भारतीय शटलर अभिषेक सैनी ने जीता बांग्लादेश इंटरनेशनल चैलेंज 2021 के पुरुष एकल का खिताब

महिला युगल में मेहरीन रीजा और अराथी सारा सुनिल की भारतीय जोड़ी ने खिताब अपने नाम किया।

लेखक रौशन कुमार
फोटो क्रेडिट Naomi Baker/Getty Images

भारतीय शटलर अभिषेक सैनी ने ढाका में रविवार को संपन्न हुए बांग्लादेश इंटरनेशनल चैलेंज 2021 के पुरुष एकल में हम वतन ऋत्विक संजीव सतीश कुमार को सीधे गेम में हाराकर खिताब पर कब्जा किया।  दोनों भारतीय खिलाड़ी पहली बार एक दूसरे के आमने-सामने थे।

 34 मिनट तक चले मुकाबले में दुनिया के 474वें रैंक के अभिषेक सैनी ने 808वें रैंकिंग वाले ऋत्विक संजीव सतीश कुमार को 21-15, 21-18 से मात दी।

अभिषेक ने क्वार्टर फाइनल और सेमीफाइनल में अपने ही हम वतन खिलाड़ियों को हराकर फाइनल तक का सफर तय किया था। उन्होंने वर्ल्ड रैंक 177 रघु मरिस्वामी को क्वार्टरफाइनल और रैंक131 कार्तिके गुलशन कुमार को सेमीफाइनल में मात दी।

पुरुषों के सिंगल्स स्पर्धा के मुख्य दौर के लिए 20 भारतीय  खिलाड़ियों ने क्वालीफाई किया था, जिसमें से 6 खिलाड़ी क्वार्टरफाइनल में पहुंच पाए थे।  

महिला एकल के फाइनल में इंडोनेशिया की बैडमिंटन खिलाड़ी और वर्ल्ड रैंक 89 पुत्री कुसुमा वर्दानी ने हम वतन वर्ल्ड रैंक 690 तस्या फराहनैलाह को 33 मिनट तक चले मुकाबले में 21-12 ,21-8 से हराया।

महिला युगल में मेहरीन रीजा और अराथी सारा सुनिल की भारतीय जोड़ी ने 26 मिनट तक चले मुकाबले में मलेशिया की वेनोशा राधाकृष्णन और कस्तूरी राधाकृष्णन की जोड़ी को 22-20, 21-12 से हराया।

पुरुष युगल में श्रीलंका की जोड़ी बुवानेका गूनेथिल्का और सचिन डियास ने 24 मिनट तक चले मुकाबले में  भारतीय जोड़ी बोक्का नवनीत और श्रीकृष्ण साई कुमार पोडिले को 21-15, 21-9 से हराकर खिताब अपने नाम किया।

मिश्रित युगल में भी श्रीलंका की जोड़ी सचिन डायस और कविदी सिरिमैनगे ने भारतीय जोड़ी प्रतिक रानाडे और अक्षय वारंग की जोड़ी को 21-18, 21-18 से हारकर खिताब पर कब्जा किया।

इस प्रतियोगिता में सबसे अधिक भारत के खिलाड़ियों ने भाग लिया, जहां आकर्षी कश्यप, तसनीम मिर, अदिति भट्ट, विजेता हरीश, इरा शर्मा, रितिका ठाकेर, इशारानी बरुआ, लिखिता श्रीवास्तव, मेघना रेड्डी मारेड्डी, स्मित तोस्निवाल, मुग्धा अग्रे, अनुपमा उपाद्याय, दीपाली गुप्ता, प्रनवी नटराजन, कार्तिके गुलशन कुमार, सिद्दार्ध गुप्ता, टुकुम ला, जयंत राणा, बालराज काजला, ध्रुव रावत, रघु मरिस्वामी, अभ्यांश सिंह, जयदित्य प्रताप सिंह, भारगव एस, संकलप चंद्रगुराला, अरुनेश हरी, एस. शंकर मुथुसामी सुब्रमण्यम, रित्विक संजीवी सतिश कुमार, अनिकेत रेड्डी कुरा, केविन अरोकिया वाल्टर, यश योगी, वासु फ्रशवाल और श्रेयांश जयसवाल मुख्य दौर में जगह बनाने में कामयाब रहे थे।

जबकि हर्षल जाधव, सूर्या प्रताप सिंह, आदित्य बापीनेदु गोपराजु, ऋतिका शर्मा, मानसी सिंह और निवेथा मुथुकुमार ने वाकओवर दे दिया था, तो आद्या पराशर और उन्नति बिष्ट क्वालीफाइंग चरण में ही बाहर हो गई थी।

यह टूर्नामेंट एक से पांच दिसंबर तक बांग्लादेश के ढाका में खेला गया, जिसमें पांच अलग अलग इवेंट्स में कुल 219 खिलाड़ियों ने भाग लिया था।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स