अपनी भाषा को सेलेक्ट करें
Loading...

हमने क्या सीखा: टोक्यो 2020 ओलंपिक से मैराथन तैराकी की हाइलाइट्स देखिए

बेल्जियम के पहले खिताब से लेकर डच महिलाओं की खिताबी जीत तक, हम टोक्यो 2020 में तैराकी के सबसे यादगार पलों के बारे में बता रहे हैं। साथ ही मेडल सेरेमनी, मुक़ाबले को फिर से देखने की जानकारी और पेरिस 2024 में किस तरह की प्रतिस्पर्धा हो सकती है, इन सब पर एक नजर।

7 मिनट द्वारा olympic-editorialworkflow
GettyImages-1332234879
(फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images)

2021 में आयोजित हुए टोक्यो 2020 ओलंपिक में मैराथन तैराकी कमजोर दिल वालों के लिए नहीं थी।

चिलचिलाती धूप, तेज़ हवाएँ और नमी ने 10 किमी की तैराकी को एक मानसिक चुनौती बना दिया, हालांकि यह सब एक शारीरिक चुनौती थी। ऐसे में रणनीति ही सब कुछ बन गई, आयोजकों ने गर्मी से बचने के लिए मुक़ाबलों को सुबह 06:30 जापानी समयानुसार शुरू करने का फैसला किया।

इन सब बदलावों की वजह से मदद मिली और अंत में रेस रोमांचक हो गई। एना मार्सेला कुन्हा और फ्लोरियन वेलब्रॉक ने अपने प्रभावशाली रेस की बदौलत जीत हासिल की।

चलिए हम प्रतियोगिता के सबसे यादगार लम्हों पर एक नज़र डालते हैं, फिर संक्षेप में बताते हैं कि किसने पदक जीते, और इस बात पर भी नज़र डालेंगे कि पेरिस 2024 में सिर्फ तीन वर्ष बचे हैं ऐसे में वहां किस पर नजर रहने वाली है।

2021 में आयोजित हुए टोक्यो 2020 मैराथन तैराकी के खास पल

यहां 2021 में हुए टोक्यो 2020 ओलंपिक खेलों के कुछ मुख्य पलों के बारे में बताया गया है।

1 - कुन्हा तीसरी बार रहीं भाग्यशाली

एना मार्सेला कुन्हा के चेहरे पर राहत तब दिखी जब उन्होंने महिलाओं की मैराथन तैराकी में स्वर्ण पदक जीता लिया।

पांच बार की विश्व चैंपियन ने आखिरकार अपने तीसरे ओलंपिक खेलों में ओलंपिक स्वर्ण पदक जीता।

एक रोमांचक फाइनल में 29 वर्षीय कुन्हा ने 1 घंटे 59 मिनट 30.8 सेकेंड में होम को छुआ, जो नीदरलैंड्स की मौजूदा चैंपियन शेरोन वैन रौवेन्डल से सिर्फ 0.9 सेकंड आगे थीं।

उन्होंने बाद में संवाददाताओं से कहा, "हम लैटिन लोग हैं, हमें गर्म मौसम में रहना होता है, हम भावुक लोग हैं, इसलिए मुझे ध्यान केंद्रित करने के लिए और दौड़ को जीतने के लिए मानसिक रूप से खुद को ठंडा करना पड़ा।"

ब्राजील के राष्ट्रीय रंगों में अपने बालों को पीले और हरे रंग में रंगने वाली कुन्हा तैराकी स्वर्ण पदक जीतने वाली देश की पहली महिला बनीं।

Cunha
Cunha (2021 Getty Images)

2 - वेलब्रॉक का शानदार स्वर्ण

जर्मनी के फ्लोरियन वेलब्रॉक टोक्यो 2020 में एक ही खेलों में मैराथन तैराकी और तैराकी में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले व्यक्ति बनने की उम्मीद में गए थे।

पूल में 1500 मीटर फ़्रीस्टाइल में कांस्य के साथ उनका सफर तैराकी में समाप्त हो गया, लेकिन वो पुरुषों की मैराथन तैराकी में स्वर्ण पदक जीतने के लिए पहले से कहीं अधिक दृढ़ थे।

