ISSF जूनियर वर्ल्ड कप सुहल: भारतीय निशानेबाजों ने जीते सात पदक; मनु भाकर ने जीता सिल्वर मेडल

सौरभ चौधरी फाइनल में जगह बनाने में नाकाम रहे। पलक ने वूमेंस 10 मीटर एयर पिस्टल के फाइनल में मनु भाकर को मात दी। भारत तीन स्वर्ण और चार रजत के साथ पदक तालिका में शीर्ष पर है।

लेखक ओलंपिक
फोटो क्रेडिट 2018 Getty Images

बुधवार को जर्मनी के सुहल में चल रहे आईएसएसएफ जूनियर शूटिंग वर्ल्ड कप 2022 के पहले दिन तालिका में शीर्ष पर पहुंचने के लिए भारतीय निशानेबाजों ने कुल सात पदक जीते, जिसमें तीन स्वर्ण पदक शामिल हैं।

रुद्राक्ष पाटिल और अभिनव शॉ ने बुधवार की सुबह मेंस 10 मीटर एयर राइफल में 1-2 के साथ अपने प्रदर्शन को समाप्त किया। शाम को पिस्टल निशानेबाजों की बारी थी, जिसमें भारत ने इंडिविजुअल मेंस और वूमेंस दोनों की 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतियोगिताओं में दो स्वर्ण और इतने ही रजत पदक जीते।

रिमिता ने वूमेंस 10 मीटर एयर राइफल में भी रजत पदक जीता। दिन के अंत में भारत की झोली में कुल 12 पदक थे, जिसमें तीन स्वर्ण और चार रजत शामिल थे।

मेंस 10 मीटर एयर पिस्टल के फाइनल में शिव नरवाल ने सरबजोत सिंह को 16-12 से हराकर भारतीय जूनियर पिस्टल के शानदार प्रदर्शन की शुरुआत की।

यह जोड़ी वास्तव में पूरे दिन बेहतर फॉर्म में रही। क्वालिफिकेशन में पहले और तीसरे स्थान पर रही और फिर शीर्ष आठ चरण में 1-2 से खिताबी भिड़ंत की। इस बीच, टोक्यो ओलंपियन सौरभ चौधरी फाइनल में जगह बनाने में नाकाम रहे।

फिर पलक और मनु भाकर की जोड़ी का जूनियर वूमेंस 10 मीटर एयर पिस्टल में दबदबा देखने को मिला। पलक ने क्वालिफिकेशन में शीर्ष स्थान हासिल किया, जबकि मौजूदा जूनियर विश्व चैंपियन मनु भाकर ने हायर इनर 10 के साथ 565 का स्कोर हासिल करते हुए अंतिम और आठवां क्वालीफाइंग स्थान हासिल किया।

मनु भाकर ने 250.6 के साथ शीर्ष आठ चरण में शीर्ष स्थान हासिल किया और पलक ने 248.1 के स्कोर के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। हालांकि, यह पलक का दिन था और वह अपनी बेहतरीन फॉर्म में थी। पूरे आत्मविश्वास के साथ उन्होंने पहला बड़ा आईएसएसएफ फाइनल खेला और 17-9 से फैसला अपने हक में कर लिया।

फ्रांस ने दिन का एकमात्र अन्य स्वर्ण पदक जीता, जिसमें मौजूदा जूनियर विश्व चैंपियन ओसेन मुलर ने वूमेंस 10 मीटर एयर राइफल जूनियर स्पर्धा जीती। वहीं, मेजबान जर्मनी, मोल्दोवा, पोलैंड और उज्बेकिस्तान ने दिन के अन्य पदक जीते।

अब शेड्यूल में कुल आठ और मेडल डे हैं, और गुरुवार को चार और फाइनल होने हैं। मिक्स्ड एयर इवेंट और ट्रैप शूटिंग प्रतियोगिता सभी में भारतीय चुनौती देखने को मिलेगी।

ओलंपिक जाएं। यह सब पायें।

मुफ्त लाइव खेल आयोजन | सीरीज़ के लिए असीमित एक्सेस | ओलंपिक के बेमिसाल समाचार और हाइलाइट्स