महिला जूनियर हॉकी विश्व कप: भारतीय टीम ने मलेशिया को 4-0 से हराया, क्वार्टर-फाइनल में साउथ कोरिया से होगा मुकाबला

भारतीय टीम ने मलेशिया पर शानदार जीत के साथ पूल-डी में शीर्ष स्थान को बरकरार रखा है। भारत का अगला मुकाबला क्वार्टर-फाइनल में साउथ कोरिया से होगा।

लेखक रौशन प्रकाश वर्मा
फोटो क्रेडिट BARCO GREEFF

साउथ अफ्रीका के पोचेफस्ट्रम के नॉर्थ वेस्ट यूनिवर्सिटी में आयोजित महिला FIH हॉकी जूनियर विश्व कप 2022 में मंगलवार को भारतीय महिला टीम ने मलेशिया को 4-0 से हरा दिया। इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने पूल डी में अपना शीर्ष स्थान बरकरार रखा है।

भारत की ओर से मुमताज खान (10वें मिनट और 59वें में), कुमारी संगीता (11वें मिनट में) और लालरिंडिकी (26वें मिनट में) ने गोल किया। वहीं, भारत के शानदार डिफेंस की बदौलत मलेशिया की टीम मैच में कोई भी गोल नहीं कर सकी।

महिला जूनियर विश्व कप में पूल डी के आखिरी मुकाबले में मलेशिया के खिलाफ खेलते हुए भारत ने अच्छी शुरुआत की। भारतीय टीम को पहले मिनट में ही गोल का मौका मिला लेकिन वे इसमें असफल रहे। हालांकि, यह एक बेहतरीन प्रयास था।

भारतीय कप्तान सलीमा टेटे ने मैदान के दाहिने किनारे से गेंद को बड़ी आसानी से मलेशिया के सर्कल को तोड़ते हुए पास किया लेकिन स्ट्राइकर लालरिंडिकी उसे गोल में तब्दील करने में नाकाम रहीं।

इसके बाद पहले क्वार्टर में भारतीय टीम ने गोल दागे। मुमताज खान (10वें मिनट में) और कुमारी संगीता (11वें मिनट में) में लगातार दो शानदार फील्ड गोल दागकर भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। 2-0 की मजबूत बढ़त के साथ पहला क्वार्टर भारतीय महिला टीम के नाम रहा।

मैच का दूसरा क्वार्टर भी पूरी तरह से भारत के नाम रहा। दूसरे क्वार्टर में भारत ने अपनी मजबूत बढ़त के आधार पर मलेशिया पर दबाव बनाने के लिए आक्रामक खेल जारी रखा। हालांकि, 16वें और 21वें मिनट में भारतीय टीम के शानदार प्रयास को मलेशियन टीम ने नाकाम कर उन्हें बढ़त बनाने से रोका। मैच के 21वें मिनट में लालरेम्सियामी और दीपिका ने गोल करने का शानदार प्रयास किया लेकिन भारत अपनी बढ़त को बढ़ा पाने में नाकाम रहा।

इस बीच, भारत को शानदार खेल का परिणाम मिला और दूसरे क्वार्टर में लालरिंडिकी (26वें मिनट में) ने एक और बेहतरीन गोल करते हुए मलेशिया को बैकफुट पर ढ़केल दिया। पहले हाफ के खत्म होने तक भारत के पास 3-0 की शानदार बढ़त थी।

तीसरे क्वार्टर में मलेशिया की टीम ने आक्रामक रुख अपनाते हुए लगातार अटैक किया, लेकिन भारत के बेहतरीन डिफेंस के सामने मलेशियन खिलाड़ी संघर्ष करते नज़र आए। 37वें मिनट में मलेशिया को मैच का पहला पेनल्टी कॉर्नर मिला। लेकिन, बिचु देवी ने मलेशिया की कोशिश को नाकाम करते हुए भारत की बढ़त को कम नहीं होने दिया।

तीसरे क्वार्टर में कड़े मुकाबले के बीच मलेशिया की टीम कोई गोल नहीं कर सकीं और भारतीय टीम 3-0 की बढ़त को बचाने में कामयाब रही।

चौथे और निर्णायक क्वार्टर में मलेशिया ने गोल करने के काफी प्रयास किए। लेकिन, भारतीय टीम ने कोई गलती नहीं की। 51वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर के साथ मलेशिया के पास हार के अंतर को कम करने का मौका था लेकिन भारत की खुशबू ने उनके प्रयास को नाकाम कर दिया।

हालांकि, मैच खत्म होने से ठीक पहले मुमताज खान (59वें मिनट में) ने एक और गोल भारत की जीत के अंतर को बड़ा कर दिया। भारत ने इस अंतिम गोल के साथ मलेशिया के खिलाफ 4-0 से जीत दर्ज की।

भारतीय महिला टीम ने जूनियर हॉकी विश्व कप में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन साल 2013 में किया था। भारतीय टीम ने 2013 में कांस्य पदक जीता था।

इस मुकाबले को जीतने के बाद भारत ने पूल डी में अपना शीर्ष स्थान बरकरार रखा है। भारतीय टीम का मुकाबला क्वार्टर फाइनल में साउथ कोरिया के खिलाफ गुरुवार को होगा।

भारतीय महिला टीम ने इस लीग के पहले मैच में वेल्स को हराकर टूर्नामेंट में शानदार शुरुआत की थी और अभी तक इस टूर्नामेंट में खेले गए तीनों मैच में जीत दर्ज की है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स