2021 महिला एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी में सविता पूनिया संभालेंगी भारतीय टीम की कमान  

महिला एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी के पिछले संस्करण में भारत उपविजेता रहा था।

लेखक दिनेश चंद शर्मा

ओलंपियन सविता पूनिया (Savita Punia) 2021 महिला एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी (Women's Asian Champions Trophy) के लिए भारत की 18 सदस्यीय टीम का नेतृत्व करेंगी। इसको लेकर शुक्रवार को हॉकी इंडिया ने घोषणा की। जबकि, दक्षिण कोरिया के डोंगहे में 5 से 12 दिसंबर तक चलने वाली इस प्रतियोगिता में अनुभवी डिफेंडर दीप ग्रेस एक्का (Deep Grace Ekka) उपकप्तान होंगी।

भारत ने 2016 में प्रतियोगिता का खिताब जीता था। जबकि आखिरी बार 2018 में आयोजित टूर्नामेंट में दक्षिण कोरिया विजेता और भारत उपविजेता रहा था।

टीम में गोलकीपर रजनी एतिमारपू (Rajani Etimarpu) और डिफेंडर उदिता (Udita), निक्की प्रधान (Nikki Pradhan), गुरजीत कौर (Gurjit Kaur) शामिल हैं, जो टोक्यो 2020 टीम का हिस्सा रही थीं। मिडफ़ील्ड के रूप में सुशीला चानू पुखरंबम (Sushila Chanu Pukhrambam), निशा (Nisha), मोनिका (Monika), नेहा (Neha), ज्योति (Jyoti) शामिल हैं। नमिता टोप्पो (Namita Toppo) और उनकी ओडिशा राज्य की साथी लिलिमा मिंज (Lilima Minz) को भी टीम में चुना गया है।

ओलंपियन और गोल स्कोरर वंदना कटारिया (Vandana Katariya) और नवनीत कौर (Navneet Kaur) प्रमुख फारवर्ड होंगी और उन्हें राजविंदर कौर (Rajwinder Kaur), मारियाना कुजूर (Mariana Kujur) और सोनिका (Sonika) का सहयोग मिलेगा।

नवजोत कौर (Navjot Kaur) और युवा सुमन देवी थौडम (Suman Devi Thoudam) को वैकल्पिक खिलाड़ियों के रूप में शामिल किया गया है, जिन्हें किसी खिलाड़ी के चोटिल होने पर या 18 सदस्यीय टीम में से किसी खिलाड़ी के कोविड-19 से संक्रमित होन के कारण टूर्नामेंट से बाहर हो जाने पर उन्हें खेलने का मौका मिलेगा।

वंदना कटारिया 

मुख्य कोच जानेके शोपमैन (Janneke Schopman) ने कहा, "कुछ दुर्भाग्यपूर्ण चोटों और दक्षिण अफ्रीका में जूनियर विश्व कप के लिए सीनियर खिलाड़ियों के जूनियर टीम में शामिल होने के बावजूद, मुझे लगता है कि हमने आगामी महिला एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी के लिए एक अच्छी टीम का चयन किया है। यह टूर्नामेंट कुछ नए युवा खिलाड़ियों के लिए एक अच्छा अवसर होगा। उच्चतम अंतरराष्ट्रीय स्तर का अनुभव प्राप्त होगा और मैं यह देखने के लिए उत्साहित हूं कि क्या हम अपने प्रशिक्षण तरीकों को उसी तरह से लगातार लागू कर सकते हैं।" 

उन्होंने आगे कहा, "मुझे यकीन है कि टोक्यो ओलंपिक में हमारी सफलता के बाद हमसे उम्मीदें अधिक हैं, लेकिन हम सभी फिर से शून्य से शुरू करेंगे। मुझे विश्वास है कि हम अपनी क्षमताओं को दिखा सकते हैं और अपनी टीम को लगातार तेज गति से खेलने की लिए प्रेरित करेंगे।"  

भारतीय महिलाएं टूर्नामेंट के उद्घाटन दिवस से ही अपने अभियान की शुरुआत करेंगी और छह टीमों के आयोजन में चीन, दक्षिण कोरिया, जापान, थाईलैंड और मलेशिया से भिड़ेंगी।

भारत का पहले दिन का मुकाबला थाईलैंड से होना है। इसके बाद टीम मलेशिया (6 दिसंबर) और गत चैंपियन दक्षिण कोरिया (8 दिसंबर) से भिड़ेगी। चीन और जापान के खिलाफ उनके अगले मैच क्रमशः 9 और 11 दिसंबर को होंगे।

फाइनल मुकाबला 12 दिसंबर को पूल में शीर्ष दो टीमों के बीच होगा।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स