कोरिया ओपन बैडमिंटन: क्वार्टर-फाइनल में पहुंची भारत की पीवी सिंधु, लक्ष्य सेन बाहर

पीवी सिंधु ने जापान की आया ओहोरी को सीधे गेम में हराया, जबकि लक्ष्य सेन को इंडोनेशिया के शेसर हिरेन रुस्तवितो के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा।

लेखक रितेश जायसवाल
फोटो क्रेडिट 2021 Getty Images

सुंचियोन में चल रही कोरिया ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप 2022 में गुरुवार को दो बार की ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु ने क्वार्टर-फाइनल में जगह बना ली है, जबकि ऑल-इंग्लैंड ओपन के फाइनलिस्ट लक्ष्य सेन दूसरे राउंड से बाहर हो गए।

बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड रैंकिंग में सातवें स्थान पर रहीं पीवी सिंधु ने वूमेंस सिंगल्स इवेंट के दूसरे दौर में जापान की 26वीं रैंकिंग की आया ओहोरी को 21-15, 21-10 से हराया।

पीवी सिंधु ने मैच की शुरुआत बहुत अच्छी नहीं की, लेकिन ब्रेक टाइम तक 11-9 की बढ़त हासिल करने में कामयाब रहीं। भारतीय बैडमिंटन दिग्गज ने इसके बाद पहले गेम को आसानी से अपने नाम करने के लिए खेल में काफी सुधार किया।

दूसरे गेम में आया ओहोरी ने शुरुआत में पीवी सिंधु के खिलाफ काफी बेहतर प्रदर्शन किया। इसके बाद 10-9 से पीछे चल रही पूर्व विश्व चैंपियन पीवी सिंधु ने सीधे 10 अंक हासिल करते हुए उसे पीछे ढकेल दिया और बीडब्ल्यूएफ सुपर 500 इवेंट के क्वार्टर-फाइनल में पहुंच गईं।

अब क्वार्टर-फाइनल में पीवी सिंधु का सामना दुनिया की 11वें नंबर की बुसानन ओंगबामरुंगफान से होगा, जिन्हें उन्होंने पिछले महीने स्विस ओपन के फाइनल में हराया था।

वहीं, भारत के सर्वोच्च रैंकिंग वाले मेंस सिंगल्स खिलाड़ी लक्ष्य सेन 24वें नंबर के इंडोनेशिया के शेसर हिरेन रुस्तवितो से 22-20, 21-9 से हार गए।

पहले गेम में दोनों शटलरों ने अच्छी शुरुआत की, लक्ष्य सेन ने भी कड़ी टक्कर दी। हालांकि, वर्ल्ड रैंकिंग में नौवें स्थान पर काबिज भारतीय खिलाड़ी गेम प्वाइंट का फायदा उठाने में नाकाम रहे और उनके प्रतिद्वंद्वी ने 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।

दूसरा गेम एकतरफा रहा। 33 मिनट तक चले इस मुकाबले के दूसरे गेम में लक्ष्य सेन ने कई गलतियां की। इस साल यह पहली बार है जब विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता लक्ष्य सेन बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर इवेंट से खाली हाथ लौटेंगे।

जनवरी में इंडिया ओपन का खिताब जीतने के बाद से, लक्ष्य सेन ने जर्मन ओपन और ऑल इंग्लैंड ओपन दोनों में रजत पदक जीता था। इस दौरान उन्होंने ओलंपिक चैंपियन विक्टर एक्सेलसन और दुनिया के नंबर-3 एंडर्स एंटोनसेन के खिलाफ जीत हासिल की थी।

इस बीच, गैर वरीयता प्राप्त मालविका बंसोड़ वूमेंस सिंगल्स के दूसरे राउंड में दुनिया की 10वें नंबर की पोर्नपावी चोचुवोंग से 21-8, 21-14 से हार गईं।

दिन में इससे पहले मिक्स्ड डबल्स में बीएस रेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की भारतीय जोड़ी चीन की ओउ शुआन यी और हुआंग वाई क्यू की जोड़ी से हारकर बाहर हो गई। भारतीय जोड़ी ने कड़ी टक्कर दी लेकिन तीसरे गेम में जोर नहीं लगा सकी और 22-20, 18-21, 21-14 से हार गई।

इसके बाद वर्ल्ड चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता किदांबी श्रीकांत ने दुनिया की 50वें नंबर के शटलर इजराइल के मिशा ज़िल्बरमैन को 21-18, 21-6 से हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। छठी वरीयता प्राप्त भारतीय खिलाड़ी को अंतिम चार में जगह बनाने के लिए दक्षिण कोरिया के 78वें स्थान के सोन वान्हो का सामना करना होगा।

मेंस डबल्स में भारत के सात्विकसाईराज रैंकीरेड्डी और तीसरी वरीयता प्राप्त चिराग शेट्टी की जोड़ी ने सिंगापुर के योंग काई टेरी और लोह कीन हेन की जोड़ी को 21-15, 21-19 से हराकर अगले दौर में प्रवेश किया। जनवरी में इंडिया ओपन जीतने वाले सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी क्वार्टर फाइनल में दक्षिण कोरिया के कांग मिन्ह्युक और सियो सेउंगजे के खिलाफ अपनी दावेदारी पेश करेंगे।

एमआर अर्जुन और ध्रुव कपिला की दूसरी भारतीय मेंस डबल्स जोड़ी पूर्व विश्व चैंपियन मोहम्मद अहसान और इंडोनेशिया के हेंड्रा सेतियावान के खिलाफ सिर्फ आठ मिनट के खेल के बाद ही खेल छोड़ने का फैसला किया। जब भारतीय जोड़ी ने खेल को छोड़ने का फैसला किया तब वह 5-8 से पीछे चल रहे थे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स