बीजिंग 2022 पैरालंपिक विंटर गेम्स: विंटर और समर गेम्स के स्टार्स से मिलिए

पैरालंपियन के लिए विभिन्न खेल में प्रतिस्पर्धा करना बिल्कुल असामान्य बात नहीं है। लेकिन विंटर और समर दोनों पैरालंपिक गेम्स में हिस्सा लेने वाले एथलीटों की लिस्ट ज्यादा लंबी नहीं है। यहां हम पांच अविश्वसनीय महिला एथलीटों के बारे में बात कर रहे हैं…

लेखक ओलंपिक चैनल
फोटो क्रेडिट 2022 Getty Images

Oksana Masters, संयुक्त राज्य अमेरिका

Oksana Masters ने चार खेलों में दस पैरालंपिक पदक जीते हैं: जिनमें पैरालंपिक विंटर गेम्स में बायथलॉन और क्रॉस-कंट्री स्कीइंग और समर गेम्स में रोइंग और साइकिलिंग शामिल हैं।

लेकिन वह लोगों के यह मानने से नफरत करती हैं कि वह किसी तरह की सुपर ह्यूमन हैं, जिन्हें सिर्फ जीतना ही आता है।

जैसा कि उन्होंने Olympics.com को बताया, दूसरों का उन पर विश्वास करने का महत्व और कभी-कभी खुद पर विश्वास करने में वह बार-बार असफल होती हैं। इसकी शुरुआत उनकी मां से हुई, जिन्होंने, "मुझपर इतना विश्वास किया कि मैं उन्हें सही साबित करना चाहती थी।"

14 साल की उम्र में उनके दोनों पैर काट दिए गए थे। उनके हाथ में भी समस्या है, जिसका मतलब यह है कि उन्हें अपने स्कीइंग दस्ताने और ग्रिप्स पर टेप लगाना होगा।

छह महीने पहले टोक्यो 2020 पैरालंपिक गेम्स में Masters ने दो साइकिलिंग स्वर्ण पदक जीते। इससे पहले उनकी लिम्फ नॉड्स और एक ट्यूमर को हटाने के लिए सर्जरी की गई थी और उन्होंने सर्जरी के 100 दिन बाद प्रतिस्पर्धा की।

उन्होंने सोचा था कि गेम्स में अब वह दोबारा प्रतिस्पर्धा नहीं कर पाएंगी और उनका अवसर खत्म हो गया है।

लेकिन चार खेलों के बीच और समर और विंटर डिस्पिलिन के बीच संक्रमण ने इसे मुश्किल बना दिया, चाहे मास्टर्स इसे स्वीकार करें या नहीं।

Masters ने खुद को समझाया, "संक्रमण आसान नहीं है, न ही प्यारा है, और न ही सुंदर है।"

"आप सैद्धांतिक रूप से उतने ही फिट हैं जितने कि आप समर गेम्स के लिए हो सकते हैं और फिर आप अपने विंटर गेम्स में प्रतिस्पर्धा के लिए जाते हैं। यह ऐसा है कि जैसे आपने अपने पूरे जीवन में कभी काम नहीं किया।

"साइकिलिंग शरीर के सभी हिस्सों को एक्टिव रखता है, इसलिए कंधे, छाती और बाइसेप्स फिट रहते हैं। और स्कीइंग में आप छाती, बाइसेप्स और कंधों की जगह यह लैट्स और कोर पर जोर देता है।”

Birgit Skarstein, नॉर्वे

Birgit Skarstein नॉर्वे की पहली पैरालंपिक चैंपियन बनीं, जब उन्होंने टोक्यो 2020 में वूमेंस सिंगल्स स्कल्स PR1 जीता था।

वह प्योंगचांग 2018 पैरालंपिक विंटर गेम्स में नॉर्वे की ध्वजवाहक थीं। वह वूमेंस पांच किमी क्रॉस-कंट्री स्कीइंग में सातवें स्थान पर रहीं।

और अगर किसी को उनकी बहुमुखी प्रतिभा पर संदेह है, तो बता दें कि उन्होंने नॉर्वेजियन टेलीविजन के स्कल वी डांस में भी अभिनय किया? (क्या हम डांस करेंगे?)

