थाईलैंड ओपन बैडमिंटन 2022: मालविका बंसोड़ और अश्मिता चालिहा ने मुख्य ड्रॉ के लिए किया क्वालीफाई

बैडमिंटन का वर्ल्ड टूर सुपर 500 सीरीज थाईलैंड ओपन का 34वां संस्करण मंगलवार (17 मई) से थाईलैंड के बैंकॉक में स्थित इंपैक्ट एरिना में शुरु हो गया है। यह टूर्नामेंट 22 मई तक चलेगा।

लेखक रौशन प्रकाश वर्मा
फोटो क्रेडिट Badminton Association of India

थाईलैंड ओपन बैडमिंटन 2022 के पहले दिन भारत की युवा शटलर मालविका बंसोड़ और अश्मिता चालिहा ने मुख्य ड्रॉ के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

महिलाओं की एकल प्रतिस्पर्धा में भारत की युवा शटलर और दुनिया की 57वें नंबर की खिलाड़ी मालविका बंसोड़ ने अपनी हमवतन शटलर अनुपमा उपाध्याय को 29 मिनट तक चले मुकाबले में 21-18, 21-8 से हराकर अगले दौर में जगह बना ली है।

इसके अलावा भारत की अश्मिता चालिहा ने अमेरिकी शटलर जेनी गे को 27 मिनट तक मुकाबले में 21-16, 21-18 से हराया। उन्होंने भी इस जीत के साथ अगले दौर में जगह बना ली है।

महिला एकल के राउंड ऑफ 32 मुकाबले में दुनिया की 65वें नंबर की शटलर अश्मिता चालिहा का मुकाबला बुधवार को दुनिया की आठवें नंबर की शटलर थाईलैंड की रत्चानोक इंतानोन से होगा। वहीं, मालविका बंसोड़ की भिड़ंत यूक्रेन की मारिया उलीटीना से होगा।

प्रियांशु राजावत ने भी फ्रांस के क्रिस्टोव पोपोव के खिलाफ 45 मिनट तक चले मुकाबले को 21-17, 21-16 से जीत लिया। हालांकि, वे अपनी जीत का सिलसिला जारी नहीं रख सके और क्वालीफिकेशन के क्वार्टर-फाइनल राउंड में चीन के ली शी फेंग के खिलाफ हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गए।

ली शी फेंग ने भारतीय खिलाड़ी को एक घंटे तक चले मुकाबले में 21-10, 22-24, 21-12 से हराया। पहले गेम में बड़े अंतर से हारने के बाद राजावत ने दूसरे गेम में चीनी शटलर को कड़ी चुनौती दी और गेम प्वाइंट बचाते हुए 22-24 से गेम को अपने नाम किया। लेकिन, तीसरे गेम में वह संघर्ष करते नज़र आए और 21-12 से हारकर मैच गंवा दिया।

दुनिया के 73वें नंबर के बैडमिंटन खिलाड़ी और ओड़िशा ओपन चैंपियन किरण जॉर्ज और शुभंकर डे भी अपने-अपने मैच हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गए।

क्वालीफिकेशन के राउंड ऑफ 16 में एक घंटे 9 मिनट तक चले रोमांचक मुकाबले में भारत के शुभंकर डे ने फ्रांस के खिलाड़ी अर्नॉड मर्कल को हराया। शुभंकर ने बढ़िया शुरुआत की और पहले गेम को 21-16 से अपने नाम कर लिया। हालांकि, उन्हें फ्रांसीसी शटलर से कड़ी चुनौती मिली। दूसरे गेम में मर्कल ने अच्छी वापसी की और मैच को निर्णायक गेम तक पहुंचा दिया। मर्कल ने दूसरा गेम 21-17 से अपने नाम किया।

तीसरे और निर्णायक गेम में शुभंकर डे ने एक बार फिर से वापसी करते हुए फ्रांस के शटलर पर दबाव बनाए रखा और अंततः 21-17 से गेम जीतकर मैच भी अपने नाम किया।

इसके बाद, क्वालीफिकेशन के क्वार्टर-फाइनल में शुभंकर को डेनमार्क के शटलर के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। मैड्स क्रिस्टोफरसन ने 53 मिनट तक चले मुकाबले में 21-14, 18-21, 21-7 से जीत दर्ज किया। पहले गेम में संघर्ष करने के बाद दूसरे गेम में भारतीय शटलर ने अच्छा खेल दिखाते हुए शानदार वापसी की। लेकिन, निर्णायक गेम में वो अपनी लय बरकरार नहीं रख सके और गेम के साथ ही मैच भी गंवा दिया।

इसके साथ ही शुभंकर डे की चुनौती टूर्नामेंट में खत्म हो गई है।

क्वालीफिकेशन राउंड के एक अन्य मुकाबले में भारत के किरण जॉर्ज ने डेनमार्क के खिलाड़ी विक्टर स्वेंडसेन को हराया। पहले गेम में 21-19 से शानदार जीत दर्ज करने के बाद किरण दूसरे गेम में पिछड़ गए और उन्हें 13-21 से हार का सामना करना पड़ा।

