हमने क्या सीखा: टोक्यो 2020 ओलंपिक से शूटिंग का लेखा-जोखा

टोक्यो 2020 में शूटिंग में पहला स्वर्ण पदक मिला, और बाकियों शूटरों ने भी निराश नहीं किया, डालिए सबसे यादगार पलों पर एक नज़र, हाइलाइट्स और रिप्ले भी देखें साथ ही पेरिस 2024 में क्यो हो सकता है खास।

फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

टोक्यो 2020 में शनिवार 24 जुलाई 2021 को चीनी एथलीट यांग कियान ने शूटिंग में पहला स्वर्ण पदक हासिल करते हुए खेलों की अच्छी शुरुआत की नींव रखी।

इस बीच उत्साह जारी रहा क्योंकि 300 शूटर्स ने 15 अलग-अलग इवेंट्स में 54 पदक हासिल करने का लक्ष्य पूरा किया।

21 वर्षीय यांग ने 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में एक नया ओलंपिक रिकॉर्ड बनाया और स्वर्ण पदक पर कब्जा किया, और वह शूटिंग स्पर्धाओं में बाकी एथलीट्स को परेशान करने वाली नए चेहरों में पहली एथलीट थी।

ना सिर्फ एक युवा एथलीट ही इतिहास रचने की कोशिश कर रही थी, बल्कि 52 साल के जॉर्जिया के शानदार नीनो सालुकवाद्ज़े ने इस उम्र में ओलंपिक खेल में नौवीं बार हिस्सा लेकर एक अविश्वसनीय इतिहास रचा।

मिक्स्ड-टीम एयर इवेंट्स में 9वें चीनी एथलीट्स की तुलना किसी से नहीं की जा सकती, जबकि शॉटगन रेंज में विन्सेंट हैनकॉक और एम्बर इंग्लिश ने यूएस स्वीप स्कीट की मदद की।

टोक्यो 2020 से शूटिंग के शीर्ष पांच पलों के लिए स्क्रॉल करें, और जानिए कैसे देखें हाइलाइट्स और रिप्ले।

यांग कियान सुर्खियों में छाई, शूटिंग में चीन का दबदबा

टोक्यो 2020 में 21 वर्षीय  यांग कियान ने खेलों का पहला स्वर्ण पदक जीतकर स्वर्ण पदक की शुरुआत की, उनके स्वर्ण जीतने की खबर पूरी दुनिया में छाई।

यांग ने  10 मीटर एयर राइफल इवेंट जीता और एक नया ओलंपिक रिकॉर्ड बनाया, साथ ही उन चीनी निशानेबाजों के लिए भी एक लक्ष्य निर्धारित किया, जिन्होंने पंद्रह में से दस स्पर्धाओं में कम से कम एक पदक हासिल किया।

10 मीटर एयर राइफल मिश्रित टीम प्रतियोगिता में यांग कियान ने अपने साथी यांग होरान के साथ एक बार फिर पोडियम पर शीर्ष स्थान हासिल किया।

इन लोगों ने भी जीते पदक:

पैंग वेई: कांस्य – मेंस 10 मीटर एयर पिस्टल

जियांग रैनक्सिन: कांस्य – वूमेंस 10 मीटर एयर पिस्टल

यांग होरान: कांस्य - मेंस 10 मीटर एयर राइफल ( दूसरा पदक)

शेंग लिहाओ: 10 मीटर एयर राइफल में यांग से पीछे

वे मेंग: कांस्य - वूमेंस स्कीट

जियांग/पैंग: गोल्ड - टीम 10 मीटर एयर पिस्टल मिक्स्ड टीम

यांग कियान/यांग होरान: गोल्ड - 10 मीटर एयर राइफल मिक्स्ड टीम

झियाओ जियोरीझान: कांस्य – 25 मीटर वुमेन पिस्टल

ली यूईहांग : कांस्य - मेंस  25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल

झांग चांगहोंग ने विश्व और ओलंपिक रिकॉर्ड के साथ 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन इवेंट में स्वर्ण पदक जीतकर सोने पर सुहागा कर दिया।

शूटिंग में चीन का जलवा कायम।

2. शूटिंग की अगली पीढ़ी का जलवा

ओलंपिक हमेशा युवाओं को खुद को साबित करने और खेल में अच्छा करने के लिए एक मंच देता है।