2010 में एक दुर्घटना के बाद गलत एपिड्यूरल इंजेक्शन लगने के कारण Skarstein को कमर से नीचे तक लकवा मार गया था।

उन्होंने सोची 2014 में अपना विंटर पैरालंपिक पदार्पण किया, और रियो 2016 में रोइंग पोडियम से चूक गईं।

उन्होंने वर्ल्ड रोइंग को बताया, रोइंग उनकी प्राथमिकता है। "मैं एक बेहतर रोवर बनने के लिए स्कीइंग में प्रशिक्षण और प्रतिस्पर्धा करती हूं और इसे एक बेहतरीन संयोजन मानती हूं।"

"खेल और गतिविधियों को बदलने से मुझे और अधिक प्रशिक्षित करने और चोटों के जोखिम को कम करने के लिए बेहतर प्रशिक्षण करने में सक्षम बनाता है। रोइंग मुझे एक बेहतर स्कीयर बनाता है क्योंकि यह मुझे ताकत और सहनशक्ति के साथ-साथ प्रतिस्पर्धी मानसिकता भी देता है।

"स्कीइंग मुझे बुनियादी प्रशिक्षण के रूप में आवश्यक समय देता है।

न्होंने Olympics.com को बताया कि टोक्यो को प्राथमिकता देते हुए कुछ ऐसे विकल्प चुने हैं, जो बीजिंग में उनके अवसरों को कम कर सकते हैं।

लेकिन वह बिना किसी संदेह के स्कल वि डांस पर अपने अनुभव से प्रेरणा लेंगी?

"सिर्फ इसलिए कि आपने इसे नहीं देखा है, इसका मतलब यह नहीं है कि यह वास्तविक नहीं है या यह मौजूद नहीं है, या यह नहीं किया जा सकता है।"

Jessica Gallagher, ऑस्ट्रेलिया

Jessica Gallagher के करियर को पहली बार ऑस्ट्रेलियन उपलब्धियों के कारण पहचान मिली।

लेकिन जब बात पहली बार की आती है तो Gallagher पैरा एल्पाइन स्कीइंग वैंकूवर 2010 में अपने पैरालंपिक विंटर गेम्स की शुरुआत को याद करती हैं।

न्होंने पैरालंपिक ऑस्ट्रेलिया को बताया, "वैंकूवर मेरा पहला विंटर गेम्स था, यह वास्तव में नया जादुई विंटर वंडरलैंड था।"

"मुझे वास्तव में अविश्वसनीय ऊर्जा महसूस हुई क्योंकि मुझे पता था कि मैं अपने जन्मदिन पर ऑस्ट्रेलिया के लिए पैरालंपिक में पदार्पण करने जा रही हूं।"

वैंकूवर में Gallagher के स्लैलम कांस्य ने उन्हें पैरालंपिक विंटर गेम्स में पदक जीतने वाली पहली ऑस्ट्रेलियन महिला बन गईं।

वह समर और विंटर दोनों गेम्स में ऑस्ट्रेलिया का प्रतिनिधित्व करने वाली पहली एथलीट बनीं, जब उन्होंने लंदन 2012 में लंबी कूद और जैवलिन में हिस्सा लिया।

आखिरकार वह खेलों के दोनों संस्करणों में पदक जीतने वाली पहली ऑस्ट्रेलियन बनीं। उन्होंने पैरा-साइकिलिंग में वूमेंस एक किमी टाइम ट्रायल में कांस्य पदक जीता।

उन्होंने सोची 2014 में वूमेंस जायंट स्लैलम में कांस्य पदक भी जीता।

लेकिन वह कहती हैं कि अल्पाइन स्कीइंग में स्टेक्स सबसे ऊंचे होते हैं, जहां एक गाइड दृष्टिबाधित एथलीटों के सामने स्की करता है और ब्लूटूथ हेडसेट के माध्यम से निर्देशों का संचार करता है।

"स्कीयर और गाइड के बीच विश्वास जरूरी होता है, जो किसी अन्य के लिए नहीं है।" हेडसेट के माध्यम से आने वाले निर्णय और निर्देश एक सेकंड के दसवें हिस्से के अंदर दिए जाते हैं।

"जिन विभिन्न खेलों में मैंने प्रतिस्पर्धा की है, निस्संदेह स्की रेसिंग सबसे मुश्किल है क्योंकि एक बार जब आप स्पीड और भय को जोड़ देते हैं, तो यह खेल को बदल देता है क्योंकि गलतियां होने पर वास्तविक परिणाम सामने होते हैं।"

Momoka Muraoka, जापान

Momoka Muraoka दिल से स्कीयर हैं।

उनका पहला व्हीलचेयर खेल का अनुभव एथलेटिक्स पर फोकस था।

लेकिन जब एक एथलेटिक्स दोस्त ने उन्हें स्लोप पर आने के लिए आमंत्रित किया, तो वह "स्पीड और उत्साह की असाधारण अनुभूति से प्रेरित हो गई जिसे वास्तव में अपने सामान्य जीवन में अनुभव नहीं कर सकते"

