हमने क्या सीखा : टोक्यो 2020 ओलंपिक खेलों से कराटे का लेखा जोखा

सैंड्रा सांचेज़ के भावुक काता प्रदर्शन से लेकर कुमाइट में मिस्र के लिए ऐतिहासिक स्वर्ण जीतने वाले फेरियल अब्देल अज़ीज़ तक, टोक्यो 2020 में अपने ओलंपिक डेब्यू में कराटे के सबसे यादगार क्षणों पर एक नज़र डालिए। साथ ही पदक रिप्ले और हाइलाइट्स देखें।

फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

टोक्यो 2020 खेलों में कराटे का ओलंपिक डेब्यू बहुत ही शानदार रहा।

फेरियल अब्देलअज़ीज़ ने अज़रबैजान की वर्ल्ड नंबर 1 इरीना ज़रेत्स्का को पछाड़ते हुए ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली मिस्र की पहली महिला बनकर पूरी दुनिया को हैरान कर दिया।

हालांकि, यह स्पेनिश काता मास्टर्स के लिए मिला-जुला अनुभव रहा।

सैंड्रा सांचेज ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन से जजों को आश्चर्यचकित कर दिया। वहीं उनके हमवतन डेमियन क्विंटरो को जापान के लंबे समय से प्रतिद्वंद्वी कियुना रियो को मेंस खिताब में हरा दिया।

नीचे, टोक्यो के सबसे यादगार पलों के हाइलाइट्स और रिप्ले कैसे देखें। साथ ही कुमाइट और काता स्पर्धा में पदक विजेताओं का पूरी जानकारी प्राप्त कीजिए।

फेरल अब्देलअज़ीज़
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

2021 में टोक्यो 2020 में कराटे के शीर्ष पांच लम्हें

ओलंपिक में पहली बार कराटे के आयोजन के सबसे यादगार पलों पर एक नजर डालते हैं।

1- कियुना रियो ने काता में जीता स्वर्ण

मेंस काता टाइटंस की एक फाइट में जापान के ओकिनावा के मूल निवासी कियुना रियो ने अपने देश और खेल के लिए एक ऐतिहासिक पदक जीतने के लिए स्पैनियार्ड डेमियन क्विंटरो को हराया।

मजेदार तथ्य: आपको बता दें कि ओकिनावा द्वीप इस खेल का जन्मस्थान है।

तीन बार के विश्व चैंपियन रियो ने नाबाद खेल दिखाते हुए और उसका विस्तार करने के लिए लीडरबोर्ड में 28.72 का शानदार स्कोर बनाया, जो फरवरी 2018 तक कोई भी नहीं बना पाया।

पदक समारोह में अपनी दिवंगत मां की तस्वीर लाने वाले रियो ने कहा, "मैं चाहता था कि मेरी मां पोडियम के ऊपर से यह देखें और उन्हें बताएं कि मैंने ओलंपिक खेलों में स्वर्ण जीतने का अपना वादा निभाया है।"

2- सदाबहार चैंपियन सैंड्रा सांचेज

काता में उम्रदराज सैंड्रा सांचेज़ ने अच्छा प्रदर्शन किया था, जो उस खेल की पहली महिला ओलंपिक चैंपियन थीं।

39 वर्षीय के उस स्वर्ण पदक का मतलब था कि अब यूरोपीय, विश्व और ओलंपिक चैंपियन होने के साथ-साथ स्पेन के सबसे पुराने ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता भी हैं।

सांचेज 2014 से कराटे की शीर्ष सीरीज में अपनी पकड़ बनाए हुए हैं और उन्होंने अभी किसी भी समय हारने के संकेत नहीं दिए हैं।

GettyImages-1332411972
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

3- फेरल अब्देलअजीज, मिस्र की पहली महिला ओलंपिक चैंपियन

टोक्यो 2020 में फेरियल अब्देलअजीज ने कराटे में सबसे बड़ा उलटफेर किया।

आठवीं वरीयता प्राप्त वूमेंस कुमाइट +61 किग्रा वर्ग के फाइनल में अजरबैजान की विश्व नंबर 1 इरीना जरेत्स्का को 2-0 से हराया।

2018 विश्व चैंपियनशिप में कांस्य और 2019 अफ्रीकी खेलों में रजत के बाद यह अब्देलअजीज की करियर की सबसे बड़ी जीत थी।

घर वापसी के लिए उनकी जीत एक विशेष रूप से महत्वपूर्ण थी। वह इन ओलंपिक खेलों में मिस्र की एकमात्र स्वर्ण पदक विजेता थीं और इतिहास में पहली महिला ओलंपिक चैंपियन थीं।

GettyImages-1332850756
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

4- जोवाना प्रीकोविक का ऐतिहासिक स्वर्ण पदक

एक अन्य स्टैंड आउट पदक विजेता कराटे का जोवाना प्रीकोविक ओलंपिक स्वर्ण जीतने वाली सर्बिया की दूसरी महिला बनीं।

इन्होंने 2018 विश्व चैंपियन ने महिला कुमाइट 61 किग्रा फाइनल में चीन की यिन शियाओयान को हराया था।

