वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप: अविनाश साबले ने 3000 मी स्टीपलचेज तो एम श्रीशंकर ने लॉन्ग जंप के फाइनल में बनाई जगह

लॉन्ग जंपर जेसविन एल्ड्रिन और मोहम्मद अनीस याहिया क्वालीफिकेशन से आगे नहीं बढ़ पाए। शॉट पुटर तजिंदरपाल सिंह तूर चोटिल होने के कारण इवेंट में शामिल नहीं हुए।

लेखक मनोज तिवारी
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

भारत के अविनाश साबले और मुरली श्रीशंकर ने शुक्रवार को अमेरिका के ओरेगन में चल रहे वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2022 के पहले दिन क्रमश: 3000 मीटर स्टीपलचेज और लॉन्ग जंप के फाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

अविनाश साबले ने पुरुषों की अपनी हीट में 8:18.75 के समय के साथ तीसरा स्थान हासिल करते हुए 3000 मीटर स्टीपलचेज फाइनल में जगह बनाई, जो सोमवार को आयोजित किया जाएगा।

नेशनल रिकॉर्ड धारक साबले ने 15 क्वालीफायर में कुल मिलाकर सातवें सबसे तेज एथलीट रहे, उनकी हीट में मोरक्को के टोक्यो ओलंपिक चैंपियन सौफियान एल बक्कली ने टॉप किया। बक्कली ने 8:16.65 का समय निकाला।

दोहा 2019 वर्ल्ड चैंपियनशिप में अविनाश साबले ने 8:21.37 सेकेंड का समय निकालकर फाइनल में 13वें स्थान पर रहे थे।

फाइनल में जगह बनाने वाले अन्य एथलीटों में केन्या के गत चैंपियन कॉन्सलस किप्रुटो और पिछले संस्करण में उपविजेता रहे इथियोपिया के लामेचा गिर्मा शामिल हैं। राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेता केन्या के अब्राहम किबिवोट और ओलंपिक पदक विजेता अमेरिका के इवान जैगर भी फाइनल में हिस्सा लेंगे।

लॉन्ग जंप: एम श्रीशंकर क्वालीफाई करने वाले अकेले भारतीय

हेवर्ड फील्ड में पुरुषों की लॉन्ग जंप यानी लंबी कूद में मुरली श्रीशंकर फाइनल के लिए क्वालीफाई करने वाले तीनों खिलाड़ियों में से एकमात्र भारतीय हैं। फाइनल मुकाबला शनिवार को होगा।

फाइनल में उन्हीं एथलीट को जगह मिली है, जिन्होंने 8.15 मीटर की दूरी निकाली है या फिर दोनों ग्रुप से शीर्ष 12 एथलीट में शामिल हों। ऐसे में केवल दो एथलीट मानक को पूरा करने में सक्षम रहे, जिसमें जापान के युकी हाशिओका ने 8.18 मीटर की छलांग के साथ फील्ड में टॉप किया।

राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक एम श्रीशंकर ने आठवां सर्वश्रेष्ठ प्रयास करते हुए 8 मीटर की छलांग लगाई। उन्होंने दो सफल प्रयास किए, उनकी दूसरी वैध छलांग 7.86 मीटर मापी गई जबकि अन्य छलांग उनकी फाउल रही। एम श्रीशंकर वर्ल्ड चैंपियनशिप में पुरुषों की लॉन्ग जंप के फाइनल के लिए क्वालीफाई करने वाले पहले भारतीय हैं।

जेस्विन एल्ड्रिन ने अपने तीनों में से एक सफल प्रयास किया, उनकी वैध छलांग 7.79 मापी गई। मोहम्मद अनीस याहिया ने अपने तीन प्रयासों में 7.73 मीटर का सर्वश्रेष्ठ छलांग लगाया।

32 सदस्यीय फील्ड में जेसविन एल्ड्रिन 20वें जबकि मोहम्मद अनीस याहिया 23वें स्थान पर रहे।

टोक्यो ओलंपिक चैंपियन ग्रीस के मिल्टियाडिस टेंटोग्लू, ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेता हेनरी फ्रेने और टोक्यो 2020 में कांस्य पदक विजेता क्यूबा के मयकेल मास्सो लॉन्ग जंप के फाइनल में जगह बनाने वाले एथलीटों में शामिल हैं।

जमैका के मौजूदा चैंपियन ताजय गेल क्वालीफिकेशन में तीन फाउल करने के बाद आगे बढ़ने में नाकाम रहे।

ओरेगन में आयोजित वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2022 में 20 किमी रेस वॉक में एक्शन में दिखीं प्रियंका गोस्वामी।
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

20 किमी रेस वॉक फाइनल: धीमे रहे भारतीय

इससे पहले भारतीय रेस वॉकर्स के लिए ओरेगन 2022 में एक चुनौतीपूर्ण दिन रहा। प्रियंका गोस्वामी महिलाओं की 20 किमी वॉक में 1:39:42 के समय के साथ 34वें स्थान पर रहीं। कुल 41 एथलीटों ने दौड़ में हिस्सा लिया।

प्रियंका गोस्वामी ने पिछले साल रांची में 1:28:45 का समय निकालकर महिलाओं की 20 किमी रेस वॉक में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया था।

26 वर्षीय प्रियंका गोस्वामी ने रेस वॉक की अच्छी शुरुआत की, दूसरे किलोमीटर से आठवें स्थान पर रहीं। हालांकि वह 13 किमी पहुंचते-पहुंचते 38 वें स्थान पर खिसक गई और नियमों के उल्लंघन के लिए टाइम पेनल्टी भी दी गई।

पेरू की किम्बर्ली गार्सिया ने एक घंटे 26 मिनट 58 सेकेंड का समय निकालकर इस इवेट का स्वर्ण पदक जीता। पोलैंड की कटार्जीना जडजिब्लो दूसरे स्थान पर रहीं, जबकि दोहा 2019 की रजत पदक विजेता कियांग शिजी ने कांस्य पदक जीता। वहीं मौजूदा चैंपियन चीन की लियू होंग पांचवें स्थान पर रहीं।

पुरुषों की 20 किमी रेस वॉक में संदीप कुमार (1:31:58) दौड़ शुरू करने वाले 45 एथलीटों में 40वें स्थान पर रहे।

संदीप कुमार के नाम राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी दर्ज है, उन्होंने रांची में पिछले साल 1:20:16 का समय निकाला था। गोस्वामी की तरह 36 वर्षीय इस भारतीय एथलीट को भी नियम उल्लंघन के लिए टाइम पेनल्टी दी गई।

जापान के तोशिकाज़ु यामानीशी ने 1:19:07 का समय निकालकर अपने खिताब का सफलतापूर्वक बचाव किया। उनके हमवतन कोकी इकेडा ने दूसरा स्थान हासिल किया जबकि स्वेड पर्सियस कार्लस्ट्रॉम ने इस इवेंट में लगातार दूसरा कांस्य पदक जीता।

इस बीच तजिंदरपाल सिंह तूर चोट के कारण पुरुषों के शॉट पुट क्वालीफाइंग से बाहर हो गए हैं।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स