FIH प्रो लीग 2021-22: भारत ने लीग में दूसरी बार साउथ अफ्रीका को 10-2 से हराया, हरमनप्रीत सिंह ने दागे चार गोल

भारत की ओर से हरमनप्रीत सिंह ने चार गोल किए। वहीं, शिलानंद लाकड़ा ने दो गोल किए। जिसकी बदौलत साउथ अफ्रीका को भारत ने 10-2 के बड़े अंतर से हरा दिया।

लेखक रौशन प्रकाश वर्मा
फोटो क्रेडिट Hockey India

भारतीय मेंस हॉकी टीम ने रविवार को साउथ अफ्रीका के पोटचेफस्ट्रम के नॉर्थ वेस्ट यूनिवर्सिटी में मेजबान टीम को 10-2 शिकस्त देकर FIH प्रो लीग 2021-22 में अपनी तीसरी जीत दर्ज की।

पिछले मैच में फ्रांस से 2-5 से मिली हार के बाद भारतीय टीम ने शानदार वापसी की है। भारत ने साउथ अफ्रीका कोपिछले मुकाबले में भी 10-2 से हराया था।

भारत ने मैच की शुरुआत से ही काफी आक्रामक खेल दिखाया। पहले क्वार्टर के शुरुआत में ही भारत को एक पेनल्टी कॉर्नर का मौका मिला लेकिन हरमनप्रीत सिंह के प्रयास को कामयाबी नहीं मिली और साउथ अफ्रीकी डिफेंडर बेहतरीन तरीके से बॉल को रोक लिया।

मैच में लगातार दोनों ही टीमें गोल की तलाश के लिए संघर्ष कर रही थीं। इस बीच 12वें मिनट में अफ्रीकी टीम को एक सफलता मिली। बेल डेनियल ने कोई गलती नहीं की और पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील कर अपनी टीम को बढ़त दिला दिया। 

पहले क्वार्टर के आखिरी क्षणों में भारत के सुरेंदर कुमार ने एक बेहतरीन फील्ड गोल किया और स्कोर को बराबर कर टीम के दबाव को कम किया।

24वें मिनट में साउथ अफ्रीका को एक और मौका मिला लेकिन भारतीय गोलकीपर श्रीजेश ने बेहतरीन तरीके से गोल को ब्लॉक कर दिया। इसके तुरंत बाद ही भारत ने लगातार दो शानदार फील्ड गोल कर 3-1 की बढ़त बना ली। 

भारत की ओर से दूसरा गोल शिलानंद लाकड़ा ने 27वें मिनट में किया जबकि तीसरा गोल मंदीप सिंह ने 28वें मिनट में किया। दूसरे क्वार्टर के खत्म होने तक भारत ने मैच में अपनी पकड़ को मजबूत कर लिया था।

जैसे-जैसे मैच अंतिम चरण की ओर बढ़ रहा था, भारत की पकड़ और मजबूत होती जा रही थी। 36वें मिनट में भारतीय टीम को एक और पेनल्टी कॉर्नर का मौका मिला। हरमनप्रीत सिंह ने कोई गलती नहीं की और टीम को तीन गोल की बढ़त दिला दी।

साउथ अफ्रीका की टीम के ऊपर अब दबाव बढ़ने लगा था। 4-1 से पिछड़ने के बाद विरोधी टीम लगातार गोल की तलाश में थी। इस बीच 42वें मिनट में साउथ अफ्रीका के स्पूनर को मैच के अधिकारियों से बहस करने को लेकर ग्रीन कार्ड दिया गया। 

वहीं, मैच के 44वें मिनट में भारत के शिलानंद लाकरा को भी रेफरी ने ग्रीन कार्ड दिखाया और वे फील्ड से बाहर हो गए। 

टीम इंडिया के लिए पांचवां गोल सुमित ने 44वें मिनट में किया। सुमित के इस फील्ड गोल के साथ ही भारत ने 5-1 की बढ़त के साथ मैच में एक बेहतरीन पकड़ बना लिया था।

मैच के 48वें मिनट में लाकड़ा ने एक और गोल दाग कर साउथ अफ्रीका के जीत की तमाम उम्मीदों को खत्म कर दिया। अभिषेक से मिले पास को शिलानंद ने गोल में तब्दील करते हुए मैच में अपना दूसरा गोल किया।

52वें मिनट में भारत को एक और पेनल्टी कॉर्नर का मौका मिला। हरमनप्रीत सिंह ने कोई गलती नहीं की और भारत की जीत में एक और गोल का योगदान दिया।

चौथे और आखिरी क्वार्टर के 53वें मिनट में साउथ अफ्रीका ने अंततः पेनल्टी कॉर्नर से एक गोल किया। साउथ अफ्रीका के कॉनर ब्यूचैम्प ने अपनी टीम के लिए दूसरा गोल दागा। गोल के लिए टीम की तलाश खत्म हुई लेकिन ये काफी देर हो चुका था। 

शमशेर सिंह ने मैच में अपना पहला फील्ड गोल करते हुए भारत के लिए आठवां गोल किया।

वहीं, मैच के अंतिम मिनट में हरमनप्रीत सिंह ने एक और पेनल्टी कॉर्नर को गोलपोस्ट तक पहुंचा कर भारतीय टीम की जीत पर अंतिम मुहर लगा दी। उन्होंने इस मैच में गोल की हैट्रिक लगाई।

इसके साथ ही भारतीय हॉकी टीम ने मैच एक बार फिर से साउथ अफ्रीका को उनके ही घर में 10-2 से हरा दिया है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स