विश्व तीरंदाजी चैंपियनशिप: 2 टीम स्पर्धाओं में भारतीय कंपाउंड तीरंदाज लगाएंगे गोल्ड मेडल पर निशाना

वूमेंस और मिक्स्ड टीम फाइनल में कंपाउंड तीरंदाजों का सामना कोलंबिया से होगा। वहीं रिकर्व टीमें खराब प्रदर्शन के बाद जल्द बाहर हो गई।

लेखक शिखा राजपूत
फोटो क्रेडिट World Archery

बुधवार को अमेरिका के साउथ डकोटा के यांकटन में विश्व तीरंदाजी चैंपियनशिप 2021 में भारतीय कंपाउंड तीरंदाजों ने वूमेंस और मिक्स्ड टीम के फाइनल में अपनी जगह बनाई।

अगर कोई भी कंपाउंड तीरंदाजी टीम अपना फाइनल मैच जीत जाती है, तो यह विश्व चैंपियनशिप में भारत का पहला स्वर्ण पदक होगा ज्योति सुरेखा वेन्नम (Jyothi Surekha Vennam) की अगुवाई वाली वूमेंस टीम ने सेमीफाइनल में पिछले सीजन की उपविजेता यूएसए को 226-225 के अंतर से हराया।

मंगलवार को रैंकिंग राउंड के बाद सातवीं वरीयता प्राप्त ज्योति, मुस्कान किरार (Muskan Kirar) और प्रिया गुर्जर (Priya Gurjar) की वूमेंस टीम ने शीर्ष 16 में डेनमार्क को आसानी से हराया और क्वार्टर फाइनल में ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ शूट-ऑफ से खुद को बचा लिया।

भारतीय महिलाओं ने ग्रेट ब्रिटेन के 230 के स्कोर की बराबरी की और शूट-ऑफ के लिए मजबूर किया, जो भारत के पक्ष में 30-28 पर समाप्त हुआ।

ज्योति वेन्नम और मुस्कान किरार पिछली विश्व चैंपियनशिप की कांस्य विजेता टीम का हिस्सा थी। शुक्रवार को फाइनल में उनका सामना कोलंबिया से होगा।

पांचवीं वरीयता प्राप्त मिक्स्ड कंपाउंड टीम, जिसमें ज्योति वेन्नम और अभिषेक वर्मा (Abhishek Verma) शामिल हैं, टीम ने नीदरलैंड, दक्षिण कोरिया और रूसी तीरंदाजी संघ की टीम को बाहर करने के बाद फाइनल में प्रवेश किया।

वे स्वर्ण पदक के लिए कोलंबिया से मुकाबला करेंगे। हालांकि, भारतीय कंपाउंड मेंस टीम क्वार्टर फाइनल में हार गई। शीर्ष आठ में अभिषेक वर्मा, संगमप्रीत बिस्ला (Sangampreet Bisla) और ऋषभ यादव (Rishabh Yadav) ऑस्ट्रिया के हाथों 235-238 से हार गए है।

इससे पहले मेंस पहले राउंड में बाई मिली थी और उन्होंने राउंड ऑफ 16 इटली को 236-230 से हराया था। रिकर्व टीमों के लिए यह चुनौतीभरा दिन रहा। जहां मेंस और मिक्स्ड टीमें राउंड ऑफ 16 में हार गईं, वहीं महिलाएं क्वार्टर फाइनल में बाहर हो गईं।

सभी टीम फाइनल शुक्रवार को होंगे जबकि रिकर्व और कंपाउंड दोनों के इंडिविजुअल एलिमिनेशन गुरुवार को देर से शुरू होंगे।