गाडी चुराने से ओलंपिक पदक जीतने तक का Bill Johnson के जीवन का सफर

इस लेख में, हम Bill Johnson की जीवन की कहानी के बारे में और अधिक जानेंगे,एक ऐसा अमेरिकी स्कीयर जिसने 1984 में साराजेवो खेलों में अल्पाइन स्कीइंग में देश का पहला स्वर्ण पदक जीता था।

लेखक Gisella Fava

अस्सी के दशक की शुरुआत में, 1980 के ओलंपिक शीतकालीन खेलों में समग्र पदक तालिका में एक उत्कृष्ट तीसरे स्थान पर रहने के बावजूद, अमेरिका अभी भी अल्पाइन स्कीइंग में अपना पहला ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतने की कोशिश कर रहा था।

लेक प्लेसिड गेम्स में भी अमेरिकी पोडियम तक पहुंचने और ओलंपिक पदक जीतने में असमर्थ थे। हालांकि, Phil Mahre, जिन्होंने कंबाइंड में (पुरुषों की अल्पाइन स्पर्धा) जो तब एक ओलंपिक खेल नहीं था और केवल विश्व चैंपियनशिप के लिए मान्य था, में स्वर्ण पदक जीता था और Cindy Nelson, महिलाओं के कंबाइंड में रजत पदक जीतने वाली एकमात्र महिला, दो अमेरिकी थे जिन्होंने एक बड़े मंच पर कुछ हलचल मचाई थी। 

उनके अलावा, मेंस इवेंट में स्वीडन के Ingemar Stenmark और महिलाओं में लिचेंस्टीन की Hanni Wenzel कुछ अन्य सितारे थे।

Phil Mahre 

एक बहुप्रतीक्षित पदक

अल्पाइन स्कीइंग में स्वर्ण पदक के लिए अमेरिका का इंतजार जल्द ही समाप्त हुआ।

1984 के साराजेवो ओलंपिक शीतकालीन खेलों में, Bill Johnson, जो उस समय 24 वर्ष के भी नहीं हुए थे और जो अपने पहले ओलंपिक में प्रतिस्पर्धा कर रहे थे, उन्हें नहीं पता था कि वह अपने देश के लिए इतिहास रचेंगे।

कुछ वर्षों तक अल्पाइन स्की टीम का हिस्सा होने के बावजूद, उन्होंने उस सीज़न तक महत्वपूर्ण परिणाम हासिल नहीं किए थे। वेंगेन, स्विट्जरलैंड में, साराजेवो खेलों से एक महीने से भी कम समय पहले, उन्होंने प्रतिष्ठित विश्व कप श्रृंखला डाउनहिल इवेंट में अपनी पहली जीत का दावा किया था।

हालांकि, आखिर में वह एक स्कीयर कैसे बने, इसकी कहानी आप सभी को हैरान कर देगी। क्या आप जानना चाहते हैं कि वह एक शीतकालीन खेल एथलीट कैसे बने? उसका जवाब है- गाडी चुरा कर! जी हाँ, आपने सही पढ़ा।

17 साल की उम्र में उन्हें एक शेवरले कार चोरी करने का दोषी पाया गया था।

हालांकि, जज ने उनके साथ सहानुभूति व्यक्त की और उन्हें स्थानीय स्की स्कूल में की जाने वाली गतिविधियों के साथ सजा को कम करने का प्रस्ताव दिया, और यहीं से उनका करियर एक स्कीयर के रूप में शुरू हुआ।

अब बड़े खिताब जीतने का समय है!

