वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप: भारत की अन्नू रानी ने महिला जैवलिन के फाइनल में हासिल किया सातवां स्थान

भारतीय जैवलिन थ्रोअर ने 61.12 मीटर का सर्वश्रेष्ठ थ्रो किया, संयोग से इतनी ही दूरी का थ्रो उन्होंने साल 2019 दोहा में किया था और आठवां स्थान हासिल किया था।

लेखक मनोज तिवारी
फोटो क्रेडिट Getty Images

भारतीय एथलीट अन्नू रानी शुक्रवार को अमेरिका के ओरेगन में वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2022 महिला जैवलिन थ्रो के फाइनल में सातवें स्थान पर रहीं।

क्वालीफायर में आठवें स्थान पर रहने के बाद 12 महिला एथलीटों के साथ फाइनल में जगह बनाने वाली अन्नू रानी यूजीन के हेवर्ड फील्ड में 61.12 मीटर का सर्वश्रेष्ठ थ्रो किया। संयोग से भारतीय जैवलिन थ्रोअर ने दोहा 2019 वर्ल्ड चैंपियनशिप में आठवें स्थान पर रहने के लिए ठीक इतनी ही दूरी निकाली थी।

29 वर्षीय अन्नू रानी ने अपने पहले प्रयास में 56.18 मीटर की दूरी निकाली और थ्रो की पहली सीरीज के बाद नौवें स्थान पर रहीं, जिसमें ऑस्ट्रेलिया की मैकेंजी लिटिल और गत चैंपियन केल्सी-ली बार्बर ने शीर्ष दो स्थानों पर कब्जा कर लिया।

इस साल मई में 63.82 मीटर थ्रो के साथ भारतीय राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक अन्नू रानी अपने दूसरे प्रयास में 61.12 मीटर की दूरी निकालकर छठे स्थान पर पहुंच गईं।

भारतीय ने अपने तीसरे प्रयास में केवल 59.27 मीटर की दूरी निकाली, लेकिन उनका दूसरा थ्रो उन्हें शीर्ष आठ में रखने के लिए पर्याप्त था और बाकी बचे तीन थ्रो की मदद से वह मेडल रेस में आ सकती थीं। तीसरे राउंड में नीचे के चार एथलीट रेस से बाहर हो गए।

अन्नू रानी जो बर्मिंघम 2022 में राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेती हुई नजर आएंगी। अपने अंतिम तीन प्रयासों में (58.14 मीटर, 59.98 मीटर और 58.70 मीटर) के साथ 60 मीटर की दूरी नहीं निकाल पाईं।

ऑस्ट्रेलियाई केल्सी-ली बार्बर 66.91 मीटर प्रयास के साथ वर्ल्ड चैंपियनशिप जैवलिन थ्रो में स्वर्ण पदक का सफलतापूर्वक बचाव करने वाली इतिहास की पहली महिला बनीं, जो इस वर्ष का सबसे लंबा थ्रो भी उनके नाम दर्ज हो गया।

यूएसए की कारा विंगर ने 64.05 मीटर के अपने अंतिम प्रयास के साथ रजत पदक जीता, जबकि जापान की हारुका कितागुची ने 63.27 मीटर थ्रो के साथ कांस्य पदक जीतकर इतिहास रच दिया।

कितागुची पहली जापानी महिला हैं जिन्होंने ग्लोबल प्रतियोगिता ओलंपिक या वर्ल्ड चैंपियनशिप के जैवलिन थ्रो में पदक जीता है।

टोक्यो 2020 की स्वर्ण पदक विजेता चीन की लियू शियिंग (63.25 मीटर), पोडियम फिनिश करने से बहुत करीबी अंतर से दूर रह गईं।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स