 और ठीक यही युवा शूटर्स ने टोक्यो में किया।

 21 वर्षीय यांग कियान ने 24 वर्षीय आरओसी एथलीट विटालिना बत्सारशकिना को मात दी, वूमेंस 10 मीटर एयर पिस्टल और 25 मीटर इवेंट दोनों जीतकर डबल-स्वर्ण पदक विजेता बन गईं।

20 वर्षीय विलियम शैनर ने चीन के शेंग को .07 से हराकर रोमांचक फाइनल मुकाबले में 10 मीटर एयर राइफल मेंस ओलंपिक खिताब को अपने नाम कर जीत का जश्न मनाया।

शेनर ने 251.6 का स्कोर किया और शेंग ने 250.9 का स्कोर किया।

नौ साल की उम्र में शूटिंग शुरू करने वाले शैनर कोलोराडो स्प्रिंग्स के रहने वाले हैं और राइफल इवेंट जीतने वाले अब तक के सबसे कम उम्र के अमेरिकी हैं।

वह शूटिंग के उभरते सितारे के रूप में अपनी पहचान बना रहे हैं।

टोक्यो में 25 वर्षीय जीन क्विकमपोइक्स ने अपनी रियो 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में सिल्वर को गोल्ड में अपग्रेड किया, 34 के अंतिम स्कोर की शूटिंग के लिए लंदन 2012 से लेउरिस पुपो के स्वर्ण पदक जीतने वाले मार्क ने ओलंपिक रिकॉर्ड की बराबरी की।

वहीं विश्व रिकॉर्ड धारक झांग चांगहोंग केवल 21 वर्ष का है।

बच्चों ने अच्छा किया ।

नीनो सालुकवाद्ज़े का 10वें ओलंपिक में रिकॉर्ड बनाने का लक्ष्य

झांग के पैदा होने के 22 साल पहले से नीनो सालुकवाद्ज़े ओलंपिक में शूटिंग कर रही थीं।

सियोल 1988 में ओलंपिक स्तर की शूटिंग में उनकी पहली जीत थी और उन्होंने इसके बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा, तब से वह तमाम खेलों में प्रतिस्पर्धा करती रहीं, टोक्यो 2020 उनका नौवां खेल था और यह एक ओलंपिक रिकॉर्ड भी था।

किसी अन्य महिला ने नौ खेलों में भाग नहीं लिया है।

जॉर्जियाई एथलीट वूमेंस की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में क्वालीफाई करने से चूक गईं, शूटर्स ने बोर्ड के चारों ओर अंक हासिल किए, वह 30 जुलाई को क्वालीफाइंग में चौथे स्थान पर रही और इस दौरान केवल शीर्ष तीन ही आगे बढ़े।

52 वर्षीय एथलीट ने रियो 2016 में ओलंपिक कांस्य जीतकर अपने जीवन के सभी पलों को जिया, वहां उन्होंने अपने बेटे त्सोत्ने मचावरियानी के साथ पहली प्रतियोगिता में भाग लिया, जो उस समय 18 वर्ष के थे।

वो शूटिंग में ओलंपिक खेलों में साथ-साथ भाग लेने वाले पहले मां और बेटे बने।

लेकिन सालुकवाद्ज़े की ओलंपिक इतिहास बनाने वाली रिकॉर्ड-तोड़ यात्रा अभी खत्म नहीं हुई है, पेरिस में भी वो कमाल कर सकते है!

4.यूएसए स्वीप स्कीट के रूप में हैनकॉक के लिए थ्री-इन-ए-रो

विन्सेंट हैनकॉक और एम्बर इंग्लिश ने स्कीट स्पर्धाओं में यूएस को जीत दिलाने में मदद की, जिसमें हैनकॉक तीन बार के ओलंपिक चैंपियन थे।

शूटिंग के लिए धैर्य और शिष्टता जरूरी योग्यता है और हैनकॉक दोनों में ही बेहतर हैं, क्योंकि उन्हें मेंस स्कीट में तीसरे स्वर्ण पदक जीतने के लिए नौ साल का इंतजार करना पड़ा।

32 वर्षीय ने डेनमार्क के जेस्पर हेन्सन को मात देने के लिए संभावित 60 लक्ष्यों में से 59 आउट बाद एक हूप आउट किया, उन्होंने 55 का स्कोर बनाया।

