ओलंपिक शीतकालीन खेलों के इतिहास में सबसे अद्भुत ख़ुशी मनाने के क्षण

शीतकालीन ओलंपिक पदक जीतने के बाद खिलाड़ी कैसे ख़ुशी मनाते हैं? नव वर्ष का स्वागत करने और बीजिंग 2022 के लिए तैयार होने के लिए ओलंपिक शीतकालीन खेलों के इतिहास में खिलाड़ियों द्वारा दिए गए कुछ अद्भुत क्षणों को देखिये।

लेखक Vikram Mahendra
फोटो क्रेडिट Richard Heathcote/Getty Images

नया साल आ चुका है और ओलंपिक शीतकालीन खेल सिर्फ 30 दिन दूर हैं। नए वर्ष का स्वागत करने के लिए पूरा विश्व ख़ुशी मनाता है और हम अगले महीने अनेक खिलाड़ियों को बीजिंग 2022 खेलों में आनंदित होते हुए देखेंगे। लेकिन इससे पहले की चीन जनवादी गणराज्य में शीतकालीन खिलाड़ी पहुंचे, हम आपको दिखाएंगे कि खिलाड़ियों ने पिछले ओलंपिक खेलों में कैसे ख़ुशी मनायी।

बर्फ पर यूएसकी अविश्वसनीय जीत

यूएसए की पुरुष आइस हॉकी टीम ने साल 1980 के शीतकालीन ओलंपिक खेलों में इतिहास के सबसे बड़े उलटफेरों में से एक पूरे विश्व के सामने किया। जब उन्होंने स्वर्ण पदक मुकाबले में सोवियत संघ को हराया तो उनकी ख़ुशी का कोई ठिकाना नहीं था।

लेक प्लेसिड 1980 खेलों में यूएसए को अपनी जीत के बाद ख़ुशी मनाते हुए नीचे देखिये

Baiul ने जीता स्वर्ण और रचा यूक्रेन के लिए इतिहास

साल 1994 के लिल्लेहैमर खेलों में Oksana Baiul न केवल अपने देश के लिए स्वर्ण जीतने वाली पहली खिलाड़ी बनी बल्कि वह स्वतंत्र यूक्रेन की पहली ओलंपिक स्वर्ण विजेता बनी। एक शानदार स्केटिंग प्रदर्शन के बाद 16 वर्षीय Baiul की आँखों में पदक पटल पर आंसू आ गए।

Baiul को इतिहास रचते हुए नीचे देखिये

Hanyu के ऊपर हुई विन्नी द पूह की बारिश

पिछले कुछ दशकों में जापान के Hanyu Yuzuru ने जो कला बर्फ पर दिखाई है वैसी क्षमता बहुत कम खिलाड़ी रखते हैं। साल 2018 प्योंगचांग खेलों में उन्होंने फिर एक बार अद्भुत और मंत्रमुग्ध करने वाला प्रदर्शन दिखाया। Hanyu का स्वर्ण जीतना लगभग तय था लेकिन उसके बाद जो हुआ वह पहले कभी नहीं देखा गया था। प्रतियोगिता स्थल में उपस्थित दर्शकों ने जापान के इस महान खिलाड़ी को अपना प्रेम दिखाने के लिए Hanyu के ऊपर विन्नी द पूह के खिलौनों की वर्षा करते हुए पूरा वातावरण प्रफुल्लित कर दिया।

प्योंगचांग 2018 खेलों में हुई Hanyu पर 'पूह की वर्षा,' नीचे देखिये

हंगरी की टीम ने जीता देश का पहला स्वर्ण

भाइयों की जोड़ी Shaolin Liu और Shaoang Liu अथवा Viktor Knoch और Csaba Burjan ने साथ मिल के हंगरी के इतिहास का पहला शीतकालीन ओलंपिक स्वर्ण जीता और यह सफलता उन्हें प्योंगचांग 2018 खेलों की 5000 मीटर शार्ट ट्रैक रिले प्रतियोगिता में मिली।

नीचे: देखिये कैसे हंगरी की टीम ने मनायी स्वर्ण जीतने की ख़ुश

Marit Bjørgen बनी इतिहास की महानतम खिलाड़ी

नॉर्वे की क्रॉस कंट्री स्कीयर Marit Bjørgen ने जब 2018 प्योंगचांग खेलों में पदक जीता तब वह 15 पदकों के साथ इतिहास की सबसे सफल ओलंपिक खिलाड़ी बनी। जब वह पदक पटल पर चढ़ी तो उनके चेहरे पर ख़ुशी देखने लायक थी।

