉस-कंट्री स्कीइंग

Charlotte Kalla
फोटो क्रेडिट 2018 Getty Images
  • राष्ट्रीयता स्वीडन | जन्म तिथि: 22 जुलाई 1987
  • ओलंपिक डिसिप्लिन /विशेषताएं: 10 किमी फ्रीस्टाइल, 15 किमी स्कीथलॉन, 4 x 5 किमी रिले

करियर मेडल रिकॉर्ड

ओलंपिक: ट्रिपल स्वर्ण पदक विजेता (10 किमी फ्रीस्टाइल - वैंकूवर 2010; 4 x 5 किमी रिले - सोची 2014; 15 किमी स्कीथलॉन - प्योंगचांग 2018); छह बार की रजत पदक विजेता (वैंकूवर 2010 में टीम स्पीड; सोची 2014 में 10 किमी क्लासिक और 15 किमी स्कीथलॉन; टीम स्पीड, 4 x 5 किमी टीम रिले और प्योंगचांग 2018 में 10 किमी फ्रीस्टाइल)

विश्व चैंपियनशिप: तीन बार की विश्व चैंपियन, कुल 13 पदक

विश्व कप: 59 व्यक्तिगत पोडियम, 12 रेस जीते.

शार्लोट कल्ला (Charlotte Kalla) ने प्योंगचांग (15 किमी स्कीथलॉन में स्वर्ण सहित) में चार पदक जीते, जिससे उनकी ओलंपिक संख्या नौ पदक की हो गई, जिससे वह स्वीडन की अब तक की सबसे सफल महिला क्रॉस-कंट्री स्कीयर बन गईं। 33 साल की उम्र में (जुलाई में कल्ला 34 साल की हो गई), स्वेड ने संकेत दिया है कि बीजिंग 2022 उनका आखिरी ओलंपिक खेल होगा, और हालांकि ओलंपिक और क्रॉस-कंट्री लोककथाओं में उनकी विरासत पहले से ही पुख्ता है (कल्ला ने सभी ओलंपिक में कई पदक जीते हैं। में भाग लिया), आश्चर्यचकित न हों यदि कल्ला अपने पहले से ही शानदार करियर हाइलाइट्स के पोर्टफोलियो में एक और जीत जोड़ती है। चार्लोट कल्ला इंटरनेशनल स्की फेडरेशन चैनल से बात करते हुए बताती है कि

"मैं आजकल और अधिक नर्वस हो गई हूं, लेकिन प्रतिस्पर्धा करने और अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन का आनंद अभी भी वही है। इसमें सबसे जरूरी है जिज्ञासु होना। चीजें हमेशा बेहतर करने के लिए ही होती है और यही मेरी सबसे बड़ी प्रेरणा भी है। टीम का हिस्सा बनने मेें यह काफी प्रेरणादायक है, बहुत सी लड़कियां है जो वास्तव में अच्छा करना चाहती है उनकी मानसिकता है कि वे रोज, हर दिन, हर सेशन में बेहतर करें । इसलिए मै इसका हिस्सा बनने की कोशिश करता रहता हूं खास बात तो ये है कि अगर आपको पोडियम पर जगह बनानी है तो उसके लिए आपको बेहतर से भी बेहतर प्रदर्शन की जरूरत है खेल का स्तर हमेशा अब ऊपर उठ रहा है।’’

जोहान्स थिंगनेस - बायथलॉन

Johannes Thingnes Bø at PyeongChang 2018
फोटो क्रेडिट 2018 Getty Images
  • राष्ट्रीयता: नॉर्वे | जन्म तिथि: 15 मई, 1993
  • ओलंपिक अनुशासन / विशेषता: 20 किमी व्यक्तिगत, 4 x 7.5 किमी टीम रिले और मिश्रित रिले

करियर मेडल रिकॉर्ड

ओलंपिक: स्वर्ण पदक विजेता (20 किमी व्यक्तिगत - प्योंगचांग 2018), दो बार के रजत पदक विजेता (मिश्रित रिले और 4 x 7.5 किमी टीम रिले - प्योंगचांग 2018)

विश्व चैंपियनशिप: 12 बार के विश्व चैंपियन, कुल 24 पदक

विश्व कप: 104 पोडियम, 64 रेस जीत, 7 डिसिप्लिन टाइटल्स , कुल 3 खिताब

पिछले तीन विश्व कप सीज़न के दौरान थिंगनेस बी (Thingnes Bø) बायथलॉन में लगातार तीन क्रिस्टल ग्लोब जीतने वाले व्यक्ति रहे हैं। वास्तव में,उस अवधि के दौरान,नॉर्वेजियन हर सीज़न में सभी डिसिप्लिन्स में पोडियम फिनिश हासिल किया है। 2019/20 सीज़न को बचाते हुए वह चौथे स्थान पर रहे। 28 वर्षीय इस शख्स ने 2018 शीतकालीन ओलंपिक के बाद से नौ विश्व चैम्पियनशिप ताज भी जीते हैं, जहां उन्होंने अब तक अपने तीन ओलंपिक पदक जीते हैं।

एक मुकाम तक पहुंचने के बाद और प्रशंसा को ध्यान में रखते हुए थिंगनेस बी ने पिछले चार सालों में, नॉर्वेजियन बायथलॉन रिले टीमों की ताकत का उल्लेख नहीं किया है। बीजिंग 2022 में वह कई पदक जीतने के प्रबल दावेदारों में से एक है। थिंगनेस ने जब अपना तीसरा विश्व कप खिताब जीता और उसके बाद इंटरनेशनल बयथलॉन यूनियन चैनल से बात की तब उन्होंने बताया

