कॉमनवेल्थ गेम्स 2022, एथलेटिक्स: अन्नू रानी ने महिलाओं के जैवलिन थ्रो में भारत के लिए जीता पहला पदक

ओलंपियन अन्नू रानी ने बर्मिंघम में महिलाओं की भाला फेंक में 60.00 मीटर थ्रो के साथ कांस्य पदक जीता।

लेखक रौशन प्रकाश वर्मा
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

अन्नू रानी ने बर्मिंघम में रविवार को कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में बड़ा उलट-फेर करते हुए महिलाओं की जैवलिन थ्रो में कांस्य पदक जीता।

यह राष्ट्रमंडल खेलों में महिलाओं के जैवलिन थ्रो में भारत का पहला और सभी जेंडर को मिलाकर तीसरा पदक है। इससे पहले सिर्फ टोक्यो चैंपियन नीरज चोपड़ा (गोल्ड कोस्ट 2018 में पुरुषों के जैवलिन थ्रो में स्वर्ण पदक) और काशीनाथ नाइक (नई दिल्ली 2010 में पुरुषों के जैवलिन थ्रो में कांस्य पदक) ने इस खेल में पदक जीता था।

अन्नू रानी ने इस साल की शुरुआत में इंडियन ओपन जैवलिन थ्रो प्रतियोगिता में 63.82 मीटर के प्रयास के साथ महिलाओं की जैवलिन थ्रो में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया था। उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स में अपना पोडियम फिनिश हासिल करने के लिए एलेक्जेंडर स्टेडियम में 60.00 मीटर का सर्वश्रेष्ठ थ्रो किया। 

एशियाई खेल 2014 में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय एथलीट ने पहले प्रयास में 55.61 मीटर का थ्रो किया। इसके बाद अपने अगले दो प्रयासों में फाउल करने के बाद उन्होंने चौथे प्रयास में विजयी थ्रो किया।

वहीं, अन्नू रानी की हमवतन शिल्पा रानी आठ महिलाओं के बीच हुए फाइनल मुकाबले में सातवें स्थान पर रहीं और उनका सर्वश्रेष्ठ प्रयास 54.62 मीटर रहा।

टोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता ऑस्ट्रेलिया की केल्सी-ली बार्बर ने बाजी मारते हुए बर्मिंघम में 64.43 मीटर थ्रो के साथ स्वर्ण पदक जीता। जबकि, उनकी हमवतन मैकेंजी लिटिल ने 64.27 मीटर के नए व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ रजत पदक जीता।

4x100 मीटर वूमेंस रिले में भारतीय टीम पांचवें स्थान पर रही

आपको बता दें, दुती चंद, हिमा दास, सरबनी नंदा, ज्योति याराजी की भारतीय टीम, 8 टीम के फाइनल में पांचवें स्थान पर रहीं। 

हीट में 44.45 सेकंड के समय के साथ पदक के लिए क्वालीफाई करने वाली भारतीय टीम ने फाइनल में अपने प्रदर्शन में सुधार करते हुए 43.81 सेकंड में रेस खत्म की। 

वहीं नाइजीरिया ने 42.10 सेकेंड का समय लिया, जो एक नया अफ्रीकी रिकॉर्ड है। इंग्लैंड (42.41) और जमैका (43.08) से आगे रहते हुए नाइजीरिया ने स्वर्ण पदक पर कब्जा किया। इंग्लैंड ने रजत पदक और जमैका ने कांस्य पदक हासिल किया।

पुरुषों के भाला फेंक में डीपी मनु पांचवें और रोहित यादव छठें स्थान पर रहें

मौजूदा चैंपियन भारतीय एथलीट नीरज चोपड़ा चोट के कारण बर्मिंघम में हिस्सा नहीं ले सके। वहीं, इस टूर्नामेंट में उनके हमवतन डीपी मनु और रोहित यादव पुरुषों की भाला फेंक स्पर्धा में क्रमशः पांचवें और छठे स्थान पर रहे।

जबकि 22 वर्षीय डीपी मनु ने इस इवेंट में 82.28 मीटर का सर्वश्रेष्ठ थ्रो रिकॉर्ड किया। 21 वर्षीय रोहित यादव, जिन्होंने पिछले महीने विश्व चैंपियनशिप में नीरज चोपड़ा के साथ प्रतिस्पर्धा की थी, उन्होंने बर्मिंघम में 82.22 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो में महारत हासिल की।

पाकिस्तान के अरशद नदीम ने ग्रेनेडा के एंडरसन पीटर्स और केन्या के जूलियस येगो को हराकर स्वर्ण पदक जीता।

अरशद नदीम ने व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ और खेलों का रिकॉर्ड 90.18 मीटर फेंक कर स्वर्ण पदक जीता। एंडरसन पीटर्स, जिन्होंने पिछले महीने ओरेगन में अपने विश्व चैंपियनशिप खिताब को डिफेंड किया। उन्होंने 88.64 मीटर थ्रो के साथ रजत पदक जीता।

2015 विश्व चैंपियन और रियो ओलंपिक 2016 के रजत पदक विजेता जूलियस येगो ने 85.70 मीटर के साथ कांस्य पदक जीता।

लंदन 2012 ओलंपिक चैंपियन त्रिनिदाद और टोबैगो के केशॉर्न वालकॉट ने निराशाजनक प्रदर्शन किया और 82.61 मीटर के साथ चौथे स्थान पर रहे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स