बीजिंग 2022 ओलंपिक शीतकालीन खेलों के लिए ओलंपिक लौ जलाई गई

आज प्राचीन ओलंपिक खेलों के स्थल पर एक समारोह के दौरान ओलंपिक लौ जलाई गई। इसके साथ, इसने चीन की अपनी यात्रा की शुरुआत को चिह्नित किया, जहां, केवल 100 दिनों में विंटर खेलों की शुरुआत होगी।

लेखक William Imbo
फोटो क्रेडिट AFP

आज, ओलंपिक शीतकालीन खेलों बीजिंग 2022 के लिए ओलंपिक लौ ओलंपिया, ग्रीस में एक आधिकारिक समारोह में जलाई गई।

आईओसी के अध्यक्ष Thomas Bach भी प्राचीन ओलंपिया में हेरा के मंदिर, जो कि प्राचीन ओलंपिक खेलों का स्थल है, वहां लौ को जलते देखने के लिए उपस्थित थे।

और जैसा कि मार्च 2020 में टोक्यो ओलंपिक के लिए फ्लेम लाइटिंग समारोह के मामले में था, इस आयोजन में भी सख्त कोरोनावायरस प्रतिबंधों का पालन किया गया था, जिसमें दर्शकों को प्रतिबंधित किया गया और केवल अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति, ग्रीक और चीनी ओलंपिक समितियों के सदस्य, ग्रीस की अध्यक्ष Katerina Sakellaropoulou और मीडिया के सदस्यों को कार्यक्रम स्थल पर जाने की अनुमति दी गई।

‘ओलंपिक खेल सबको एकजुट रखते हैं’

ओलंपिक की लौ जलने से पहले, बीजिंग 2022 के उपाध्यक्ष, Yu Zaiqing ने पोडियम पर खड़े होकर एक "सुरक्षित और शानदार" ओलंपिक शीतकालीन खेलों की मेजबानी करने का वादा भी किया।

इस बारे में उन्होंने कहा, "चीनी सरकार के मजबूत नेतृत्व में और दुनियाभर के लोगों के समर्थन से हम दुनिया को एक सुव्यवस्थित, सुरक्षित और शानदार ओलंपिक खेल प्रदान कर सकते हैं और करेंगे भी।

उनके अलावा, आईओसी के अध्यक्ष Bach ने यह भी स्पष्ट किया कि ओलंपिक खेल हमेशा संघर्ष से एक कदम ऊपर रहे हैं:

"हमारी इस नाजुक दुनिया में, जहां विभाजन, संघर्ष और अविश्वास बढ़ रहा है, ओलंपिक खेल हमेशा सबको एकजुट करता है। वे कभी भी दीवारें नहीं खड़ी करता।

उन्होंने आगे कहा, “ओलंपिक खेल हमारी दुनिया की सभी चुनौतियों का समाधान नहीं कर सकता, लेकिन ओलिंपिक खेलों ने एक ऐसी दुनिया के लिए एक मिसाल कायम की जहां हर कोई समान नियमों और एक-दूसरे का सम्मान करता है। वे हमें दोस्ती और एकजुटता में समस्याओं को हल करने के लिए प्रेरित करते हैं। वे लोगों के बीच बेहतर समझ और दोस्ती के लिए सेतुओं का निर्माण करता है।”

एक अलग और अपनी तरह की रिले

ग्रीक अभिनेत्री Xanthi Georgiou ने एक परवलयिक दर्पण का उपयोग करके सूर्य की किरणों से एक मशाल जलाते हुए, महायाजक की भूमिका निभाई। फिर ओलंपिक लौ को पहले मशालवाहक, ग्रीक अल्पाइन स्कीयर Ioannis Antoniou को सौंप दिया गया था।

परंपरागत रूप से, दुनियाभर के विभिन्न एथलीट शहरों और पुरातात्विक स्थलों से गुजरते हुए पूरे ग्रीस में लौ ले जाते हैं। हालांकि, इस साल, रिले को काफी छोटा कर दिया गया है, केवल तीन एथलीट - Antoniou, चीनी शॉर्ट ट्रैक स्पीड स्केटर, Li Jiajun, और ग्रीक क्रॉस-कंट्री स्कीयर Paraskevi Lapdopoulou उन एथलीटों में शामिल होंगे जो लौ को ले कर जाएंगे। साथ ही, 1984 के बाद यह पहला मौका होगा जब पूरे ग्रीस में लौ नहीं ले जाई जाएगी।

