वूमेंस FIH हॉकी प्रो लीग: भारतीय टीम ने मौजूदा चैंपियन नीदरलैंड को 2-1 से हराया

भारत ने मौजूदा चैंपियन नीदरलैंड को 2-1 से हराया। रियो 2016 ओलंपिक के फाइनल के बाद ये पहला मौका था जब किसी टीम ने नीदरलैंड के खिलाफ दो गोल दागे।

लेखक रौशन प्रकाश वर्मा
फोटो क्रेडिट ADIMAZES PVT LTD

वूमेंस FIH हॉकी प्रो लीग 2021-22 में शुक्रवार को भारतीय महिला हॉकी टीम ने नीदरलैंड को 2-1 से हराया। यह मुकाबला ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेला गया।

भारत की तरफ से नेहा (10वें मिनट में) और सोनिका (27वें मिनट में) ने एक-एक गोल किया। वहीं नीदरलैंड की ओर से जानसेन यिब्बी (39वें मिनट में) ने एक गोल दागा। भारत की ओर से 100वां मैच खेल रही नवनीत कौर को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

पहले क्वार्टर के शुरुआत से ही नीदरलैंड ने भारत पर दबाव बनाना शुरु कर दिया। मैच के सात मिनट गुजरने तक भारतीय टीम गेंद पर नियंत्रण हासिल करने के लिए संघर्ष कर रही थी। वहीं, नीदरलैंड ने तीन पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया। लेकिन भारत ने नीदरलैंड के सभी प्रयास को असफल कर दिया।

मैच के चौथे मिनट में ही नीदरलैंड को एक पेनल्टी कॉर्नर मिला। लेकिन भारतीय कप्तान और गोलकीपर सविता ने उनके इस प्रयास को शानदार तरीके से सुरक्षित कर लिया।

वहीं भारतीय टीम ने जल्द ही मैच में पकड़ बनानी शुरू की और नेहा ने 10वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर के मौके को गोल में तब्दील कर मैच में टीम की शानदार वापसी करवाई। पहले क्वार्टर के अंत तक भारतीय टीम के पास 1-0 की बढ़त थी। 

दूसरे क्वार्टर में भारतीय टीम लय में दिखी और नीदरलैंड की टीम को कड़ी टक्कर दी। हालांकि, इस दौरान भारत ने गोल करने के दो बेहतरीन मौके गंवा दिए। 

दूसरे क्वार्टर के खत्म होने से ठीक पहले सोनिका (27वें मिनट में) ने एक गोल कर भारत को मैच में 2-0 की मजबूत बढ़त दिला दी। रियो 2016 ओलंपिक गेम के बाद ये पहला मौका था, जब नीदरलैंड के खिलाफ किसी टीम ने दो गोल दागे हैं। 

दो गोल की बढ़त के साथ आत्मविश्वास से लबरेज टीम इंडिया ने तीसरे क्वार्टर की शुरुआत भी काफी सधे हुए तरीके से की। लेकिन, मैच के 39वें मिनट में नीदरलैंड को एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला और इस बार उन्होंने कोई गलती नहीं की और स्कोर को 2-1 तक पहुंचा कर मैच को रोमांचक बना दिया। नीदरलैंड की ओर से जानसेन यिब्बी (39वें मिनट में) ने गोल किया।

चौथे और निर्णायक क्वार्टर में दोनों ही टीमें काफी आक्रामक नजर आईं। स्कोर को बराबर करने के लिए एक गोल की तलाश में नीदरलैंड की टीम एक पेनल्टी कॉर्नर हासिल करने में सफल रही, लेकिन वो उस मौके को भुना नहीं सकें। भारतीय टीम अपनी बढ़त को बचाने में कामयाब रही। इस तरह भारतीय टीम ने यह मुकाबला 2-1 से जीत लिया।  

नीदरलैंड के खिलाफ खेले गए 10 मुकाबले में भारतीय टीम की ये दूसरी जीत है जबकि 48 साल में ये भारतीय टीम की पहली जीत है।

दोनों टीमों के बीच दूसरा मुकाबला शनिवार को दोपहर 3.30 बजे से खेला जाएगा।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स