‘’सबसे पहले पूरी तरह से "यह खेल में सीज़न को खत्म करने का सबसे अच्छा तरीका है । मेरे पास यह बताने के लिए कोई शब्द नहीं है कि मैं कितना राहत महसूस कर रहा हूं और मैं कितना खुश हूं। मैं बहुत खुश हूं ... यह कहानी [सीजन] एक -दूसरे से अलग है, स्टुरला ने मेरे लिए इतनी बड़ी लड़ाई लड़ी और उसने वास्तव में मुझे मेरी सीमा तक धकेल दिया।"

सारा ताकानाशी - स्की जंपिंग

 Sara Takanashi competes in the women's Normal Hill Individual Ski Jumping Final at PyeongChang 2018.
फोटो क्रेडिट 2018 Getty Images
  • राष्ट्रीयता: जापान | जन्म तिथि: 8 अक्टूबर 1996
  • ओलंपिक डिसिप्लिन /विशेषताएं: नॉर्मल हिल, लार्ज हिल

करियर मेडल रिकॉर्ड

ओलंपिक: कांस्य पदक विजेता (नॉर्मल हिल - प्योंगचांग 2018)

विश्व चैंपियनशिप: 2013 विश्व चैंपियन (मिक्स्ड टीम नॉर्मल हिल), कुल सात पदक

विश्व कप: 109 व्यक्तिगत पोडियम, 60 जीत, कुल चार खिताब

सारा ताकानाशी (Sara Takanashi) केवल 24 वर्ष की ही है, लेकिन यह जापानी स्की जंपिंग में दो यादगार रिकॉर्ड पहले ही हासिल कर चुकी है, उनका कुल चार विश्व कप खिताब हासिल करना महिला एथलीट के लिए एक रिकॉर्ड है। 60 जीत के साथ स्की जंपर्स के बीच सबसे ज्यादा विश्व कप जीतने का रिकॉर्ड भी अब इन्ही के पास है।

दो बार की ओलंपियन (वह प्योंगचांग में कांस्य जीतने के अलावा सोची 2014 में चौथे स्थान पर रही), ताकानाशी ने 2020 और 21 के विश्व कप सीजन में काफी बेहतर प्रदर्शन किया और दूसरे स्थान पर रहीं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि उनके पास बीजिंग 2022 में गोल्ड जीतने की काबिलियत है, और उम्मीद है कि वह पोडियम तक जरूर पहुंचेंगी। सारा ताकानाशी ने guinnessworldrecords.com को साल 2020/2021 के दौरान अपने अच्छे परिणामों के बारे में बताया।

"अपनी कमियों को दूर कर मैने अपनी छलांग को काफी सुधारा है, जो कि अब सही साबित हो रही है और मुझे परिणाम मिलने भी शुरू हो गए है"

स्वीडन - कर्लिंग

Sofia Mabergs of Sweden delivers a stone during the Women's Gold Medal Game between Sweden and Korea at the PyeongChang 2018 Winter Olympic Games. 
फोटो क्रेडिट 2018 Getty Images

पदक रिकॉर्ड - पुरुष

  • ओलंपिक: दो बार के रजत पदक विजेता (शैमॉनिक्स 1924 और प्योंगचांग 2018), कांस्य पदक विजेता (सोची 2014)
  • विश्व चैंपियनशिप: 10 बार के विश्व चैंपियन

पदक रिकॉर्ड - महिला

  • ओलंपिक: तीन बार की स्वर्ण पदक विजेता (टोरिनो 2006, वैंकूवर 2010, प्योंगचांग 2018), रजत पदक विजेता (सोची 2014), कांस्य पदक विजेता (नागानो 1998)
  • विश्व चैंपियनशिप: आठ बार की विश्व चैंपियन

हाल के समय में स्वीडन ओलंपिक और विश्व चैपियनशिप दोनों में ही काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहा है।स्वीडन की महिला टीमों ने ओलंपिक (किसी भी देश में सबसे अधिक) में तीन स्वर्ण पदक जीते हैं, जिसमें प्योंगचांग 2018 में मिली जीत भी शामिल है। 2021 विश्व चैंपियनशिप में निराशाजनक प्रदर्शन की वजह से चौथे स्थान पर रहने के बावजूद, महिला टीम अब भी काफी मजबूत है। और ऐसी उम्मीद की जा रही है कि बीजिंग में सम्मान की लड़ाई के लिए यह पूरा दम लगाएंगी।

डबल ओलंपिक पदक विजेता निकलास एडिन (Niklas Edin) (SWE) के नेतृत्व में स्वीडिश पुरुष टीम ने 2021 विश्व चैंपियनशिप में लगातार तीसरा ताज हासिल किया था,दूसरी तरफ एडिन ने अपना पांचवां विश्व खिताब जीता। विश्व चैंपियनशिप में स्वीडन की सफलता को देखते हुए, यह आश्चर्य की बात है कि उन्होंने अभी तक ओलंपिक में स्वर्ण पदक नहीं जीता है। साल 2018 की तुलना में एडिन और उनकी टीम से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है जब उन्होने प्योचोंग में रजत पदक जीता था स्वीडिश महिला टीम की उप-कप्तान सारा मैकमैनस ने बीजिंग 2022 के लिए क्वालीफाई करने के बाद वर्ल्ड कर्लिंग से बात करते हुए कहा था

"यह हमेशा बहुत खास होता है खासकर कर महामारी के दौरान। हम ऐसा करने में सक्षम होने के लिए बहुत खुश हैं, विश्व कप और ओलंपिक खेलों में स्वीडन का प्रतिनिधित्व करना गर्व की बात है, हम बहुत आभारी हैं और इसमें काफी मज़ा है।"

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स
यहां साइन अप करें यहां साइन अप करें