महायाजक, Georgiou से लौ प्राप्त करने के बाद, Antoniou ने लौ को Pierre de Coubertin के स्मारक तक पहुंचाया, जिन्हें आधुनिक ओलंपिक के पिता के रूप में भी जाना जाता है। उसके बाद Antoniou ने लौ को Li को सौंप दिया, जो इसे ओलंपिया गांव के बाहरी इलाके में क्लेडियोस नदी के पार एक पुल तक ले गए। लौ को तब एथेंस के एक्रोपोलिस में स्थानांतरित कर दिया गया, जहां यह हैंडओवर समारोह की तैयारी में रातभर रुकेगी, जो 19 अक्टूबर को सुबह 11:50 बजे (स्थानीय समयानुसार) एथेंस के पैनाथेनिक स्टेडियम में होने वाला है। उस समय, लौ को बीजिंग 2022 से प्रतिनिधिमंडल को सौंप दिया जाएगा और यह चीन के लिए उड़ान भेरगी।

बीजिंग 2022 मशाल रिले सुरक्षा लालटेन और मशाल वाहक वर्दी का अनावरण किया गया

जैसा कि आज बीजिंग 2022 ओलंपिक शीतकालीन खेलों के लिए ओलंपिक लौ जलाई गई थी, बीजिंग 2022 के लिए सुरक्षा लालटेन और मशाल वाहक वर्दी का अनावरण प्राचीन ओलंपिया में जनता के लिए भी किया गया था।

एक बयान में, 2022 ओलंपिक और पैरालंपिक शीतकालीन खेलों (BOCOG) के लिए बीजिंग आयोजन समिति ने कहा कि सुरक्षा लालटेन का डिजाइन अवधारणा "चीन के पहले लालटेन" - हान राजवंश से "Chang Xin पैलेस लालटेन" से आया है, जिसे 2,000 साल पहले बनाया गया था। ओलंपिक शीतकालीन खेलों के प्रतियोगिता क्षेत्रों में से एक, हेबेई प्रांत में लालटेन का पता चला था।

Chang Xin, जिसका अर्थ है शाश्वत विश्वास, मानव जाति के प्रकाश और आशा की शाश्वत खोज का प्रतिनिधित्व करता है। साथ ही लाल रिबन लालटेन के शीर्ष को कवर करता है, जिसने "Fei Yang" (उड़ान) मशाल डिजाइन को प्रदर्शित किया, जो ओलंपिक खेलों के जुनून और ऊर्जा का प्रतीक है।

दूसरी ओर, मशाल वाहक वर्दी में कपड़े, एक बुनी हुई टोपी, हेडबैंड, दस्ताने और एथलेटिक जूते शामिल हैं। डिजाइन तत्वों में ओलंपिक रिंग, खेलों के हस्ताक्षर बीजिंग 2022 और बीजिंग 2022 ओलंपिक मशाल रिले का प्रतीक शामिल हैं। वर्दी के रंग (लाल, सफेद और पीले) जुनून, उत्साह और उत्सव की ओलंपिक मशाल रिले विशेषताओं को दर्शाते हैं तो वहीं स्लीव्स, साइड स्ट्राइप्स और जूते के तलवे एक लाल रेखा से जुड़े हुए हैं, जो मशाल के गतिशील लाल रिबन को प्रतिबिंबित करता है और ओलंपिक मशाल रिले के दौरान सभी की उच्च भावना का प्रदर्शन करता है।

आप हैंडओवर समारोह कहां देख सकते हैं

आधिकारिक हैंडओवर समारोह 19 अक्टूबर को होगा और इसे ओलंपिक डॉट कॉम पर लाइव स्ट्रीम किया जाएगा

जैसे-जैसे हम खेलों के करीब पहुंचेंगे, पारंपरिक ओलंपिक मशाल रिले का आयोजन किया जाएगा। 20 अक्टूबर को आगमन समारोह के बाद बीजिंग 2022 आयोजन समिति द्वारा अधिक जानकारी की घोषणा की जाएगी।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स
यहां साइन अप करें यहां साइन अप करें