विश्व चैंपियनशिप पर ध्यान केंद्रित करने के लिए नेशनल मुक्केबाज़ी चैंपियशिप से बाहर हुईं मैरी कॉम

टोक्यो ओलंपियन पूजा रानी और सिमरनजीत कौर राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने के लिए तैयार हैं। लवलीना बोरगोहेन भी चैंपियनशिप में शामिल नहीं होंगी।

लेखक विवेक कुमार सिंह
फोटो क्रेडिट BFI Media

लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम (Mary Kom) ने गुरुवार से हिसार में शुरू होने वाली महिला राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भाग न लेने का फैसला किया है।

हालांकि, 38 वर्षीय मैरी कॉम दिसंबर में होने वाली विश्व चैंपियनशिप के लिए ट्रेनिंग कर रही हैं। उन्हें आखिरी बार टोक्यो ओलंपिक में देखा गया था, जहां वो प्री-क्वार्टर फाइनल में हार गई थीं।

बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (BFI) ने पहले घोषणा की थी कि तुर्की के इस्तांबुल में होने वाली विश्व चैंपियनशिप के लिए भारतीय टीम में सिर्फ स्वर्ण पदक विजेता ही जगह बनाएंगे।

टोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन (Lovlina Borgohain) एकमात्र ऐसी मुक्केबाज़ थीं जिन्हें विश्व चैंपियनशिप के लिए सीधे प्रवेश दिया गया था। वो भी नेशनल चैंपियशिप में भाग नहीं ले रही हैं।

हालांकि ये अभी भी स्पष्ट नहीं है कि छह बार की विश्व चैंपियन मैरी कॉम को भी विश्व चैंपियनशिप के लिए सीधे प्रवेश मिलेगा या नहीं।

वहीं, दो बार की एशियाई चैंपियन पूजा रानी (Pooja Rani) और सिमरनजीत कौर (Simranjit Kaur) घरेलू मुकाबले में मुक्के बरसाने के लिए तैयार हैं। इन दोनों ने आखिरी बार टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लिया था।

इस बीच, पुरुषों का इवेंट रविवार को सर्बिया के बेलग्रेड में शुरू होने जा रहा है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स