"मैं बहुत भावुक और बहुत खुश था क्योंकि मैंने बहुत काम किया था। मुझे विश्वास नहीं हुआ क्योंकि मैं देखना चाहता था कि क्या हुआ।

"मैंने जजों को नहीं देखा और जब मैं पीछे मुड़ा, तो मैंने देखा कि मुझे स्वर्ण पदक मिला है।"

5- सजाद गंजज़ादेह की नाटकीय जीत

ईरान के सजाद गंजज़ादेह बेहोश हो गए थे लेकिन फिर भी उन्होंने मेंस कुमाइट + 75 किग्रा में स्वर्ण पदक जीता।

फाइनल में सऊदी अरब के तारेग हामेदी ने 4-1 से गंजज़ादेह से बढ़त बनाई, लेकिन उन्होंने इससे पहले एक दमदार किक मारी, जिससे अपने प्रतिद्वंद्वी को तातामी भेजा दिया। इसकी वजह से सऊदी अरब को अयोग्य घोषित कर दिया गया और खिताब गंजजादेह को सौंप दिया गया।

ईरानी ने इसके बाद कहा, मुझे बहुत खुशी है कि मैंने यह स्वर्ण पदक जीता । "लेकिन मेरी लिए दुख की बात है कि यह इस तरह से हुआ।"

GettyImages-1332850098
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

यह भी जरूर जानिए

कराटे का ओलंपिक खेल में शामिल होना एक सपने जैसा है, जो टोक्यो में सच हुआ है। और प्रतियोगियों के लिए यह कई रास्ते खोल रहा है।

तीन फ्रांसीसी कराटेका भाइयों में से एक स्टीवन दा कोस्टा ने 67 किलोग्राम कुमाइट डिवीजन के फाइनल में तुर्की के एरे समदान को हराकर मेंस इवेंट में पहला स्वर्ण पदक जीता।

वूमेंस अंडर-55kg कुमाइट में स्वर्ण पदक विजेता इवेट गोरानोवा बीजिंग 2008 के बाद अपने देश के पहली ओलंपिक चैंपियन बनीं।

"इल गोरिल्ला" उपनाम वाले इटालियन लुइगी बुसा ने अजरबेजान के राफेल अघायेव के खिलाफ-75 kg कुमाइट के फाइनल में कड़ी शारीरिक प्रतियोगिता जीती।

कराटे के रिप्ले Olympics.com पर कब और कहां देख सकते हैं

हमारे पास क्या जानकारी है। यहां पर देख सकते हैं।

जानिए कराटे एथलीट कब करेंगें अगला मुकाबला?

इस साल के अंत में विश्व चैंपियनशिप दुबई में 16-21 नवंबर तक आयोजित की जाएगी।

2021 में टोक्यो 2020 में कराटे की पूरी पदक सूची

वूमेंस इंडिविजुअल काता

स्वर्ण -- सैंड्रा सांचेज़ू (ESP)

रजत - शिमिज़ु कियू (JPN)

कांस्य - मो शेंग ग्रेस लाउ (HKG)

कांस्य - विवियाना बोटारो (ITA)

मेंस -67 किग्रा कुमाइट

स्वर्ण - स्टीवन दा कोस्टा (FRA)

रजत - एरे समदान (TUR)

कांस्य - दारखान असादिलोव (KAZ)

कांस्य - अब्देल रहमान अलमासतफ़ा (JOR)

वूमेंस -55 किग्रा कुमाइट

स्वर्ण - इवेट गोरानोवा (BUL)

रजत - अंजेलिका टेरलियुगा (UKR)

कांस्य - बेटिना प्लांक (AUT)

कांस्य - वेन त्ज़ु-यूनु (TPE)

मेंस इंडिविजुअल काता

स्वर्ण - कियुना रियो (JPN)

रजत - डेमियन ह्यूगो क्विंटरो(ESP)

कांस्य - अली सोफ़ुग्लू (TUR)

कांस्य - एरियल टोरेस गुटिरेज़ (USA)

वूमेंस -61 किग्रा कुमाइट

स्वर्ण - जोवाना प्रीकोविक (SRB)

रजत -यिन ज़ियाओया (CHN)

कांस्य - मर्व कोबन (TUR)

कांस्य - जियाना लोटफी (EGY)

मेंस -75 किग्रा कुमाइट

स्वर्ण - लुइगी बुसा (ITA)

रजत - राफेल अघायेव (AZE)

कांस्य - स्टानिस्लाव होरुना (UKR)

कांस्य - गैबोर हरस्पातकि (HUN)

वूमेंस +61 किग्रा कुमाइट

स्वर्ण - फेरल अब्देलअज़ीज़ (EGY)

रजत- इरिना ज़रेत्स्का (AZE)

कांस्य -सोफिया बेरुल्टसेवा(K AZ)

कांस्य -गोंग ली (CHN)

मेंस +75 किग्रा कुमाइट

स्वर्ण - सजाद गंजज़ादेह (IRN)

रजत- तारेग अली हामेदी (KSA)

कांस्य -उगूर आकतास (TUR)

कांस्य -अरागा रयुतारो (JPN)

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स