17 साल की उम्र में वह सोची 2014 में जायंट स्लैलम में पांचवें स्थान पर रहीं।

प्योंगचांग 2018 में उन्हें जापान के ध्वजवाहक के रूप में चुना गया था। कुछ एथलीटों ने इस सम्मान को पूरी तरह से सही ठहराया।

Muruoka के अल्पाइन स्कीइंग पदक में दो कांस्य पदक, दो रजत और जायंट स्लैलम में एक स्वर्ण पदक शामिल है।

तब उनके देश में पैरालंपिक समर गेम्स के लिए एक छोटा सा सवाल था।

न्होंने टोयोटा टाइम्स को बताया, सबसे पहले, मेरा रवैया थोड़ा ईर्ष्यापूर्ण था कि जापान में पैरालंपिक खेलों का आयोजन किया जाएगा। मैंने अपनी सारी ऊर्जा प्योंगचांग 2018 पर केंद्रित की थी, लेकिन टोक्यो 2020 के लिए मेरे मन में कोई ऐसी मजबूत भावना नहीं थी।”

"हालांकि, प्योंगचांग 2018 खत्म होने के बाद मुझे लगने लगा था कि मैं फिर से एथलेटिक्स की कोशिश करना चाहती हूं, जो मैंने एक बच्चे के रूप में सीखना शुरू की।

"अगर थोड़ी सी भी संभावना होती कि मैं [टोक्यो में] प्रतिस्पर्धा कर सकती हूं, तो मैं जरूर प्रयास करती।"

Muruoka को चार साल की उम्र में ट्रांसवर्स मायलाइटिस का पता चला था। उन्हें जापानी 100 मीटर रिकॉर्ड तोड़ने के लिए सिर्फ दो महीने के प्रशिक्षण की जरूरत थी।

टोक्यो 2020 में वह वूमेंस T54 100 मीटर में छठे स्थान पर रहीं

उन्होंने कहा, "एक साल के लिए पैरा एथलेटिक्स के लिए खुद को समर्पित करने के बाद मुझे एक एथलीट के रूप में खुद के बारे में पता चला।"

"मैं चिंतित थी, लेकिन मैंने 2020 पैरालंपिक का भरपूर आनंद लिया। क्योंकि मैं एथलेटिक्स में उस सपने को हासिल करने में सक्षम थी, जो मैंने बचपन में देखा था।

"मुझे कोई पछतावा नहीं था। मैं तरोताजा महसूस कर रही थी।"

Danielle Aravich, संयुक्त राज्य अमेरिका

यदि पैरालंपिक समर और विंटर गेम्स दोनों में प्रतिस्पर्धा करना मुश्किल नहीं था। Danielle Aravich विपरीत मांगों के साथ दो डिस्पिलिन में प्रतिस्पर्धा करती हैं।

टोक्यो 2020 में उन्होंने T47 400 मी में रेस की। बीजिंग 2022 में वह क्रॉस-कंट्री स्कीइंग और बायथलॉन में सफलता के लिए आगे बढ़ रही होंगी।

न्होंने वाशिंगटन टाइम्स को बताया, "यह दो पूरी तरह से अलग सिस्टम हैं। यदि आप नॉर्डिक के बारे में सोचते हैं, तो यह लंबी दूरी की अवायवीय स्थिरता है। स्प्रिंटिंग के लिए यह तेज-झटके से खींचना है। इसलिए जरूरी नहीं है कि दोनों को एक साथ लाना एक दूसरे के लिए फायदेमंद हो।

हालांकि, टोक्यो में उनके पास बहुत कम विकल्प थे। Aravich दुर्बलता के कारण वह अपने बाएं अग्रभाग के बिना पैदा हुई थीं। जो उन्हें सिर्फ स्प्रिंट ट्रैक इवेंट में क्वालीफाई करने के योग्य बनाती है।

वह टोक्यो में अपनी हीट में क्वालीफाई नहीं कर पाईं। वह अभी सारा ध्यान विंटर गेम्स पर केंद्रित कर सकती हैं।

"मैं वास्तव में आगे बढ़ने के बारे में पूरी तरह से तैयार नहीं हूं। मुझे नहीं पता कि ट्रैक और फील्ड करियर क्या होगा। क्योंकि मैंने नॉर्डिक स्कीइंग में बहुत अधिक निवेश किया है और मैं इस खेल में अपने लिए बहुत लंबा भविष्य देखती हूं। इसलिए मैं अपनी उम्मीदों के साथ यथार्थवादी हूं।"

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स