ISSF वर्ल्ड कप चांगवोन: अर्जुन बाबुता ने 10 मीटर एयर राइफल में गोल्ड पर लगाया निशाना

युवा भारतीय निशानेबाज ने फाइनल में टोक्यो 2020 के रजत पदक विजेता लुकास कोजेनिस्की को हराकर चांगवोन मीट में भारत का पहला पदक जीता।

लेखक ओलंपिक
फोटो क्रेडिट National Rifle Association of India (NRAI)

भारत के अर्जुन बाबुता ने सोमवार को फाइनल में यूएसए के टोक्यो 2020 के रजत पदक विजेता लुकास कोजेनिस्की को 17-9 से हराकर इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट फेडरेशन (आईएसएसएफ) वर्ल्ड कप स्टेज में अपना पहला स्वर्ण पदक जीता।

23 वर्षीय भारतीय ने चांगवोन इंटरनेशनल शूटिंग रेंज में शुरुआती सात सिंगल-शॉट सीरीज के बाद फाइनल में 10-4 की बढ़त हासिल की।

फाइनल में, प्रत्येक सीरीज के विजेता को दो अंक मिलते हैं, जबकि टाई होने की स्थिति में अंक विभाजित कर दिए जाते हैं और सबसे पहले 16 अंक हासिल करने वाला निशानेबाज मैच जीत जाता है।

लुकास कोजेनिस्की ने देर से वापसी की कोशिश जरूर की, लेकिन अर्जुन बाबुता ने फाइनल के बाद के चरणों में लगातार सबसे अधिक 10 अंक हासिल करना जारी रखा और आईएसएसएफ विश्व कप चांगवोन 2022 में भारत का पहला पदक जीता।

अर्जुन ने आठ पुरुषों के रैंकिंग राउंड में भी 261.1 के स्कोर के साथ लुकास कोजेनिस्की के 260.4 के स्कोर से आगे रहते हुए शीर्ष स्थान हासिल किया।

इजराइल के सर्गेई रिक्टर ने 259.9 के स्कोर के साथ कांस्य पदक जीता, जबकि भारत के पार्थ मखीजा ने चौथे स्थान पर रहने के लिए 258.1 अंक हासिल किए।

अर्जुन बाबुता ने रविवार को सर्गेई रिक्टर के बाद आठ पुरुषों के रैंकिंग राउंड में जगह बनाने के लिए दूसरे स्थान पर क्वालीफाई किया था। पार्थ मखीजा ने 53 निशानेबाजों में पांचवें स्थान पर क्वालीफाई किया था। तीसरे भारतीय निशानेबाज शाहू तुषार माने 30वें स्थान पर रहे थे।

नए राष्ट्रीय विदेशी राइफल कोच थॉमस फार्निक के नेतृत्व में यह भारत का पहला पदक था। ऑस्ट्रियाई कोच को चांगवोन मीट से ठीक पहले इस पद पर नियुक्त किया गया था।

इस बीच, भारतीय निशानेबाजों को महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में निराशा हाथ लगी, क्योंकि कोई भी शूटिंग फाइनल में जगह नहीं बना पाया। व्यक्तिगत एयर पिस्टल और ट्रैप का फाइनल मंगलवार को होगा।

भारत ने चांगवोन वर्ल्ड कप में 32 निशानेबाजों के मजबूत स्क्वाड को मैदान में उतारा है, जिसमें 44 देशों के 430 से अधिक एथलीट प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं। इस वर्ल्ड कप में निशानेबाज 30 स्वर्ण पदक के लिए प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं, जो कि 21 जुलाई को समाप्त होगा।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स