टेनिस: कैनेडियन ओपन के क्वार्टर फाइनल में पहुंचे रोहन बोपन्ना-इवान डोडिग

टोक्यो 2020 क्वालीफिकेशन से चूकने के बाद भारतीय टेनिस खिलाड़ी अपने सीज़न को फिर से पटरी पर लाने की उम्मीद कर रहे हैं।  

लेखक दिनेश चंद शर्मा
फोटो क्रेडिट Getty Images

भारत के शीर्ष युगल खिलाड़ी रोहन बोपन्ना (Rohan Bopanna) क्रोएशिया के इवान डोडिग (Ivan Dodig) के साथ टोरंटो में ATP मास्टर्स इवेंट के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए हैं।

टूर्नामेंट में आठवीं वरीयता प्राप्त बोपन्ना-डोडिग ने बुधवार शाम को अंतिम 16 के राउंड में सिमोन बोलेली (Simone Bolelli) और मैक्सिमो गोंजालेज (Maximo Gonzalez) को 6-4, 6-3 से हराया। उनका अगला मुकाबला राजीव राम (Rajeev Ram)-जो सेल्सबरी (Joe Sailsbury) और एंड्री गोलूबेव (Andrey Golubev)-एंड्रियास मिज़ (Andreas Mies) के बीच होने वाले मैच के विजेता से होगा।

डोडिग ने पूर्व US ओपन चैंपियन मारिन सिलिच (Marin Cilic) के साथ टोक्यो 2020 में पुरुष युगल में रजत पदक जीता था। सभी क्रोएशियाई खिलाड़ियों के बीच हुए मुकाबले में मेट पाविक ​​(Mate Pavic) और निकोला मेक्टिक (Nikola Mektic) ने सिलिच-डोडिग को 6-4, 4-6, 10-6 से हराया था।

2017 कैनेडियन ओपन के दौरान रोहन बोपन्ना और इवान डोडिग।
फोटो क्रेडिट 2017 Getty Images

वहीं, 41 वर्षीय बोपन्ना टोक्यो 2020 क्वालीफिकेशन से चूकने के बाद अपने सीजन को फिर से पटरी पर लाने की उम्मीद कर रहे हैं। भारतीय का इस सीजन में अब तक 9-16 का जीत-हार का रिकॉर्ड था और उन्होंने अभी तक डबल खिताब नहीं जीता है।

उन्होंने जून में फ्रेंच ओपन (French Open) के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई, लेकिन अन्य प्रमुख आयोजनों में अपनी छाप छोड़ने में विफल रहे। बोपन्ना विंबलडन (भारतीय दिविज शरण के साथ) और ऑस्ट्रेलियन ओपन (बेन मैकलाचलन के साथ) के शुरुआती दौर में हार गए थे।

बोपन्ना और दुनिया के 11वें नंबर के खिलाड़ी डोडिग ने पिछले हफ्ते वाशिंगटन ओपन में इस साल पहली बार टीम बनाई। हालांकि, वे पहले ही दौर में दो स्थापित एकल खिलाड़ी निक किर्गियोस (Nick Kyrgios) और फ्रांसेस टियाफो (Frances Tiafoe) के खिलाफ 5-7, 6-1, 9-11 से हारकर बाहर हो गए।