Jeremy Bujakowski और भारत की शीतकालीन ओलंपिक खेलों में शुरुआत

क्या आप जानते हैं कि भारत के लिए शीतकालीन ओलंपिक खेलों में भाग लेने वाले पहले खिलाड़ी मूल से भारतीय नहीं थे? पढ़िए olympics.com पर भारत के लिए शीतकालीन खेलों में भाग लेने वाले पहले खिलाड़ी की यह शानदार कहानी।

हालांकि पहले शीतकालीन ओलंपिक खेलों की मेजबानी 1924 में फ्रांस के शैमॉनिक्स में की गई थी, लेकिन भारत को इसमें पदार्पण करने में 40 साल लग गए।

और आप जानते हैं कि इसके बारे में सबसे दिलचस्प बात क्या है? ऑस्ट्रिया के इंसब्रुक में 1964 के शीतकालीन खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाला पहला एथलीट भारतीय भी नहीं था।

जी हाँ !!

वह पोलिश मूल के थे और उनका नाम Jeremy Bujakowski था और आज, हम उनके बारे में और उनकी ओलंपिक यात्रा के बारे में और जानेंगे।

पोलैंड, भारत और स्कीइंग

1939 में पोलैंड के Druskininkai में Korolec Bujakowski और Stanislaw Bujakowski के घर जन्मे Jeremy सात साल की उम्र में अपने परिवार के साथ भारत आ गए।

उनके माता-पिता, जो घूमने के काफी शौक़ीन थे, उन्होंने 1934-1936 के बीच अपनी मोटरबाइक पर सारी दुनिया की यात्रा की और बाद में जब Stanislaw को भारत में एक तेल कंपनी में नौकरी मिल गई तब वह परिवार दार्जिलिंग में आकर बस गया।

Jeremy दार्जिलिंग में पले-बढ़े और बाद में सेंट जेवियर्स कॉलेज से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए कोलकाता चले गए। इसके बाद वे अमेरिका चले गए जहाँ उन्होंने अपनी उच्च शिक्षा पूरी की।

हालांकि, यह उस समय के दौरान ही था जब वह बोइस, इडाहो में स्कीइंग में शामिल हुए - एक ऐसा खेल जो अक्सर बर्फ पर खेला जाता है। उसी वर्ष 1963 में, उन्हें डेनवर विश्वविद्यालय से छात्रवृत्ति भी मिली और यह तब था जब उन्होंने शीतकालीन ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने का फैसला किया, जो अगले साल 1964 में फ्रांस में होने वाले थे।

ओलंपिक खेलों में प्रतिस्पर्धा का स्वाद

जैसा कि इस लेख में ऊपर बताया गया है, 1964 से पहले, किसी भी भारतीय ने पहले कभी शीतकालीन ओलंपिक खेलों में भाग नहीं लिया था। तो Jeremy के लिए, यह सिर्फ अपने सपने को पूरा करने का ही मौका नहीं था, बल्कि शीतकालीन खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले पहले एथलीट बनकर इतिहास रचने का मौका भी था।

1964 के शीतकालीन ओलंपिक खेलों में, Jeremy Bujakowski ने अल्पाइन स्कीइंग में भाग लिया। हालांकि वह पल देश के लिए ऐतिहासिक था, लेकिन निश्चित तौर पर वह उनके लिए नहीं था।

Jeremy ने न केवल खेलों के दौरान अपनी पीठ तोड़ दी, बल्कि उन्हें कन्कशन भी हुआ और उन्हें ठीक होने में सामान्य से अधिक समय भी लगा; पोलिश मूल के एथलीट की छह महीने की अवधि में चार सर्जरी हुई थी।

लेकिन इससे वह टूटे नहीं, उन्होंने उम्मीद नहीं खोई, बल्कि फ्रांस में अगले शीतकालीन खेलों में भाग लेने का लक्ष्य भी बनाया।

एक दफा और…

अब, चार साल बाद, फ्रांस के ग्रेनोबल में 1968 के शीतकालीन ओलंपिक खेलों में, Jeremy भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए फिर से दिखाई दिए।

और इस बार पिछली बार के मुकाबले उनके रिजल्ट बेहतर रहे।

डाउनहिल इवेंट में, वह 53वें स्थान पर रहे, जबकि जाइंट स्लैलम में, वह 65वें स्थान पर रहे और अंतिम दौर के लिए अर्हता प्राप्त करने में विफल रहे। हालाँकि, वह उन खेलों के दौरान 'शेफ द मिशन' (प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख) भी थे।

बीजिंग 2022 शीतकालीन खेलों में भारत

शीतकालीन ओलंपिक खेलों का आगामी संस्करण 4 से 20 फरवरी 2022 तक बीजिंग, चीन में आयोजित किया जाएगा। अब तक, केवल एक भारतीय-एक अन्य अल्पाइन स्कीयर, Mohammad Arif Khan ने खेलों के लिए क्वालीफाई किया है।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स