मीराबाई चानू ने खेलो इंडिया नेशनल रैंकिंग वूमेंस वेटलिफ्टिंग टूर्नामेंट में जीता स्वर्ण

मीराबाई चानू स्नैच में अपने ही नेशनल रिकॉर्ड को बेहतर करने के अपने दो प्रयासों में असफल रहीं। राष्ट्रमंडल खेलों के लिए क्वालीफाई करने वाली बिंद्यारानी देवी ने भी अपनी श्रेणी में स्वर्ण पदक जीता।

लेखक विवेक कुमार सिंह
फोटो क्रेडिट Getty Images

टोक्यो ओलंपिक की रजत पदक विजेता मीराबाई चानू ने गुरुवार को हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के नगरोटा बगवां में पहले खेलो इंडिया नेशनल रैंकिंग वूमेंस वेटलिफ्टिंग टूर्नामेंट के 49 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता।

मीराबाई चानू ने कुल 191 किग्रा (क्लीन एंड जर्क में 86 किग्रा और स्नैच में 105 किग्रा) उठाकर रजत पदक विजेता ज्ञानेश्वरी यादव को हराया, जिन्होंने 170 किग्रा (78 +92) भार उठाया। पूर्व 45 किग्रा एशियाई चैंपियनशिप की स्वर्ण पदक विजेता झिल्ली डालाबेहड़ा ने 166 किग्रा (75+91) भार उठाकर कांस्य पदक जीता।

86 किग्रा स्नैच लिफ्ट के साथ शुरुआत करने वाली मीराबाई चानू अपने बाद के दो स्नैच प्रयासों में 89 किग्रा उठाने में असफल रहीं। क्लीन एंड जर्क में उन्होंने अपने पहले प्रयास में 105 किग्रा का भार उठाया।

स्नैच में 27 वर्षीय का व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ 88 किग्रा है, जिसे उन्होंने 2020 की नेशनल वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में दर्ज किया था। हालांकि मीराबाई चानू के नाम 49 किग्रा वर्ग के लिए 88 किग्रा का नेशनल रिकॉर्ड दर्ज है, लेकिन आमतौर पर स्नैच को उनकी कमजोर कड़ी माना जाता है।

मीराबाई चानू हाल में संयुक्त राज्य अमेरिका में फिजियोथेरेपिस्ट और स्ट्रेंथ और कंडीशनिंग कोच डॉ आरोन हॉर्शिग की मदद से अपनी स्नैच तकनीक में सुधार करने पर काम कर रही हैं।

नेशनल चैंपियनशिप में स्नैच में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में असफल रहने के बावजूद, मीराबाई चानू को उम्मीद होगी कि अगले महीने बर्मिंघम में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में वो सफल होंगी। भारतीय दिग्गज अपनी श्रेणी में मौजूदा चैंपियन भी हैं।

इस दौरान बर्मिंघम जाने वाली एक अन्य भारतीय वेटलिफ्टर बिंद्यारानी देवी ने खेलो इंडिया इवेंट में 199 किग्रा (84 + 115) की कुल लिफ्ट के साथ 55 किग्रा वर्ग में स्वर्ण जीता। 115 किग्रा के अपने क्लीन एंड जर्क प्रयास से उन्होंने पिछले साल के विश्व चैंपियनशिप में 114 किग्रा के अपने नेशनल रिकॉर्ड को बेहतर किया।

महिलाओं की 45 किग्रा प्रतियोगिता में हर्षदा गरुड़ ने 151 किग्रा (69+82) प्रयास के साथ स्वर्ण पदक जीता। खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2021 के स्वर्ण पदक विजेता गरुड़ ने इस साल की शुरुआत में भारतीय जूनियर विश्व चैंपियन बनकर इतिहास रचा था।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स