पेरिस 2024 ओलंपिक क्वालिफिकेशन के लिए 73 किग्रा वर्ग में प्रतिस्पर्धा करेंगे जेरेमी लालरिनुंगा और अचिंता शेउली

अंतरराष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग फेडरेशन (IWF) के मुताबिक ओलंपिक के एक भार वर्ग में दोनों में से कोई एक ही एथलीट प्रतिस्पर्धा कर सकता है।

लेखक Olympics
फोटो क्रेडिट EDDIE KEOGH

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के स्वर्ण पदक विजेता और भारतीय स्टार वेटलिफ्टर जेरेमी लालरिनुंगा और अचिंता शेउली पेरिस ओलंपिक 2024 के लिए 73 किग्रा वर्ग में अपनी चुनौती पेश करेंगे।

हाल ही में संपन्न हुए कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में दोनों वेटलिफ्टरों ने अपने-अपने भार वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल किया था। 19 वर्षीय जेरेमी ने 67 किग्रा वर्ग में कुल 300 किग्रा का भार उठाकर CWG 2022 में भारत के लिए दूसरा गोल्ड जीता था तो वहीं कोलकाता के शेउली ने 73 किग्रा वर्ग में कुल 313 किग्रा का भार उठाकर भारत के लिए तीसरा गोल्ड हासिल किया था।

पेरिस 2024 में 67 किग्रा वर्ग को शामिल नहीं किया गया है। ऐसे में इस भार वर्ग के राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक जेरेमी ने अपने भार वर्ग को 67 किग्रा से बढ़ा कर 73 किग्रा करने का निर्णय लिया है। बता दें कि साल 2024 में होने वाले पेरिस ओलंपिक में कुल 10 अलग-अलग (प्रत्येक जेंडर के लिए पांच) भार वर्ग में एथलीट अपनी दावेदारी पेश करेंगे। पुरुष वेटलिफ्टर 61 किग्रा, 73 किग्रा, 89 किग्रा, 102 किग्रा, +102 किग्रा में जबकि महिला एथलीट 49 किग्रा, 59 किग्रा, 71 किग्रा, 81 किग्रा, +81 किग्रा कैटेगरी में प्रतिस्पर्धा करेंगे।

अंतरराष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग फेडरेशन (IWF) के मुताबिक ओलंपिक के एक भार वर्ग में दोनों में से कोई एक ही एथलीट प्रतिस्पर्धा कर सकता है। IWF की ओलंपिक क्वालिफिकेशन रैंकिंग प्रति देश एक स्थान की अनुमति देती है।

IWF रैंकिंग नवंबर-दिसंबर में कोलंबिया में विश्व चैंपियनशिप 2022 से शुरू होने वाली छह प्रमुख अंतरराष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग प्रतियोगिताओं के परिणामों पर आधारित होगी।

आइजोल के निवासी जेरेमी लालरिनुंगा ने फर्स्टपोस्ट से बात करते हुए कहा कि वह अगले सप्ताह से 73 किग्रा वर्ग में अभ्यास शुरू करेंगे।

साल 2018 के भारत के पहले यूथ ओलंपक चैंपियन जेरेमी ने कहा, "मैं एक सप्ताह के भीतर राष्ट्रीय शिविर में लौटूंगा और 73 किग्रा वर्ग में अपना प्रशिक्षण शुरू करूंगा क्योंकि भार वर्ग में बदलाव करना काफी कठिन होता है। मैं आगामी विश्व चैंपियनशिप में नए वर्ग में प्रतिस्पर्धा करने के इरादे से तैयारी शुरू करूंगा। ऐसे में मेरे पास ज्यादा समय नहीं बचा है।"

राष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग कोच विजय शर्मा ने दोनों एथलीटों को 73 किग्रा वर्ग में ही प्रतिस्पर्धा कराने की बात की है क्योंकि इसका अगला भार वर्ग 89 किग्रा है। इतने कम समय में दोनों में से किसी भी एथलीट के लिए तैयार होना मुश्किल होगा।

इस बाबत विजय शर्मा ने कहा, उन दोनों को एक वर्ग में रखना ही एकमात्र विकल्प है। दोनों बेहतरीन एथलीट हैं और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक-दूसरे के खिलाफ चुनौती पेश करेंगे।

जेरेमी लालरिनुंगा और अचिंता शेउली अगले सप्ताह से एनआईएस, पटियाला के राष्ट्रीय शिविर में अपने अभ्यास की शुरुआत करेंगे।

जेरेमी के लिए 73 किग्रा में प्रतिस्पर्धा करना एक कड़ी चुनौती होगी क्योंकि शेउली के नाम पहले से ही इस भार वर्ग में (316 किग्रा) राष्ट्रीय रिकॉर्ड दर्ज है, जबकि क्लीन एंड जर्क में उन्होंने 173 किग्रा का भार उठाया है। दूसरी ओर जेरेमी का 67 किग्रा में व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ 306 किग्रा है ऐसे में आगे के लिए उनकी राह चुनौतीपूर्ण रहने वाली है।

आप को बता दें टोक्यो ओलंपिक की रजत और कॉमनवेल्थ गेम्स की स्वर्ण पदक विजेता मीराबाई चानू 49 किग्रा वर्ग में ही प्रतिस्पर्धा करेंगी।

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के वेटलिफ्टिंग इवेंट में भारत ने कुल 10 पदक हासिल किए थे।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स