बहुमुखी प्रतिभा की धनी Dr. Miriam Casillas

ओलंपिक खेलों की चमक और ग्लैमर से कहीं दूर, दर्जनों एथलीट कुछ अन्य काम करके भी अपने दैनिक प्रशिक्षण रूटीन के लिए पैसा कमाते हैं। खेती से लेकर बैंकिंग तक, टोक्यो 2020 उन कुछ एथलीटों पर एक नज़र डालता है, जिनका लक्ष्य इस साल के समर गेम्स में अच्छा प्रदर्शन करना है और यह भी जानेंगे की वे अपने खेल के मैदान के बाहर कौन सी भूमिकाएं निभाते हैं। इस हफ्ते, हम एक स्पैनियार्ड, Miriam Casillas के दैनिक जीवन के बारे में जानेंगे - जो न केवल पानी में तैरती हैं, पैडल करती हैं, बल्कि एक डॉक्टर के रूप में स्नातक भी हैं। 

जरूरी जानकारी

  • नाम: Miriam Casillas
  • आयु: 28
  • देश: स्पेन
  • खेल: ट्रायथलॉन

उनका एथलीट जीवन

11 वर्षीय Miriam ने स्वयं भी कभी यह कल्पना नहीं की होगी कि उनका पीठ दर्द (स्कोलियोसिस) एक दिन उनके ओलंपियन बनने का कारण होगा।

युवा Casillas के लिए, जिनका असली जुनून तब बैले था - एक ऐसा खेल जिसे वह तीन साल की उम्र से खेल रही थीं - वह वास्तव में तैराकी के लिए उत्सुक नहीं थीं, हालांकि यह उनके पीठ दर्द का इलाज करने का एक प्रभावी तरीका था। फिर उसके बाद उनके पिता ने सुझाव दिया कि वह ट्रायथलॉन में अपना हाथ आजमाए।

और इस तरह से 17 साल के इस लंबे सफर से उनका परिचय हुआ था जिस पर चलकर वह स्पेन की राष्ट्रीय चैंपियन, वर्ल्ड कप पदक विजेता, और रियो 2016-ओलंपियन बनी और संपूर्ण विश्व में अपनी पहचान बनाई, और जल्द ही टोक्यो 2020 की चैंपियन के रूप में भी जानी जाएंगी। 

उनके जीवन के वह महत्वपूर्ण क्षण - जब एक एथलीट और एक पेशेवर डॉक्टर के रूप में उन्होंने अपने गृहनगर बडाजोज़ से मैड्रिड तक की यात्रा पूरी करी, जहां उन्होंने मेडिकल स्कूल की पढ़ाई की और उच्च प्रदर्शन प्रशिक्षण केंद्र-आक्विन ब्लूम में प्रशिक्षण प्राप्त किया।

उनका पेशेवर जीवन

Casillas के लिए 2016 एक अच्छा वर्ष था - न केवल वह उस साल एक ओलंपियन बन गई, बल्कि उन्होंने मेडिकल स्कूल से भी स्नातक किया।

Casillas ने तेलवा पत्रिका से कहा, ‘’मैं इसके बारे में सोचती रहती हूं और मुझे लगता हैं कि कैसे मैं उस समय अपनी पढ़ाई और ट्रायथलॉन दोनों का संयोजन करने में कामयाब रही।

"मेरे लिए, मेरे जीवन में दो चीजें महत्वपूर्ण हैं - एक यह है कि मैं ट्रायथलॉन और दवा दोनों से प्यार करती हूं, इसलिए मेरे लिए अपना समय समर्पित करना वास्तव में कठिन नहीं था; और दूसरा वह समय है जब मैं प्रशिक्षण, अध्ययन और आराम कर रही होती हूं।”

उनके परिवार का समर्थन भी उनके जीवन के दोनों पहलुओं में सफल होने के लिए महत्वपूर्ण था।

"मैं अपने सपनों के लिए कड़ी मेहनत करती हूं। मेरा परिवार हमेशा मेरी तरफ रहा है, उन्होंने हमेशा मेरा समर्थन किया है, उन्होंने मुझे अपने फैसले लेने की अनुमति दी है।"

पहले से ही एक डॉक्टर होने के बावजूद, यह ओलंपिक ट्रायथलेट आने वाले वर्षों में जितना संभव हो उतना सफल होने के लिए उत्सुक हैं, यह जानकर कि उनके जीवन का अगला अध्याय सिर्फ चिकित्सा के बारे में होगा।

"मैं कुछ वर्षों के लिए प्रतिस्पर्धा जारी रखूंगी और जब मैं नहीं कर सकूंगी, तो मैं खुद को चिकित्सा के लिए समर्पित कर दूंगी", उन्होंने होय से साक्षात्कार में बताया।