यह चार ओलंपिक खेलों में उनका तीसरा स्वर्ण पदक था, 2008 में बीजिंग में, लंदन 2012 में और अब टोक्यो 2020 में पोडियम पर शीर्ष पर रहा।

इसका मतलब यूएस का रास्ता साफ था, क्योंकि एम्बर इंग्लिश ने पहले ही वूमेंस स्कीट शूटिंग में 56 हिट के साथ स्वर्ण जीता था और एक नया ओलंपिक रिकॉर्ड स्थापित किया।

पहली बार ओलंपिक देखने वालों के लिए यह बिल्कुल भी बेकार नहीं है।

रिफ्यूजी शूटर का सपना हुआ सच

ओलंपिक पदक अन्य पदकों की तुलना में बहुत अधिक महत्वपूर्ण है, और यह रिफ्यूजी शूटर लूना सोलोमन के लिए एक सपने के सच होने जैसा था, जिन्होंने सबसे महान खेल के मंच से अपनी शुरुआत की।

इरिट्रिया से भागने के लिए मजबूर सोलोमन ओलंपिक चैंपियन शूटर इटली के निकोलो कैंप्रियानी के नेतृत्व में प्रशिक्षण ले रही हैं।

"मैंने आजादी ना होने के कारण अपना देश (इरिट्रिया) छोड़ दिया। मुझे अपना देश पसंद है और मुझे अपने देश की याद आती है और मुझे आशा है कि मैं एक दिन अपने देश में वापस जाऊंगी, लेकिन फिलहाल मैं ओलंपिक शहर में रह रही हूं [लॉज़ेन, स्विट्जरलैंड]।"

टोक्यो में दुनिया के इस वर्ग के खिलाफ, सोलोमन फाइनल में आगे नहीं बढ़ सकीं, लेकिन इससे 27 वर्षीय शूटर के लिए जीवन भर की सभी महत्वाकांक्षाएं पूरी हुई।

सोलोमन ने गुरुवार को प्रतिस्पर्धा करने से पहले कहा, "यात्रा आसान नहीं है, लेकिन अन्य देशों में पैदा हुए लोगों की तरह खेल और गतिविधियों में प्रगति और सफल होना संभव है।"

अब वह अभी से ही अगले आने वाले खेलों की तैयार कर रही है।

"मैं पेरिस 2024 तक खेल जारी रखूंगीं। मैं ओलंपिक खेलों में भाग लेना चाहती हूं।"

जानिए Olympics.com पर कब और कहां देखें

शूटिंग रिप्ले

आप यहां टोक्यो 2020 ओलंपिक से शूटिंग के लेकर हाइलाइट्स और पूरे इवेंट्स को देख सकते हैं: olympics.com/tokyo2020-replays

नमस्कार पेरिस

महज तीन साल बाद फ्रांस की राजधानी में होने वाले पेरिस खेलों में शूटिंग हमेशा की तरह रोमांचक होने वाली है।

उन युवा शूटर्स की तलाश जारी रहेगी, जिन्होंने टोक्यो में अपने लिए एक नाम बनाया है, हर खेल में कुछ नए चेहरे हमेशा सामने आते हैं।

यह संभावना है कि हम पेरिस में जॉर्जिया के सालुकवाद्ज़े को भी देखेंगे, वह 10 मीटर एयर पिस्टल में 31 वें और 25 मीटर पिस्टल में 25 वें स्थान पर रही और खेल को छोड़ने का मन बना रही थी, लेकिन उनके बेटे त्सोत्ने के एक कॉल ने उनका मन बदल दिया, जैसा उन्होंने रॉयटर्स को बताया :

"... पूरे समय हम बात कर रहे थे, वह कह रहा था, 'यह सवाल जबाव से बाहर है। तीन साल बाकी हैं। आप अपने दसवें ओलंपिक के लिए जा सकती हैं, आपके पास मौका है। क्यों नहीं इसे आजमातीं ? अगर तुमने छोड़ दिया, तो मैं भी छोड़ दूंगा! और मैं नहीं चाहती कि वह छोड़े, ”उसने कहा।

शायद वे दोनों फिर से पेरिस में रिकॉर्ड बनाएंगें!