23 वर्षीय ने शुरुआती बढ़त हासिल की, और ओलंपिक मैराथन तैराकी इतिहास में सबसे बड़े अंतर से जीत हासिल की, उन्होंने 1:48:33 में रेस पूरी की।

हालांकि उन्होंने अपने सपने को हासिल नहीं किया, अब वो एक ओलंपिक खेलों में तैराकी और मैराथन तैराकी में पदक जीतने वाले सिर्फ तीन पुरुष एथलीटों में से एक हैं, ट्यूनीशिया के दो बार के स्वर्ण पदक विजेता ओसामा मेलौली ने 2012 में ये उपलब्धि हासिल की थी और इटली के ग्रेगोरियो पाल्ट्रिनिएरी टोक्यो में कांस्य जीतकर इस सूची में शामिल हो गए।

23 वर्षीय वेलब्रॉक ने कहा, ये थोड़ा सा काल्पनिक लगा, क्योंकि इस रेस के पहले सात किलोमीटर तक सब कुछ आसान लग रहा था। मेरे प्रतिस्पर्धियों को मेरे पीछे कड़ी मेहनत करनी पड़ रही थी।"

Wellbrock
Wellbrock (2021 Getty Images)

3 - मछलियों से बढ़ा रोमांच

मैराथन तैराकी इस मायने में और शानदार बन जाती है, जहां प्रतियोगियों को प्राकृतिक कारकों के साथ-साथ अपने प्रतिद्वंद्वियों का भी ध्यान रखना होता है।

मछलियों को तैराकों के सिर पर कूदते हुए देखा जा सकता था क्योंकि वे ओडेबा मरीन पार्क में पानी के ऊपर तैर रही थीं, जिसमें से एक कांस्य पदक विजेता करीना ली के सीने से टकरा गई।

ऑस्ट्रेलियाई ली ने मछली के बारे में कहा, "वो कूद गई और मुझे (छाती पर) मारा। मुझे पहले नहीं पता चला कि वो क्या है और फिर पता चला कि वो तो एक मछली थी, तो मजा आ गया।"

4 - तैराक हाइड्रेटेड रहते हैं!

मैराथन तैराक लगभग दो घंटे पानी में बिताते हैं।

अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रहना रेसिंग के सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक है, खासकर आर्द्र परिस्थितियों में।

सबसे कुशल तरीके से पानी पिलाने के लिए कोच पानी के किनारे पर जाते हैं और अपने एथलीट को अपने देश के झंडे के साथ एक बड़ी छड़ी से जुड़ी पानी की बोतल देते हैं।

कई ओलंपिक दर्शक जिन्होंने पहली बार इस तकनीक को देखा था, वो उपकरणों के महत्व और सरलता की प्रशंसा करते हुए ट्विटर पर ट्वीट करने पहुंचे और बहुत तारीफ की।

5 - एलिस डियरिंग ने रचा इतिहास

टोक्यो 2020 में एलिस डियरिंग ओलंपिक खेलों में प्रतिस्पर्धा करने वाली ग्रेट ब्रिटेन की पहली अश्वेत महिला तैराक बनीं।

24 वर्षीया ने टोक्यो के लिए क्वालीफाई किया, जहां वह 19वें स्थान पर रहीं।

लेकिन डियरिंग की उपलब्धि उनके आँकड़ों से बहुत अधिक महत्वपूर्ण है। वह ब्लैक स्विमिंग एसोसिएशन के लिए एक राजदूत हैं, और यूके और उसके बाहर काले लोगों के बीच तैराकी में बढ़ती भागीदारी को सुविधाजनक बनाने के लिए काम करती हैं।

उन्होंने कहा, "मुझे वास्तव में उम्मीद है कि इससे कुछ फर्क पड़ेगा और लोग इसे देखते हैं और सोचते हैं कि ये सबके लिए है," "मैं चाहती हूं कि लोग ये जानें कि ये आपकी जाति और आपकी पृष्ठभूमि की परवाह किए बिना आपके लिए मौका है। अगर आप तैरना नहीं जानते हैं, तो अंदर आएं और तैरना सीखें। अगर आप ओलंपिक में जाना चाहते हैं, तो यहां अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करे - किसी को ये न बताएं कि ये आपके लिए नहीं है। अगर आप भी कुछ ऐसा करना चाहते हैं, तो जाइए और अपने सपनों को पूरा करने के लिए जो कुछ भी कर सकते हैं वो कीजिए।"

