क्या होते हैं ओलंपिक क्रॉस कंट्री स्कीइंग के अलग वर्ग?

क्रॉस कंट्री स्कीइंग एक ऐसी प्रतियोगिता है जो शीतकालीन ओलंपिक खेलों का भाग 1924 से रही है और इस खेल का इतिहास हज़ारों वर्ष पुराना है। इस खेल की तकनीकियों और विभिन्न वर्गों के बारे में olympics.com पर पढ़िए।

लेखक Jonah Fontela
फोटो क्रेडिट 2019 Getty Images

क्रॉस कंट्री स्कीइंग उन पांच प्रतियोगिताओं में से एक है जो ओलंपिक शीतकालीन खेलों का भाग 1924 से रहा है और हर संस्करण में इसका आयोजन हुआ है। यह ओलंपिक खेलों का एक महत्वपूर्ण भाग है और क्योंकि अब बीजिंग बीजिंग 2022 के आरम्भ में 60 दिनों से भी कम बचे हैं, olympics.com आपको बताएगा क्रॉस कंट्री स्कीइंग के अलग वर्गों के बारे में हर ज़रूरी बात।

यह बात जान लेना ज़रूरी है कि क्रॉस कंट्री स्कीइंग में दो तरीके होते हैं और यह खेल नार्डिक स्कीइंग का एक भाग है जिसमे खिलाड़ी स्की पोल, स्की और बल का उपयोग करते हुए लंबी दूरी तक छलांग लगाते हैं।

क्लासिक बनाम फ्रीस्टाइल

पहला तरीका क्लासिक होता है जिसमे एक खिलाड़ी की स्की आगे पीछे समानांतर गति के साथ बर्फ के समानांतर ग्रोव अंदर चलती हैं। फ्रीस्टाइल तकनीक ज़्यादा गतिशील होती है और इसके अंदर एक स्कीयर अपने पैरों को एक एक करके दाएं व बाएं चलाता है। इस तकनीक की तुलना आइस स्केटिंग से भी की जाती है।

इस बात को ध्यान में रखते हुए हम आपको 12 अलग वर्गों के बारे में बताएँगे जिनमे छह महिलाओं अथवा छह पुरुषों की प्रतियोगिताएं है जिनका आयोजन बीजिंग 2022 शीतकालीन ओलंपिक खेलों में होगा।

स्कीएथलॉन एक ऐसी प्रतियोगिता है जिसके अंदर खिलाड़ी फ्रीस्टाइल और क्लासिक तकनीकों का प्रयोग करता है। पुरुषों की प्रतियोगिता 30 किमी की होती है (15 किमी के दो भाग) अथवा महिलाओं की रेस 15 किमी (7.5 किमी के दो भाग) की होती है। दोनों स्कीएथलॉन प्रतियोगिताओं में स्कीयर एक चरण क्लासिक क्रॉस कंट्री तकनीक के साथ अथवा दूसरा चरण फ्रीस्टाइल तकनीक के साथ करते हैं।

नॉन-स्कीएथलॉन प्रतियोगिताएं

बीजिंग 2022 खेलों में आपको क्लासिक क्रॉस कंट्री स्कीइंग पुरुषों की 15 किमी क्लासिक रेस अथवा महिलाओं की 10 किमी क्लासिक रेस में देखने को मिलेगी।

फ्रीस्टाइल तकनीक के आधार पर दो प्रतियोगिताएं खेली जाती हैं जिनमे पुरुषों की 50 किमी फ्रीस्टाइल अथवा महिलाओं की 30 किमी फ्रीस्टाइल शामिल हैं।

रिले दौड़ ओलंपिक खेलों में क्रॉस कंट्री की सबसे लोकप्रिय प्रतियोगिता मानी जाती है और जहाँ एक तरफ पुरुष 4x10 किमी रिले में भाग लेते हैं, महिलाओं की रेस 4x5 किमी होती है। पुरुषों और महिलाओं की रिले रेस में एक टीम में चार खिलाड़ी होते हैं और रेस की शुरुआत एक मास स्टार्ट से होती है। जो स्कीयर पहले अंतिम रेखा को पार करता है वह विजेता घोषित किया जाता है। इस वर्ग के पहले दो चरणों में क्लासिक तकनीक का प्रयोग होता है और अंतिम दो चरणों में फ्रीस्टाइल तकनीक का प्रयोजन होता है।

इसके बाद आती हैं महिलाओं और पुरुषों की स्प्रिंट प्रतियोगिताएं जिसमे दोनों फ्रीस्टाइल अथवा क्लासिक वर्ग शामिल हैं। इन व्यक्तिगत दौड़ों में (पुरुषों के लिए 1.2 किमी और महिलाओं के लिए 1.2 किमी) स्प्रिंट ग्रीष्मकालीन खेलों की एथलेटिक्स प्रतियोगिताओं जैसी होती हैं। शुरुआत क्वालीफाइंग चरण से होती है और उसके बाद हर हीट के दो सर्वश्रेष्ठ स्कीयर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश करते हैं और यही सिलसिला फाइनल तक चलता है।

टीम प्रतियोगिताएं

अंत में आती हैं पुरुषों और महिलाओं की टीम स्प्रिंट प्रतियोगिताएं। इस प्रतियोगिता में एक टीम के अंदर दो खिलाड़ी होते हैं जिनमे से पहला स्कीयर पूरे कोर्स का दौरा दो बार करता है और उसके बाद दुसरे खिलाड़ी को भी वही करना होता है। यह कार्यक्रम चलता रहता है जब तक दोनों खिलाड़ी छह लैप पूरी नहीं कर लेते। अंतिम रेखा को पार करने वाली टीम पहले जीत जाती है।

बीजिंग 2022 खेलों की सारी क्रॉस कंट्री स्कीइंग प्रतियोगिताओं का आयोजन 5 से 20 फरवरी 2022 तक ज़ांगजियाकू में स्थित कुयांग्शु नार्डिक केंद्र और बैथलॉन केंद्र में होगा। 

ओलंपिक खेलों की सबसे पुरानी और रोमांचक प्रतियोगिताओं में से एक क्रॉस कंट्री स्कीइंग के बारे में यह थी कुछ ज़रूरी बातें।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स