ओलंपिक इतिहास के पन्नों से: शीतकालीन खेलों में सिर्फ एक पदक जीतने वाले देश 

शीतकालीन ओलंपिक खेलों में अपना स्थान पक्का करना पक्का करना ही किसी खिलाड़ी या देश के लिए बहुत बड़ी बात होती है और पदक जीतना सपने जैसा है। पढ़िए आठ ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जिन्होंने अपने देशों के शीतकालीन ओलंपिक खेल इतिहास का एकमात्र पदक जीता है।

लेखक Marta Martin
फोटो क्रेडिट 2010 Getty Images

ओलंपिक शीतकालीन खेल बीजिंग 2022 की शुरुआत 4 फरवरी 2022 के दिन शुरू होंगे और विश्व के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी भाग लेंगे।

बीजिंग की बर्फीली पहाड़ियों पर कुछ ऐसे खिलाड़ी भाग लेते हए नज़र आएंगे जो पहली बार इस प्रतियोगिता में भाग ले रहे हैं और कई ऐसे होंगे जो दोबारा पदक जीतना चाहेंगे।

कुछ ऐसे देशों के खिलाड़ी होंगे जो प्रयत्न करेंगे कि अपने देश के इतिहास का दूसरा ओलंपिक पदक जीतना चाहेंगे।

शीतकालीन ओलंपिक खेलों के इतिहास में तीन ऐसे देश हैं जिन्होंने इतिहास में सिर्फ एक पदक जीता और बीजिंग 2022 उस तालिका में एक और जोड़ने का अवसर उन्हें देगा।

उज़्बेकिस्तान: फ्रीस्टाइल स्कीइंग, 1994 

लिल्लेहैमर में आयोजित हुए 1994 ओलंपिक खेलों में Lina Cheryazova स्वर्ण जीतने की सबसे प्रबल दावेदार थी और एरियल वर्ग में उनका कोई मुकाबला नहीं था क्योंकि वह विश्व चैंपियन थी और पांच लगातार विश्व कप प्रतिस्पर्धाएं जीत चुकी थीं।

खेल बहुत ही अप्रत्याशित चीज़ है और एक अभ्यास सत्र के दौरान Cheryazova एक दुर्घटना में बेहोश हो गयी। उन्होंने ठीक होने के बाद क्वालीफाइंग चरण में भाग लिया और 12वां स्थान पाते हुए फाइनल में पहुंच गयी। 

फाइनल में Cheryazova ने दिखाया कि वह स्वर्ण जीतने की सबसे प्रबल दावेदार क्यों कही जा रही थी और उन्होंने एक करीबी मुकाबले में सबको पछाड़ दिया। उज़्बेकिस्तान के इतिहास में आज तक किसी अन्य खिलाड़ी ने शीतकालीन ओलंपिक पदक नहीं जीता है।

डेनमार्क की Helena Laursen 1998 नागानो शीतकालीन खेलों में भाग लेती हुई। 

डेनमार्क: कर्लिंग, 1998

आपको यह जान कर हैरानी होगी कि स्कैंडेनेविया के देश डेनमार्क ने शीतकालीन ओलंपिक खेलों में आज तक सिर्फ एक ही पदक जीता है।

साल 1948 में डेनमार्क ने पहली बार शीतकालीन ओलंपिक खेलों में भाग लिया था और उन्होंने अपना पहला पदक 50 वर्ष बाद कर्लिंग में जीता। 

Helena Blach Lavrsen, Margit Poertner, Dorthe Holm, Trine Qvist और Jane Bidstrup ने मिल कर डेनमार्क को नागानो 1998 खेलों में रजत पदक दिलाया।

साल 1998 के ओलंपिक खेलों में डेनमार्क कि कर्लिंग टीम प्रतियोगिता में पदक जीतने की प्रबल दावेदार थी और पिछले दो विश्व चैंपियनशिप में पदक भी जीते थे।

डेनमार्क ने 1998 खेलों के बाद से पदक तो नहीं जीता है लेकिन बीजिंग 2022 में कर्लिंग प्रतियोगिता के द्वारा उन्हें एक और अवसर मिलेगा।

Feb 1968 Winter Olympics, Grenoble. A floodlit view of the Bobsleigh run at Chamrousse.

रोमानिया: बॉबस्ले, 1968

साल 1968 के ग्रेनोबल खेलों में Nicolae Neagoe और Ion Panţuru ने टू मैन बॉबस्ले प्रतियोगिता में अपने देश का पहला और एकमात्र पदक (कांस्य) जीता।

इस जोड़ी ने फोर मैन प्रतियोगिता में भी भाग लिया लेकिन पदक से चूक गए और चौथा स्थान प्राप्त किया।

Neagoe ने सिर्फ ग्रेनोबल 1968 खेलों में भाग लिया लेकिन Panţuru ने रोमानिया का प्रतिनिधित्व इन्सब्रुक 1964, साप्पोरो 1972 और इन्सब्रुक 1976 खेलों में भी भाग लिया।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स
यहां साइन अप करें यहां साइन अप करें