Bjørgen के खेल जीवन का सर्वश्रेष्ठ क्षण नीचे देखिये

Steven Bradbury का अद्भुत सपना हुआ पूरा

साल्ट लेक सिटी ओलंपिक खेलों से पहले, Steven Bradbury को किसी ने भी पदक दावेदार नहीं समझा था। खेल बहुत सारी अद्भुत चीज़ें दिखाता है और Bradbury का जीवन उस क्षण बदल गया जब उनके प्रतिद्वंदी लड़खड़ाए और हार गए। उस दिन Bradbury के द्वारा सालों की गयी मेहनत काम आयी और उन्होंने स्वर्ण पदक जीता।

नीचे: देखिये Bradbury ने कैसे जीता यह अविश्वसनीय स्वर्ण।

दस साल का इंतज़ार हुआ समाप्त

क्या आपने कभी किसी चीज़ के लिए जीवन भर परिश्रम किया है और आपको लगा हो कि वह आपको कभी नहीं मिलेगा? यूएसए के स्पीड स्केटर Daniel Jansen को अपने ओलंपिक करियर में ऐसा ही महसूस हुआ था और जब वह 1994 शीतकालीन खेलों के लिए लिल्लेहैमर पहुंचे तो स्वर्ण जीतने का वह उनके जीवन का अंतिम अवसर था। विश्व के सारे ख़िताब जीत चुके Jansen ने अंत में वह कर दिखाया जो उन्होंने एक बार सोचा था शायद कभी नहीं होगा।

नीचे: Jansen का स्वर्ण जीतने वाला भावुक क्षण

Shea परिवार की परंपरा, Jim की विजय

यूएसए के स्केलेटन रेसर Jim Shea साल 2002 के शीतकालीन ओलंपिक खेलों से पहले बहुत ज़्यादा दबाव में थे और उसके कई कारण थे। न केवल वह अपने देश में खेल रहे थे, उन्हें अपनी परिवार की परंपरा का पालन करना था क्योंकि उनके पिता अथवा दादा ओलंपिक खेलों में भाग ले चुके थे। साल्ट लेक सिटी खेलों में उन्होंने वही किया जो उनके परिवार के किसी सदस्य से अपेक्षा थी - पदक विजय।

नीचे: देखिये कैसे मनायी Jim Shea ने अपनी जीत

Ito Midori का यादगार रजत

जापानी स्केटर Ito Midori ओलंपिक इतिहास की सबसे महान खिलाड़ियों में से हैं जिन्होंने स्वर्ण नहीं जीता लेकिन उन्होंने पूरे विश्व को 1992 अल्बर्टविल खेलों में एक ऐसा क्षण जो सबको याद रहेगा। Nancy Kerrigan, Tonya Harding और Surya Bonaly जैसी खिलाड़ियों के विरुद्ध खेलते हुए उन्हें पदक जीतने के लिए कुछ अद्भुत करना था। उनका निर्णय? ट्रिपल एक्सेल।

देखिये कैसे Midori ने मनायी इस अद्भुत प्रदर्शन की ख़ुशी

टू मैन बॉबस्ले फाइनल में दो स्वर्ण विजेता

साल 2018 प्योंगचांग खेलों में विश्व को एक अनोखी अथवा अद्भुत घटना देखने को मिली। कनाडा की जोड़ी Justin Kripps और Alexander Kopacz ने टू मैन फाइनल में उतना ही समय रिकॉर्ड किया जो जर्मनी के Francesco Friedrich और Thorsten Margis का था। इसके कारण दोनों को स्वर्ण विजेता घोषित किया गया और यह इस प्रतियोगिता के इतिहास में सिर्फ दूसरा मौका था जब ऐसा हुआ।

नीचे: देखिये ओलंपिक इतिहास के सबसे अद्भुत क्षणों में से एक

वह स्वर्ण जो शायद Vonn कभी नहीं जीत पाती

वैंकुवर 2010 खेलों से पहले एक चोट के कारण Lindsey Vonn का ओलंपिक खेलों में भाग लेना संदिघ्द था लेकिन कनाडा के मौसम की वजह से अल्पाइन स्कीइंग प्रतियोगिता विलम्बित कर दी गयी। इस घटना ने Vonn को ठीक होने का समय दे दिया और अंत में इतना ही उनके लिए काफी था। 

देखिये Vonn ने कैसे मनायी स्वर्ण की ख़ुशी

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स