चीन ने एयर पिस्टल और राइफल इवेंट्स में बार सेट किया, जबकि संयुक्त राज्य अमेरिका ने स्कीट पर राज किया, बार तीन साल के लिए निर्धारित है।

भारत ने 15 सदस्यीय दल को टोक्यो भेजा लेकिन चीजें योजना के अनुसार नहीं हुईं।

मनु भाकर और सौरभ चौधरी से मिक्स्ड 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में बड़ी उम्मीदें थीं, लेकिन दूसरे क्वालीफिकेशन चरण से आगे नहीं बढ़ पाए।

उम्मीद है कि टीम इंडिया तीन साल के समय में सकारात्मकता को दूर करेगी और मजबूत होकर वापसी करेगी, तब शूटिंग एक बार फिर ओलंपिक खेलों में फ्रंट-सेंटर होगी।

टोक्यो 2020 ओलंपिक से शूटिंग के नतीजे

टोक्यो 2020 में शूटिंग में पदकों की पूरी लिस्ट

वूमेंस इवेंट्स

दस मीटर एयर राइफल

स्वर्ण: यांग कियान (CHI)

रजत: अनास्तासिया गलाशिना ((ROC))

कांस्य: नीना क्रिस्टन (SUI)

50 मीटर राइफल 3 पोजीशन

स्वर्ण: नीना क्रिस्टन (SUI)

रजत: यूलिया ज़ायकोवा (ROC)

कांस्य: यूलिया करीमोवा (ROC)

10 मीटर एयर पिस्टल

स्वर्ण: विटालिना बत्सारशकिना (ROC)

रजत: एंटोनेटा कोस्टाडिनोवा (BUL)

कांस्य: जियांग रैनक्सिन    (CHN)

25 मीटर पिस्टल

स्वर्ण: विटालिना बत्सारशकिना (ROC)

रजत: किम मिंजंग (COR)

कांस्य: झियाओ जियारूजुआन (CHN)

स्कीट फाइनल

स्वर्ण: एम्बर इंग्लिश (USA)

रजत: डायना बकोसी (ITA)

कांस्य: वे मेंग (CHN)

ट्रैप फाइनल

स्वर्ण: ज़ुज़ाना रहक (SVK)

रजत: कायल ब्राउनिंग (USA)

कांस्य: एलेसेंड्रा पेरिली (SMR)

मेंस इवेंट्स

10 मीटर एयर पिस्टल

स्वर्ण: जावद फ़ोरोफ़ी (IRI)

रजत: दामिर मिकेक (SRB)

कांस्य: पैंग वेई (CHN)

25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल

स्वर्ण: जीन क्विकैम्पोइक्स (FRA)

रजत: लेउरिस प्यूपो (CUB)

कांस्य: ली यूहोंग (CHN)

10 मीटर एयर राइफल

स्वर्ण: विलियम शैनर (USA)

रजत: शेंग लिहाओ (CHN)

कांस्य: यांग होरान (CHN)

50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन

स्वर्ण: यांग चांगहोंग (CHN)

रजत: सर्गेई कमेंस्की (ROC)

कांस्य: मिलेंको सेबिक (SRB)

स्कीट फाइनल

स्वर्ण: विन्सेंट हैनकॉक (USA)

रजत: जेस्पर हैनसेन (DEN)

कांस्य: अब्दुल्ला अलराशिदी (KUW)

ट्रैप फाइनल

स्वर्ण: जिरी लिप्टक (CZE)

रजत: डेविड कोस्टेलेकी (CZE)

कांस्य: मैथ्यू कायर होली (GBR)

मिक्स्ड टीम इवेंट

10 मीटर एयर पिस्टल

स्वर्ण: जियांग रैनक्सिन / पैंग वेई (CHN)

रजत: विटालिना बत्सारशकिना/आर्टेम चेर्नौसोव (ROC)

कांस्य: ओलेना कोस्टेविच / ओलेह ओमेलचुक (UKR)

10 मीटर एयर राइफल

स्वर्ण: यांग कियान / यांग होरान (CHN)

रजत: मैरी टकर/लुकास कोजेनिस्की (USA)

कांस्य: यूलिया करीमोवा/सर्गेई कमेंस्की (ROC)

ट्रैप फाइनल

स्वर्ण: फातिमा गैल्वेज़ / अल्बर्टो फर्नांडीज (ESP)

रजत: एलेसेंड्रे पेरिली (SMR)

कांस्य: मैडलिन बर्नौ/ब्रायन बरोज़ (USA)