टोक्यो 2020 का रिपोर्ट कार्ड: गोल्ड के साथ नीरज चोपड़ा आए सुर्खियों में, जानिए, एथलेटिक्स में कैसा रहा भारतीय दल का प्रदर्शन? 

कमलप्रीत कौर, अविनाश साबले और भारतीय पुरुष रिले टीम ने टोक्यो में प्रभावशाली प्रदर्शन किया। 

लेखक दिनेश चंद शर्मा
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

भारत ने टोक्यो 2020 ओलंपिक के लिए एथलेटिक्स में 26 सदस्यीय टीम भेजी, जिसमें 17 पुरुष और नौ महिला एथलीट शामिल थीं। इस दल में से नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) ने जेवलिन थ्रो में 87.58 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रयास के साथ चेक गणराज्य की जोड़ी जाकुब वैडेलीच (Jakub Vadlejch) और वितेस्लाव वेसली (Vitezslav Vesely) से आगे निकल गए।

यह स्वतंत्रता के बाद एथलेटिक्स में भारत का पहला स्वर्ण पदक था और 2008 में अभिनव बिंद्रा की ऐतिहासिक पदक के बाद दूसरा व्यक्तिगत स्वर्ण पदक था। इसके साथ ही भारत की पदक तालिका सात तक पहुंच गई, जो कि लंदन 2012 में जीते गए छह की संख्या को पार करते हुए देश का अब तक की सर्वोच्च पदक संख्या है।

हालांकि, कुछ अन्य एथलीट भी थे, जिन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। आइए, एक नजर डालते टोक्यो में ट्रैक एंड फील्ड में भारत के एथलीटों के प्रदर्शन पर:

अविनाश साबले (Avinash Sable) (3000 मीटर स्टीपलचेज)

3000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा में 8:18.12 सेकेंड समय के बाद साबले हीट में सातवें स्थान पर रहे। यह एक नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड है, क्योंकि उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ 8:20.20 रिकॉर्ड तोड़ा, जिसे उन्होंने 2021 में पटियाला के फेडरेशन कप में बनाया था। पूरी स्पर्धा में वो 13वें स्थान पर रहे।

एमपी जाबिर (MP Jabir) (400 मीटर हर्डल)

जाबिर पुरुषों की 400 मीटर हर्डल के पहले राउंड में सातवें स्थान पर रहे और 50.77 सेकेंड में स्पर्धा को खत्म किया। 36 एथलीटों में से 33वें स्थान पर रहने के कारण उनका प्रदर्शन निराशाजनक रहा।

एम श्रीशंकर (M Sreeshankar) (लॉन्ग जम्प)

श्रीशंकर पुरुषों की लॉन्ग जम्प की हीट में 7.69 मीटर की सर्वश्रेष्ठ छलांग के साथ 13वें स्थान पर रहे। यह उनके 8.20 मीटर के व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से काफी पीछे था। अगर, उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया होता, तो वह अगले राउंड के लिए क्वालीफाई कर लेते।

तजिंदरपाल सिंह तूर (Tajinderpal Singh Toor) (शॉट पुट)

तूर ने 19.99 मीटर का थ्रो किया, जो उनके लिए अगले राउंड में क्वालीफाई करने के लिए पर्याप्त नहीं था। वह ग्रुप A में 13वें और ओवरऑल 24वें स्थान पर रहे।

शिवपाल सिंह (Shivpal Singh) (जेवलिन थ्रो)

सिंह ने 76.40 मीटर पर जेवलिन थ्रो किया और पूल B क्वालीफायर में 12वें स्थान पर रहे। नतीजतन, वह पहले राउंड में ही बाहर हो गए।

केटी इरफान, संदीप कुमार, और राहुल रोहिल्ला (20 किमी रेस वॉक)

तीनों में से कुमार ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और 1 घंटे 25 मिनट 07 सेकेंड में 23वें स्थान पर रहे। रोहिल्ला 47वें स्थान पर, जबकि इरफान 51वें स्थान पर आए।

गुरप्रीत सिंह (Gurpreet Singh) (50 किमी रेस वॉक)

सिंह 50 किमी के आयोजन को पूरा करने में विफल रहे और ऐंठन के कारण 35 किमी के निशान से बाहर हो गए। वह उस समय 2 घंटे, 55 मिनट और 19 सेकंड के समय के साथ 51वें स्थान पर थे।

अमोज जैकब, अरोकिया राजीव, मोहम्मद अनस, नागनाथन पांडी, नोआ निर्मल टॉम (4x400 मीटर रिले)

टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 3:00.25 सेकेंड का नया एशियाई रिकॉर्ड बनाया और पोलैंड (2:58.55), जमैका (2:59.29), और बेल्जियम (2:59.37) के बाद हीट 2 में चौथे स्थान पर रही। वे कुल मिलाकर नौवें स्थान पर रहे, 0.31 सेकंड से फाइनल में स्थान पक्का करने से चूक गए।

सार्थक भांबरी, एलेक्स एंटनी, रेवती वीरमणि, सुभा वेंकटेशन और धनलक्ष्मी शेखर (मिक्स्ड रिले)

भारत हीट 2 में 3:19.93 सेकेंड के समय के साथ आठवें स्थान पर रहा। ओलंपिक के इतिहास में यह पहली बार था, जब भारत ने इस स्पर्धा में क्वालीफाई किया था और वे कुल मिलाकर 13वें स्थान पर रहे थे।

कमलप्रीत कौर

दुती चंद (Dutee Chand) (100 मीटर और 200 मीटर)

चंद 100 मीटर में 11.10 सेकेंड के समय के बाद हीट में सातवें स्थान पर रहीं। वह कुल मिलाकर 45वें स्थान पर रहीं। जबकि, 200 मीटर स्पर्धा में उन्होंने 23.85 सेकेंड के समय के साथ हीट में सातवां स्थान हासिल किया। वह अपने व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ 23.00 सेकेंड से बहुत पीछे थीं।

कमलप्रीत कौर (Kamalpreet Kaur) और सीमा पूनिया (Seema Punia) (डिस्कस थ्रो)

कौर ने 64 मीटर के थ्रो के साथ पहले राउंड में दूसरा स्थान हासिल कर फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। जबकि, सीमा पूनिया 60.57 मीटर के स्कोर के साथ छठे स्थान पर रहीं। फाइनल में कौर 63.70 मीटर की दूरी तय कर छठे स्थान पर रहीं।

अन्नू रानी (Annu Rani) (जेवलिन थ्रो)

रानी का दिन अच्छा नहीं रहा, क्योंकि वह केवल 54.04 मीटर थ्रो करने में सफल रहीं और प्रारंभिक राउंड में 14वें स्थान पर रहीं।

भावना जाट (Bhawna Jat) और प्रियंका गोस्वामी (Priyanka Goswami) (20 किमी रेस वॉक)

गोस्वामी ने रेस की शानदार शुरुआत की और 8 किमी के निशान पर आगे चल रही थीं। लेकिन, बाद में वह अपनी रफ्तार को बरकरार नहीं रख पाईं और 1 घंटा 32 मिनट 36 सेकेंड के समय के साथ 17वें स्थान पर रहीं। जबकि, जाट को 1 घंटा 37 मिनट 38 सेकेंड में दौड़ पूरी कर 32वें स्थान से संतोष करना पड़ा।