WTA चेन्नई ओपन 2022 टेनिस: कर्मन कौर थांडी-रुतुजा भोसले की हार के साथ खत्म हुई भारतीय चुनौती

कर्मन कौर थांडी और रुतुजा भोसले को टूर्नामेंट में शीर्ष वरीयता प्राप्त कनाडा की गैब्रिएला डाब्रोवस्की और ब्राजील की लुइसा स्टेफनी की जोड़ी के खिलाफ क्वार्टर फाइनल मैच में हार झेलनी पड़ी।

लेखक रौशन प्रकाश वर्मा
फोटो क्रेडिट Getty Images

WTA 250 चेन्नई ओपन 2022 टेनिस टूर्नामेंट की महिला युगल स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में गुरुवार को कर्मन कौर थांडी और उनकी हमवतन जोड़ीदार रुतुजा भोसले की हार के साथ भारत की चुनौती खत्म हो गई। 

कर्मन कौर थांडी और रुतुजा भोसले कनाडा की गैब्रिएला डाब्रोवस्की और ब्राजील की लुइसा स्टेफनी से हार गईं, जो WTA टूर इवेंट में शीर्ष वरीयता प्राप्त खिलाड़ी हैं। तमिलनाडु के एसडीएटी स्टेडियम में हुए एकतरफा मुकाबले में भारतीय महिला जोड़ी को  6-0, 6-3 के अंतर से शिकस्त झेलनी पड़ी। 

भारतीय जोड़ी ने पिछले राउंड में प्रार्थना थोंबारे और जेसी रोम्पीज के खिलाफ शानदार जीत हासिल की थी। गुरुवार को हुए क्वार्टर फाइनल के शुरुआती सेट में भारतीय जोड़ी ने कुछ संघर्ष किया लेकिन वो प्रतिद्वंदी जोड़ी के सामने टिक नहीं सकी। आपको बता दें कि स्टेफनी टोक्यो 2020 ओलंपिक के युगल कांस्य पदक विजेता जोड़ी का हिस्सा थीं। जबकि, डाब्रोवस्की दो बार की मिश्रित युगल ग्रैंड स्लैम विजेता हैं। दोनों ने मैच पर अपना नियंत्रण बनाए रखा और थांडी-भोसले की जोड़ी को हराकर प्रतियोगिता से बाहर कर दिया।

कर्मन कौर थांडी और रुतुजा भोसले ने दूसरे सेट के दूसरे गेम में अपनी सर्विस बरकरार रखने के बाद मुकाबले में अपना खाता खोला। इसके बाद तीसरे गेम में कनाडाई-ब्राजीलियाई खिलाड़ी की जोड़ी की सर्विस को ब्रेक करने के बाद बढ़त हासिल की। 

हालांकि, ये बढ़त भारतीय जोड़ी के पास काफी देर तक नहीं रही। शीर्ष वरीयता प्राप्त जोड़ी ने अगले ही गेम में भारतीय जोड़ी की सर्विस को ब्रेक किया और मैच को सीधे सेटों में बड़ी आसानी से अपने नाम कर लिया। 

डब्ल्यूटीए 250 की युगल स्पर्धा में अन्य भारतीय खिलाड़ी अंकिता रैना, डच जोड़ीदार रोजली वैन डेर होक के साथ, और रिया भाटिया और शर्मदा बालू की ऑल इंडियन जोड़ी पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी हैं। 

प्रतियोगिता की एकल स्पर्धा में भारत की ओर से सिर्फ अंकिता रैना और कर्मन कौर थांडी ही प्रतिनिधित्व कर रहीं थीं। ये दोनों खिलाड़ी एकल स्पर्धा के मुख्य ड्रॉ में शामिल थे। रैना जर्मनी की तात्जाना मारिया से शुरुआती दौर में हारकर बाहर हो गईं थीं। वहीं, थांडी ने प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई, लेकिन विंबलडन 2014 की फाइनलिस्ट कनाडा की यूजिनी बुकार्ड से हारकर वह भी प्रतियोगिता से बाहर हो गईं।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स