उन्होंने पेरिस 2024 खेलों में वापसी करने का संकल्प लिया, जहां वो "बेहतर करने" की उम्मीद करती हैं और अभ्यास के दौरान अपने ओलंपिक अनुभव से मदद लेंगी।

जापान के महत्वपूर्ण पलों पर एक आखिरी नज़र

अगर आपको लगता है कि तैराकी कोई जोखिम से भरा खेल नहीं है, तो फिर से सोचिए।

ग्रेट ब्रिटेन के हेक्टर पार्डो को पुरुषों की रेस के अंतिम लैप पर रिटायर होने के लिए मजबूर होना पड़ा, क्योंकि अचानक उनके आंख में चोट लगी और आंखें लाल पड़ गईं।

रेस के बाद उन्होंने अपने पैच अप और बैंगनी चेहरे की एक तस्वीर ट्वीट की, लेकिन शुक्र था कि कोई गंभीर चोट नहीं लगी थी।

पूल से बाहर निकलने के बाद 20 वर्षीय पानी में वापस नहीं जा सकते थे।

"ये कोई झटका नहीं होने वाला है, मेरे लिए अधिक प्रेरणा होने वाला है। मैं अपना सिर ध्यान केंद्रित करते हुए दोबारा अभ्यास के लिए जा रहा हूं और उम्मीद है कि पेरिस में वापस आऊंगा और पदक के लिए कोशिश करूंगा और चुनौती पेश करूंगा।"

नमस्ते पेरिस 2024

सिर्फ 23 साल की उम्र में नए पुरुष ओलंपिक चैंपियन बनने वाले फ्लोरियन वेलब्रॉक निश्चित रूप से पेरिस में फेवरेट होंगे।

वो संभवतः पेरिस 2024 में एक ओलंपिक में मैराथन तैराकी और तैराकी दोनों में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले व्यक्ति बनने के अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए फिर से प्रयास करेंगे।

हंगरी के रजत पदक विजेता क्रिस्टोफ़ रासोव्स्की अगले ओलंपिक में 27 वर्ष के हो जाएंगे और उम्मीद करेंगे कि डिस्टेंस तैराकी में शानदार नाम बनाने के कारण वो पेरिस में एक बेहतर प्रदर्शन करने में सफल हो पाएं।

Wellbrock
Wellbrock (2021 Getty Images)

Olympics.com पर टोक्यो से मैराथन तैराकी रिप्ले कब और कहां देखें

यहां आप रिप्ले और खास पलों को देख सकते हैं।

अब मैराथन तैराकी के मुख्य तैराक कब प्रतिस्पर्धा करते नज़र आएंगे?

FINA/CNSG मैराथन स्विम वर्ल्ड सीरीज़ 2021 में 28 अगस्त से मैसेडोनिया में हो रहा है, जो बाग में सितंबर में चीनी ताइपे, अक्टूबर में हांगकांग और दिसंबर में इज़राइल में आयोजित होगा।

अगला प्रमुख अंतरराष्ट्रीय मैराथन तैराकी कार्यक्रम 2022 जलीय विश्व चैंपियनशिप में होगा, जो जापान के फुकुओका में 13-29 मई को होगा।

2021 में हुए टोक्यो 2020 मैराथन तैराकी की पदक तालिका

वूमेंस मैराथन तैराकी

स्वर्ण - एना मार्सेला कुन्हा (BRA)

रजत - शेरोन वैन रौवेंडाली (NED)

कांस्य - करीना ली (AUS)

मेंस मैराथन तैराकी

स्वर्ण - फ्लोरियन वेलब्रॉक (GER)

रजत - क्रिस्टोफ़ रसोव्ज़की (HUN)

कांस्य - ग्रेगोरियो पाल्ट्रिनिएरी (ITA)

इन्हें पसंदीदा सूची में जोड़ें
Ana Marcela CUNHAAna Marcela CUNHA
Florian WELLBROCKFlorian WELLBROCK
Kareena LEEKareena LEE
मैराथन स्विमिंगमैराथन स्विमिंग
ब्राज़िलBRA
से अधिक

You May Like