कल्याण चौबे बने AIFF के नए अध्यक्ष, बाईचुंग भूटिया को हराया 

कल्याण चौबे AIFF के 85 साल के इतिहास में अध्यक्ष पद संभालने वाले पहले पूर्व खिलाड़ी होंगे।

लेखक सतीश त्रिपाठी
फोटो क्रेडिट All India Football Federation

भारत के पूर्व गोलकीपर कल्याण चौबे को ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (AIFF) के नए अध्यक्ष के रूप में चुना गया है। इसी के साथ AIFF के 85 साल के इतिहास में पहली बार कोई पूर्व खिलाड़ी अध्यक्ष बना है।

45 वर्षीय कल्याण चौबे ने शुक्रवार को हुए चुनाव में भारतीय फुटबॉल के दिग्गज और क्लब टीम के पूर्व साथी बाईचुंग भूटिया को 33-1 के अंतर से हराया।

बता दें कि कल्याण चौबे ने कभी भी भारतीय नेशनल फुटबॉल टीम के लिए एक भी सीनियर मैच नहीं खेला है। लेकिन, साल 1999 से 2006 के बीच उन्होंने कई मौकों पर टीम में जगह बनाई थी।

हालांकि, उन्होंने जूनियर आयु वर्ग में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व किया है।

कल्याण चौबे कोलकाता जायंट्स मोहन बागान और ईस्ट बंगाल दोनों के लिए खेल चुके हैं। इसके साथ-साथ उन्होंने जेसीटी और सलगांवकर टीमों का भी प्रतिनिधित्व किया है।

फुटबॉल से संन्यास लेने के बाद, कल्याण चौबे ने 2015 में राजनीति की दुनिया में कदम रखा और साल 2019 में पश्चिम बंगाल से लोकसभा का चुनाव लड़ा। AIFF अध्यक्ष के लिए उनका नामांकन गुजरात और अरुणाचल प्रदेश की स्टेट बॉडी द्वारा समर्थित था।

कल्याण चौबे ने कहा, "शुरुआत में, हम एक शॉर्ट-टर्म प्लान पर काम करेंगे और फिर इस महीने के अंत में कोलकाता में मिलेंगे। मैं सभी प्रतिष्ठित फुटबॉलरों को उन अलग-अलग चुनौतियों पर काम करने के लिए शामिल करना चाहता हूं, जिनका भारतीय फुटबॉल आज सामना कर रहा है और इस सपनों को साकार करने के लिए संबंधित राज्य को भी शामिल करना चाहूंगा। 100 दिनों के बाद, हम भारतीय फुटबॉल के लिए रोडमैप और अगला कदम उठाने की योजना पर काम करेंगे।"

कल्याण चौबे अब 45 वर्षीय पूर्व अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल की जगह लेंगे, जिन्हें मई में भारत की सर्वोच्च न्यायालय द्वारा उनके पद से हटा दिया गया था।

प्रफुल्ल पटेल 12 साल तक AIFF के अध्यक्ष रहे। उन्होंने तीन बार चार साल का अपना कार्यकाल पूरा किया।

दरअसल, AIFF अध्यक्ष के पद के लिए इसके बाद में कोई नया चुनाव नहीं हुआ, जिससे सुप्रीम कोर्ट को एआईएफएफ के रूटीन कामकाज को संभालने के लिए प्रशासकों की एक समिति (CoA) नियुक्त करने के लिए कदम उठाना पड़ा।

18 मई से कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर (CoA) के "गलत तरीके से तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप के कारण" फीफा द्वारा भारतीय फुटबॉल को प्रतिबंधित कर दिया गया था।

फुटबॉल की अंतरराष्ट्रीय शासी निकाय फीफा ने बाद में ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन से प्रतिबंध हटा लिया और अब भारत में योजना के अनुसार फीफा अंडर-17 महिला विश्व कप आयोजित जाएगा।

AIFF के नए अध्यक्ष के रूप में कल्याण चौबे के सामने पहली बड़ी चुनौती फीफा अंडर -17 महिला विश्व कप की मेजबानी करना होगा, जो 11 से 30 अक्टूबर तक आयोजित किया जाएगा।

वहीं, अध्यक्ष पद के अलावा AIFF के नए उपाध्यक्ष और कोषाध्यक्ष का भी चुनाव हुआ। कर्नाटक फुटबॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष और मौजूदा विधायक एनए हारिस उपाध्यक्ष पद के लिए चुने गए। उन्होंने राजस्थान एफए के मानवेंद्र सिंह को हराया।

कोषाध्यक्ष पद के लिए अरुणाचल प्रदेश के किपा अजय ने आंध्र प्रदेश के गोपालकृष्ण कोसाराजू को हराया। इसके अलावा कार्यकारिणी समिति के सभी 14 सदस्य निर्विरोध निर्वाचित हुए।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स