शार्ट ट्रैक स्पीड स्केटिंग
  • ओलंपिक डेब्यू
    अल्बर्टविले 1992
और अधिक जानकारी

शार्ट ट्रैक स्पीड स्केटिंग स्पॉटलाइट

Olympic Channel

पिछले इवेंट्स को खोजिए और उनका आनंद लीजिए, ओलंपिक चैनल पर शार्ट ट्रैक स्पीड स्केटिंग से जुड़े ओरिजिनल फिल्म और सीरीज देखिए

हिस्ट्री ऑफ

शार्ट ट्रैक स्पीड स्केटिंग

शोर्ट ट्रैक स्पीड स्केटिंग में एक्टर समय से नहीं बल्कि एक दूसरे से प्रतिस्पर्धा करते हैं। इसमें कौशल, और तकनीक का भरपूर उपयोग होता है।

नॉर्थ अमरीका में जन्मा

शोर्ट ट्रैक या इनडोर स्पीड ट्रैकिंग की शुरुआत कनाडा से हुई और देखते ही देखते इस खेल ने यूएस में अपने कदम जमा लिए थे। 1905 से 1906 के बीच इसकी प्रतियोगिताओं का भी आयोजन होने लग गया था।400 मीटर लॉन्ग ट्रैक की कमी की वजह से नॉर्थ अमेरिकी स्केटरों ने बर्फ पर अभ्यास करना शुरू कर दिया। हालांकि छोटे ट्रैक पर सकेंग करने की अलग चुनौतियां होती हैं जैसे कि तीव्र मोड़, कम सीधा रास्ता और इसके लिए अलग तकनीकों को लाना होता है। साला में एक बार इन देशों के बीच प्रतिस्पर्धा का नियम बन गया था। वहीं नॉर्थ अमेरिका के “पैक” नियमों ने इस खेल को नया जीवन दिया। 1932 लेक प्लासिड गेम्स और इंटरनेशनल स्केटिंग यूनियन ने इन नियमों का पालन किया था।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लहराया झंडा

ग्रेट ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, फ्रांस और जापान ने इस खेल की पृवृत्ति में बहुत योगदान दिया और वे इंटरनेशनल स्केटिंग यूनियन द्वारा आयोजित प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेना शुरू कर दिया था। 1967 में ISU ने शोर्ट ट्रैक रेसिंग को मान्यता दे दी लेकिन 1976 तक कोई भी अंतरराष्ट्रीय स्पर्धा नहीं हुई थी। इस दौरान देश आपस में ही स्पर्धा करते थे।