डेविस कप टेनिस :महत्वपूर्ण मैच में भारत को मिली हार, फिनलैंड ने नहीं दिया कोई मौका

मेंस डबल्स में रोहन बोपन्ना और रामकुमार रामनाथन जीता हुआ मुकाबला हारे, जबकि प्रजनेश गुणेश्वरन और रामकुमार रामनाथन अपने पहले सिंगल्स मैच हार गए हैं।

लेखक अभिषेक गिरी
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

शनिवार को डेविस कप ग्रुप I के मुकाबले में भारतीय टेनिस टीम फिनलैंड से 3-1 से हार गई। प्रजनेश गुणेश्वरन (Prajnesh Gunneswaran) और रामकुमार रामनाथन (Ramkumar Ramanathan) शुक्रवार को अपने-अपने दौर के सिंगल्स मैच हार गए थे, इसके बाद भारत को दूसरे दिन तीनों मैच जीतने थे।.

लेकिन, दूसरे दिन की शुरुआत भारत के लिए निराशाजनक रही, क्योंकि रोहन बोपन्ना (Rohan Bopanna) और रामकुमार रामनाथन की डबल्स जोड़ी हेनरी कोंटिनेन (Henri Kontinen) और हैरी हेलियोवारा (Harri Heliovaara) से 6-7 (2) 6-7 (2) से हार गई, जिससे फिनलैंड को पांच मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त मिल गई है।

आपको बता दें कि मैच से कुछ समय पूर्व टेनिस कोर्ट पर रोहन बोपन्ना को नए साथी का साथ मिला, भारत के दूसरे सर्वोच्च रैंक वाले डबल्स खिलाड़ी दिविज शरण (Divij Sharan) (86वें स्थान) की जगह रामकुमार रामनाथन को रोहन बोपन्ना के साथी के रूप में नामित किया गया।

हालांकि, इस बदलाव का कोर्ट पर कोई खास नतीजा नहीं निकला। बोपन्ना-रामनाथन की जोड़ी इस मौके पर असफल साबित हुई, और दोनों सेटों में टाई-ब्रेकर में मैच हार गई। इस हार के साथ भारत की चुनौती समाप्त हो गई।

बता दें कि प्रजनेश गुणेश्वरन ने पैट्रिक निकलास-सल्मिनेन (Patrik Niklas-Salminen) के खिलाफ चौथा मुकाबला जीता।

प्रजनेश गुणेश्वरन मेंस सिंगल रैंकिंग में 165वें पायदान पर है, उन्होंने भारत को सीरीज की पहली जीत दिलाने के लिए बहुत कम रैंकिंग वाले फिन पर आसानी से जीत हासिल की।

भारतीय खिलाड़ी ने 67 मिनट में दुनिया के 491वें  रैंक वाले पैट्रिक को  6-3, 7-5 से हराया।

भारत अगर पांच मैचों की सीरीज में जीत दर्ज कर लेता, तो 2022 में अगले डेविस कप सीजन के लिए क्वालीफायर तक पहुंच जाता। भारत अब विश्व ग्रुप I प्ले-ऑफ जोन में आ गया है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स