वेंगेन में सफलता हासिल करने के बाद, Johnson अब बड़े खिताब जीतने का लक्ष्य बना रहा था और उनके सामने आगामी खेलों में यूरोपीय अल्पाइन स्कीइंग इवेंट था।

हालांकि, जब पत्रकारों ने ऑस्ट्रियाई Franz Klammer, जिन्होंने इन्सब्रुक 1976 में स्वर्ण पदक जीता था, उससे उस नौजवान के बारे में पूछा, तो उन्होंने उनकी तौहीन करते हुए कहा Johnson एक 'नोज पिकर' हैं, और, 'अगर वह जीतना चाहता है, तो उन्हें बहुत अच्छी तरह से स्की करनी होगी।"

जिस पर Johnson ने जवाब दिया, "मेरे अलावा सभी वहां दूसरे स्थान के लिए प्रतिस्पर्धा कर रहे होंगे।'

अब मामला गरम होता नज़र आ रहा था।

अब जब दिन आया - 22 फरवरी 1984 को, Johnson ने बेहतरीन तकनीक का प्रदर्शन किया और सर्वश्रेष्ठ एथलीटों के खिलाफ पुरुषों की अल्पाइन स्पर्धा में प्रतिस्पर्धा करते हुए बहुत आत्मविश्वास दिखाया, और परिणामस्वरूप, वह बहुत आसानी से ओलंपिक पदक जीतने में भी सफल रहे। 1984 के खेलों में, अपने पहले और स्पष्ट रूप से अंतिम शीतकालीन खेलों में प्रतिस्पर्धा करते हुए, वह इस अनुशासन में ओलंपिक स्वर्ण जीतने वाले पहले अमेरिकी बने।

Bill Johnson at Sarajevo 1984

स्कीइंग ही जीवन है, स्कीइंग ही सब कुछ है 

वह जीत उनके लिए सब कुछ थी, इसने उनकी जिंदगी भी बदल दी। जब एक पत्रकार ने पूछा की, "ओलंपिक पदक का मूल्य क्या है?" तो जवाब में उन्होंने कहा, "लाखों"। इतिहास रचने और एक घरेलू नाम बनने के अलावा, Johnson को एक नई पोर्श, मालिबू में एक घर भी मिला, साथ ही उन्होंने कई टीवी शोज और पार्टियों में एक अतिथि की भूमिका भी निभाईं।

साराजेवो में अपनी सफलता के बाद मानो Johnson ने स्कीइंग से दूरी बना ली थी। चोटों और समर्पण की कमी के बीच, वह कैलगरी 1988 खेलों के लिए अर्हता प्राप्त करने में विफल रहे। इतना ही नहीं, वह बाद में तीन बार पिता भी बने और दुर्भाग्य से उन्हें अपने 13 महीने के Ryan नाम के बच्चे को खोने का घोर दर्द भी सहना पड़ा, जो 1992 में एक हॉट टब में डूब गया था।

खेल से संन्यास लेने के लगभग 20 साल बाद, Johnson ने स्कीइंग में लौटने का फैसला किया। इसी के साथ उन्होंने अपनी किस्मत और पत्नी को वापस पाने का लक्ष्य रखा, जिनसे उनका तलाक हो गया था। 

अमेरिकी स्वर्ण पदक विजेता, जो उस समय 40 वर्ष के हो गए थे, 2002 के साल्ट लेक सिटी शीतकालीन ओलंपिक खेलों में इस अनुशासन में लौटने का लक्ष्य बना रहे थे। हालांकि, वह नहीं जानते थे कि जीवन ने उनके लिए कुछ और योजना बनाई थी - कुछ और दुखद। 2001 में मोंटाना में राष्ट्रीय चैंपियनशिप में प्रतिस्पर्धा करते हुए, उन्हें एक दुर्घटना का सामना करना पड़ा जिससे उनके दिमाग पर गंभीर चोटें आईं और उन्हें हमेशा के लिए बिस्तर पर रहने का आदेश मिला।

इसके बावजूद उन्होंने उम्मीद नहीं खोई। वह साल्ट लेक 2002 में Mahre के साथ उद्घाटन समारोह में मशाल वाहक थे।

2013 तक उन्होंने अपने चल रहे मुद्दों के लिए किसी और चिकित्सीय उपचार से इनकार कर दिया, और तीन साल बाद, उनका निधन हो गया।

"मुझे स्कीइंग पसंद है और मैं हमेशा स्की करना चाहूंगा क्योंकि स्कीइंग ही मेरा जीवन है," यह कुछ उनके शब्द थे।

Bill Johnson and Phil Mahre

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स