हालांकि, तीसरे और निर्णयाक गेम में भारतीय खिलाड़ी ने अपना दम-खम दिखाते हुए डेनिश खिलाड़ी को 21-13 से करारी शिकस्त देते हुए मैच को अपने नाम किया।

लेकिन, जॉर्ज को क्वालीफिकेशन के क्वार्टर-फाइनल मुकाबले में जर्मनी के काई शेफर के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। 59 मिनट तक चले मैच में 21-17, 14-21, 21-16 से हारकर किरण जॉर्ज टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं।

मिश्रित युगल प्रतिस्पर्धा में रत्चापोल मकासासिथोर्न और जेनिचा सुद्जयप्रपरत की थाई जोड़ी के खिलाफ भारतीय जोड़ी को हार का सामना करना पड़ा। एस संजीत और गौरी कृष्णा टीआर की भारतीय जोड़ी को थाईलैंड की जोड़ी ने 28 मिनट तक चले मैच में सीधे गेम में 21-17, 21-13 से हरा दिया।

पुरुषों के युगल प्रतिस्पर्धा में वसंत कुमार हनुमाया रंगनाथ और असिथ सूर्या की भारतीय जोड़ी चीन की जोड़ी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। लियांग वे केंग और वांग चांग की चीनी जोड़ी ने 23 मिनट तक मुकाबले में भारतीय जोड़ी को 21-7, 21-13 से हराकर टूर्नामेंट से बाहर कर दिया।

इसके अलावा अत्री मनु और सुमित बी रेड्डी की भारतीय जोड़ी को भी हार का सामना करना पड़ा। भारतीय जोड़ी को फज़र अल्फियान और मुहम्मद रियान अरडियांटो की इंडोनेशियाई जोड़ी ने 30 मिनट तक चले मुकाबले में 21-16, 21-13 से हराया।

वहीं, ईशान भटनागर-साई प्रतीक की जोड़ी को भी जापान के अकीरा कोगा और ताइची साइटो की जोड़ी से 22-20, 21-19 से हार झेलनी पड़ी।

सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की गैर-मौजूदगी में भारत की शीर्ष युगल जोड़ी एमआर अर्जुन और ध्रुव कपिला को राउंड ऑफ-32 में चीनी ताइपे के ली जे-हुई और यांग पो-हुआन से 21-12, 19-21, 21 से हार का सामना करना पड़ा।

पुरुष एकल प्रतिस्पर्धा में वर्ल्ड रैंकिंग में 11वें नंबर पर काबिज भारत के किदांबी श्रीकांत का मुकाबला बुधवार को फ्रांस के ब्रिस लेवरडेज के खिलाफ होगा। इसके अलावा भारत की ओर से स्टार शटलर पीवी सिंधु, साइना नेहवाल, आकर्षी कश्यप, मालविका बंसोड़, एचएस प्रणॉय भी बुधवार को कोर्ट पर खेलते हुए नजर आएंगे।

थाईलैंड ओपन 2022: पहले दिन का परिणाम

पुरुष एकल

पहला क्वालीफाइंग राउंड: प्रियांशु राजावत ने क्रिस्टोव पोपोव को 21-17, 21-16 से हराया; किरण जॉर्ज ने विक्टर स्वेंडसन को 21-19, 13-21, 21-13 से हराया; शुभंकर डे ने अरनॉड मर्कल को 21-16, 17-21, 21-17 से हराया।

दूसरा क्वालीफाइंग राउंड: प्रियांशु राजावत, ली शी फेंग से 21-10, 22-24, 21-12 से हार गए; किरण जॉर्ज काई शेफर से 21-17, 14-21, 21-16 से हार गए; शुभंकर डे मैड्स क्रिस्टोफरसन से 21-14, 18-21, 21-7 . से हार गए।

महिला एकल

क्वालीफाइंग राउंड: मालविका बंसोड़ ने अनुपमा उपाध्याय को 21-18, 21-8 से हराया; अश्मिता चालिहा ने जेनी गाई को 21-16, 21-18 से हराया।

पुरुष युगल

क्वालीफाइंग राउंड: वसंत कुमार हनुमाया रंगनाथ-असिथ सूर्या की जोड़ी लियांग वेई केंग-च्वांग चांग से 21-7, 21-13 से हार गए।

मुख्य ड्रॉ: अत्री मनु-बी सुमित रेड्डी की जोड़ी फजर अल्फियान-मुहम्मद रियान अरडियांटो से 21-16, 21-13 से हार गई; एमआर अर्जुन और ध्रुव कपिला की जोड़ी ली जे-हुई और यांग पो-हुआन से 21-12, 19-21, 21-19 से हार गई।

महिला युगल

मुख्य ड्रॉ: हरिता मनझियिल हरिनारायणन-आशना रॉय की जोड़ी मैकेन फ्रूएगार्ड और सारा थिगेसेन से 21-5, 21-5 से हार गई।

मिश्रित युगल

क्वालीफाइंग राउंड: एस. सुंजीत-टीआर गौरी कृष्णा की जोड़ी रत्चापोल मकासासिथॉर्न-जेनिचा सुद्जयप्रपरत से 21-17, 21-13 से हार गई।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स